लाइव टीवी

नए साल की छुट्टी पर घूमने का है प्लान तो जान लीजिए ट्रेन की ई-टिकट से जुड़ा ये नया नियम, रहेंगे टेंशन फ्री

News18Hindi
Updated: November 10, 2019, 5:26 AM IST
नए साल की छुट्टी पर घूमने का है प्लान तो जान लीजिए ट्रेन की ई-टिकट से जुड़ा ये नया नियम, रहेंगे टेंशन फ्री
ई-टिकट कैंसिलेशन को लेकर टैक्स रिफंड में बदलाव

भारतीय रेल (Indian Railway) ने अब अधिकृत एजेंटों द्वारा बुक किए गए ई-टिकट के नियमों में बदलाव किया है. अब आपके मोबाइल पर कैंसल टिकट के लिए वन टाइम पासवर्ड यानी ओटीपी आएगा. आईआरसीटीसी की ओर से जारी जानकारी के मुताबिक, रिफंड नियमों के मुताबिक यात्रियों को उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी मैसेज मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 10, 2019, 5:26 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप भी क्रिसमस (Christmas) और नए साल की छुट्टियों में कहीं घूमने का प्लान बना रहे हैं और इसके लिए ट्रेन टिकट बुक कराने जा रहे है तो ये खबर आपके लिए बेहद काम की है. रेलवे ने हाल में ई-टिकट से जुड़ा एक नियम बदल दिया है. ट्रेन में अधिकृत एजेंटों के माध्यम से बुक किए जाने वाले ई-टिकट के कैंसिल होने की व्यवस्था में रेलवे ने बदलाव कर दिया है. रेलवे द्वारा इस बदलाव के बाद अब एजेंट द्वारा बुक किए गए ई-टिकट कैंसिल करने के बाद रिफंड OTP आधारित होगा. अगर आम भाषा में कहें तो मान लीजिए टिकट बुकिंग के बाद कोई यात्री अपनी ट्रेन टिकट या पूरी तरह से वेटिंग टिकट रद्द कराना चाहता है तो उसे रिफंड की रकम के साथ एक ओटीपी मैसेज आएगा. इसके बाद टिकट कैंसल कराने वाले यात्री को अपने अधिकृत एजेंट के पास जाकर ओटीपी दिखाना होगा.

OTP के आधार पर ही मिलेगा रिफंड -ई-टिकट कैंसिलेशन के रिफंड को OTP आधारित सिस्टम से जोड़ने के बाद यात्रियों के लिए यह जानना बेहद आसान हो जाएगा कि रिफंड (Ticket Refund) कितना बना है.

इस बदलाव के बाद कैंसिल करने या वेटिंग रहने पर यात्री के मोबाइल पर टिकट की राशि और OTP भेजा जाएगा. इस OTP को ही दिखाकर यात्री अधिकृत एजेंट से रिफंड ले सकेंगे.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के बाद चीन पर महंगाई की मार, इस वजह से 8 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंची

 इन बातों का रखें ध्यान

(1) भारतीय रेल (Indian Railway) के इस पहल के बाद अब एजेंट पर निर्भरता खत्म हो जाएगी. एक रेलवे यात्री के तौर पर आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि किसी अधिकृत एजेंट के माध्यम से ही रेलवे की टिकट बुकिंग कराएं.

(2) साथ में इस बात का भी ध्यान रखें कि यात्रा कर रहे लोगों में से किसी एक यात्री का मोबाइल नंबर एजेंट को दें और ध्यान रखें कि टिकट बुकिंग के समय एजेंट आपका मोबाइल नंबर ही दर्ज करे. इससे टिकट कैंसिल होने की स्थिति में आपको पता चल सकेगा कि रिफंड की राशि कितनी है.
Loading...

(3)  रेलवे की इस पहल का फायदा यात्रियों को सीधे तौर पर मिलेगा. साथ ही पारदर्शी होते सिस्टम पर भी लोगों का भरोसा बढ़ेगा.

ये भी पढ़ें: अगर आपका भी हैं कई बैंकों में खाता तो हो जाएं सावधान! हो सकता है बड़ा नुकसान
हर रोज 20 फीसदी टिकट होता है कैंसिल - IRCTC के अधिकारियों ने इस प्रक्रिया के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा है कि टिकट बुक कराते समय यात्रियों को अपना ही नंबर दर्ज कराना होगा. अधिकारी के मुताबिक, करीब 27 फीसदी टिकट रोजाना अधिकृत एजेंटों के जरिए बुक कराए जाते हैं, इनमें से 20 फीसदी टिकट रोजाना कैंसिल कराया जाता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 10, 2019, 5:26 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...