लाइव टीवी

क्यों 100 रुपए खर्च कर 2 रुपए कमा रहा है रेलवे? मिनिस्टर पीयूष गोयल ने दिया ये जवाब

भाषा
Updated: December 4, 2019, 5:13 PM IST
क्यों 100 रुपए खर्च कर 2 रुपए कमा रहा है रेलवे? मिनिस्टर पीयूष गोयल ने दिया ये जवाब
सातवें वेतन आयोग लागू होने से बढ़ा खर्च

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि सातवें वेतन आयोग (7th pay commission) के लागू होने से बड़ा खर्च आया है. इसके तहत 22,000 करोड़ रुपये से अधिक की राशि खर्च हुई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. रेल मंत्री (Railay Minister) पीयूष गोयल ने भारतीय रेल (Indian Railway) के परिचालन खर्च में बढ़ोतरी से जुड़ी कैग (CAG) रिपोर्ट की पृष्ठभूमि में बुधवार को कहा कि सातवें वेतन आयोग (7th pay commission) की सिफारिशें लागू होने के बाद खर्च में ज्यादा वृद्धि हुई है. रेलमंत्री पीयूष गोयल ने बुधवार को लोकसभा में दिए लिखित जवाब में कहा कि सातवां वेतन आयोग लागू होने के बाद से रेलवे कर्मचारियों के वेतन और पेंशन पर 22 हजार करोड़ रुपये अधिक खर्च कर रहा है, जिससे वित्तीय स्वास्थ्य पर असर पड़ा है. गोयल ने यह भी कहा कि नई लाइनों के निर्माण और सामाजिक दायित्वों के तहत अलाभकारी इलाकों में भी ट्रेन चलाने में भी इसके फंड का बड़ा हिस्सा खर्च हो जाता है.

7वें वेतन आयोग से बढ़ा रेलवे का खर्च- रेलमंत्री ने कहा, 7वें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू होने के बाद से रेलवे कर्मचारियों की सैलरी और पेंशन पर 22 हजार करोड़ रुपये का अतिरिक्त खर्च हो रहा है. ऑपरेटिंग घाटे में इसका योगदान है.' मंत्री ने कहा कि रेलवे साफ-सफाई, उपनगरीय ट्रेन चालने और गेज बदलाव पर भी काफी खर्च कर रहा है. उन्होंने कहा, 'इन सबका खर्च है और इसका रेलवे पर असर पड़ता है.

रेल मंत्री ने कहा, 'जब हम पूरे पिक्चर को देखते हैं, सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू करना और सामाजिक दायित्व के तहत ट्रेनों को चलाने से ऑपरेटिंग रेशियो एक साल में 15 पर्सेंट नीचे चला जाता है.' रेलमंत्री ने कहा, 'समय आ गया है कि हम सामाजिक दायित्वों पर खर्च और लाभकारी सेक्टर्स के लिए बजट को अलग करने की संभावना तलाशें.'

ये भी पढ़ें: अब इस देश में भी चलेगा भारत का ATM कार्ड, मुफ्त में मिलेगा ₹10 लाख का बीमा और ये सुविधाएं

उन्होंने कहा कि जब छठा वेतन आयोग लागू हुआ तो उस वक्त भी परिचालन खर्च में 15 फीसदी की बढ़ोतरी हो गई थी. वेतन आयोग की सिफारिशें लागू होने पर परिचालन खर्च में बढ़ोतरी एक सामान्य चलन है.

100 कमाने के लिए 98 खर्च कर रही है रेलवे- गौरतलब है कि संसद में पेश नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट के अनुसार, रेलवे का परिचालन अनुपात (ऑपरेटिंग रेशियो) 2015-16 में 90.49 प्रतिशत और 2016-17 में 96.5 प्रतिशत रहा था. रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय रेल का परिचालन अनुपात वित्त वर्ष 2017-18 में 98.44 प्रतिशत रहने का मुख्य कारण इसका संचालन खर्च बढ़ना है.

ये भी पढ़ें:2,000 रुपये के नोट को बंद करने पर सरकार ने दिया ये जवाब!
15 दिसंबर से इस बैंक में बदल जाएंगे पैसों के लेनदेन के नियम, जान लें नहीं तो होगा नुकसान
सरकार की नई स्कीम में पैसा लगाकर आप भी कर सकेंगे कमाई, कैबिनेट ने दी मंजूरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 4, 2019, 4:23 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर