Home /News /business /

क्‍या रेलवे ने वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए ट्रेन में लोअर बर्थ की सुविधा कर दी है बंद? जानें कैसे मिलेगी उन्‍हें ये सीट

क्‍या रेलवे ने वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए ट्रेन में लोअर बर्थ की सुविधा कर दी है बंद? जानें कैसे मिलेगी उन्‍हें ये सीट

रेलवे ने वरिष्‍ठ नागरिकों को लोअर बर्थ आवंटन के नियम बताए हैं.

रेलवे ने वरिष्‍ठ नागरिकों को लोअर बर्थ आवंटन के नियम बताए हैं.

पुरुष वरिष्‍ठ नागरिकों (Senior Citizens) को 60 वर्ष और महिलाओं को 45 वर्ष से लोअर बर्थ का कोटा सुरक्षित होता है. हालांकि, कई कारणों से वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए भी लोअर बर्थ को प्राथमिकता के आधार पर आरक्षित नहीं किया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :

    नई दिल्‍ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने कोरोना महामारी के दौरान कई सेवाएं बंद कर दी हैं. वहीं, रेलवे ने वरिष्ठ नागरिकों (Senior Citizen) को ट्रेन में दी जाने वाली लोअर बर्थ (Lower Berth) की सुविधा को लेकर स्‍पष्‍टीकरण दिया है. रेलवे के अनुसार वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए लोअर बर्थ का कोटा केवल 60 वर्ष व उससे अधिक आयु के पुरुषों और 45 वर्ष व उससे अधिक की महिलाओं के लिए सुरक्षित होता है. इसमें भी शर्त है कि ये कोटा प्राथमिकता के आधार पर तभी दिया जाएगा, जब वरिष्‍ठ नागरिक अकेले या एक टिकट पर सिर्फ दो वरिष्‍ठ नागरिक यात्रा कर रहे हों.

    कब वरिष्‍ठ नागरिकों को नहीं मिलेगी लोअर बर्थ सुविधा
    रेलवे ने लोअर बर्थ की बुकिंग को लेकर स्पष्‍टीकरण दिया है कोरोना के दौरान यात्रा को सीमित करने के लिए कई सुविधाएं निलंबित की गई हैं. साथ ही बताया कि कि किन हालात में वरिष्‍ठ नागरिकों को प्राथमिकता के आधार पर लोअर बर्थ की सुविधा दी जाती है. इसके अलावा बताया कि इस सुविधा के लिए पात्रता क्या होगी? रेलवे ने बताया कि अगर दो से ज्‍यादा वरिष्‍ठ नागरिक एकसाथ यात्रा कर रहे होंगे तो उन्‍हें प्राथमिकता के आधार पर लोअर बर्थ की सुविधा नहीं दी जाएगी. वहीं, अगर एक वरिष्‍ठ नागरिक बाकी कम उम्र के यात्रियों के साथ सफर कर रहे होंगे तो भी उन्‍हें प्राथमिकता के आधार पर लोअर बर्थ आवंटित नहीं की जाएगी.

    ये भी पढ़ें- RBI की चेतावनी! एक गलती से खाली हो जाएगा बैंक अकाउंट, जानें धोखाधड़ी से बचने के उपाय

    वरिष्‍ठ नागरिकों को कैसे मिलेगी कंफर्म लोअर बर्थ
    रेलवे एक ट्रेन में यात्रा के दौरान वरिष्‍ठ यात्रियों की संख्या के आधार पर सीटों का आवंटन करता है. इसलिए अब भविष्‍य में वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए टिकट की बुकिंग करते समय बताए गए नियमों और सीटों की संख्‍या का ध्यान रखेंगे तो आसानी मनचाही सीट मिल जाएगी.वहीं, ट्रेन में यात्रा के दौरान लोअर बर्थ खाली रहने पर टिकट चेकिंग स्टाफ दिव्यांग, सीनियर सिटीजन या गर्भवती महिला को सीट बदलकर लोअर बर्थ दे सकता है.

    ये भी पढ़ें- आम आदमी को बड़ी राहत! खुदरा महंगाई दर घटकर पहुंची 5.30 फीसदी, सब्जियों के दाम 11% से ज्‍यादा गिरे


    वरिष्‍ठ नागरिकों के रियायती टिकट भी कर दिए गए थे रद्द
    हाल में वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए टिकट बुक करने वाले एक व्यक्ति ने ट्वीट कर रेल मंत्री अश्विनी वैष्‍णव से यह पूछा था टिकट बुकिंग की शर्त क्या है? उन्‍होंने बताया कि तीन टिकट की बुकिंग वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए की गई थी, जिसमें लोअर बर्थ की मांग की गई थी, लेकिन एक भी नहीं मिली. इसके अलावा भारतीय रेलवे ने पिछले साल कोरोनो वायरस को देखते हुए गैर-जरूरी यात्रा को हतोत्साहित करने के लिए वरिष्ठ नागरिकों समेत कई श्रेणियों के यात्रियों के रियायती टिकटों को भी निलंबित कर दिया था.

    रेलवे ने यह भी कहा कि वरिष्ठ नागरिकों के लिए रियायतें वापस ले ली गई हैं, क्योंकि कोविड-19 के फैलने और मृत्यु दर का जोखिम इस श्रेणी के यात्रियों में सबसे ज्‍यादा है. साथ ही कहा था कि रियायती टिकट छात्रों को छोड़कर यात्रियों की चार श्रेणियों में दिव्यांगजन और 11 श्रेणी के मरीजों को जारी किया जाएगा.

    Tags: Indian Railway Catering and Tourism Corporation, Indian Railway news, Irctc, Senior Citizens, Train news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर