रेल मंत्री पीयूष गोयल का बड़ा ऐलान! रेलवे देशभर में कर रहा 3 लाख आइसोलेशन बेड का इंतजाम, 4000 कोच तैयार

भारतीय रेलवे कोरोना वायरस के मरीजों के लिए आइसोलेशन कोच बना रहा है.

भारतीय रेलवे कोरोना वायरस के मरीजों के लिए आइसोलेशन कोच बना रहा है.

भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने हाल में आदेश दिया था कि रेलवे परिसर में बिना मास्क पाए जाने वालों पर 500 रुपये तक का जु्र्माना लगाया जाएगा. वहीं, रेलवे परिसर में थूकने वालों पर भी सख्ती की जाएगी. जुर्माने से जुड़े प्रावधान को इंडियन रेलवेज (पेनाल्टीज फॉर एक्टिविटीज अफेक्टिंग क्लीनलिनेस ऐट रेलवे प्रेमिसेज) रूल्स, 2012 के तहत लिस्टेड किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2021, 10:23 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना संकट का कहर इस कदर बढ़ गया है कि बीमार लोगों को अस्‍पतालों में बेड, ऑक्‍सीजन, दवाइयों तक की कमी पड़ रही है. ऐसे में रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने कहा है कि भारतीय रेलवे राज्‍यों की मांग पर देशभर में 3 लाख से ज्‍यादा आइसोलेशन बेड्स (Isolation Beds) की व्‍यवस्‍था कर सकता है. गोयल ने बताया कि दिल्ली के शकूरबस्ती स्टेशन पर 50 कोविड-19 आइसोलेशन कोच तैयार हैं, जिनमें 800 बेड्स की सुविधा है. इसी तरह आनंद विहार स्टेशन पर 25 कोच कोरोना मरीजों के लिए उपलब्ध होंगे. बता दें कि पिछले साल भी रेलवे (Indian Railways) ने ऐसे बेड्स तैयार करने के लिए 200 कोच का इस्तेमाल किया था.

रेलवे ने 16 जोन में तैयार किए 4002 कंवर्टेड कोच

रेलवे ने पिछले साल आइसोलेशन बेड वाले कोच में से कुछ को पूर्वी उत्‍तर प्रदेश के मऊ, बिहार के भागलपुर, दिल्ली के शकूरबस्ती और आनंद विहार जैसे स्टेशनों पर तैनात किया था. साथ ही कुछ जगहों पर इनका इस्तेमाल भी हुआ था. वहीं, वर्तमान में 16 जोन में इस प्रकार के 4002 कंवर्टेड कोच हैं. रेल मंत्रालय के मुताबिक आइसोलेशन कोच महाराष्ट्र के नंदूरबार में काम करना शुरू कर चुके हैं. इसमें कोरोना संक्रमित मरीजों को रखा जा रहा है. नंदूरबार में आइसोलेशन कोच को लेयर्ड चटाई या दरी से ढका गया है. वहीं, तापमान कम रखने के लिए इसमें वाटर ड्रिप सिस्टम की व्यवस्था की गई है.

ये भी पढ़ें- RBI ने ऐसेट रीकंस्ट्रक्शन कंपनियों के रेगुलेशन की बनाई कमेटी, जानिए क्या करेगी काम
बिना मास्‍क परिसर में दिखे तो जुर्माना लगाएगा रेलवे

रेलवे ने हाल में आदेश दिया था कि रेलवे परिसर में बिना मास्क पाए जाने वालों पर 500 रुपये तक का जु्र्माना लगाया जाएगा. वहीं, रेलवे परिसर में थूकने वालों पर भी सख्ती की जाएगी. जुर्माने से जुड़े प्रावधान को इंडियन रेलवेज (पेनाल्टीज फॉर एक्टिविटीज अफेक्टिंग क्लीनलिनेस ऐट रेलवे प्रेमिसेज) रूल्स, 2012 के तहत लिस्टेड किया जाएगा. इसके तहत रेल परिसर में थूकते हुए पाए जाने पर भी जुर्माने का प्रावधान है. इसके अलावा रेलवे अब ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन (Oxygen Express Trains) चलाने जा रहा है. इन ट्रेनों के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाए जा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज