आम चुनाव से पहले रेलवे में मेगा भर्ती, 10% सवर्ण आरक्षण भी लागू

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने बंपर भर्ती का ऐलान किया है. रेलमंत्री ने बुधवार को कहा कि रेलवे करीब 4 लाख लोगों को रोजगार देने जा रहा है. रेलवे 2,30,000 लोगों को सीधे रोजगार देगी.

News18Hindi
Updated: January 23, 2019, 9:31 PM IST
आम चुनाव से पहले रेलवे में मेगा भर्ती, 10% सवर्ण आरक्षण भी लागू
प्रतीकात्मक तस्वीर
News18Hindi
Updated: January 23, 2019, 9:31 PM IST
रेलमंत्री पीयूष गोयल ने बंपर भर्ती का ऐलान किया है. रेलमंत्री ने बुधवार को कहा कि रेलवे करीब 4 लाख लोगों को रोजगार देने जा रहा है. रेलवे 2,30,000 लोगों को सीधे रोजगार देगी. भारतीय रेलवे
भर्ती अभियान दो फेज में चलाया जाएगा. पहले फेज में भारतीय रेल 1,31,428 लोगों की भर्ती करेगा. दो फेज में 2,30,000 लोगों की भर्ती की जाएगी उनमें 34,000 अनुसूचित जाति, 17,000 अनुसूचित जनजाति, 62,000 ओबीसी की भर्ती होगी. वहीं, गरीब सवर्णों को आर्थिक पिछड़ेपन के आधार पर अलग से 10 फीसदी आरक्षण भी मिलेगा.

आपको बता दें कि रोजगार के मोर्चे पर विपक्ष लगातार मोदी सरकार पर हमलावर है. पिछले दिनों एक आरटीआई के जवाब में रेलवे ने बताया था कि 2008 से 2018 तक जितने लोग रिटायर हुए उनसे कम ही लोगों को रोजगार दिया गया. इसी वजह से आज रेलवे में करीब 3 लाख पद खाली हैं.

रेलवे का मेगा भर्ती प्लान-

>>
पहले फेज में भारतीय रेल 1,31,428 लोगों की भर्ती करेगा.


>> पहले फेज में ( फरवरी - मार्च 2019) में शुरू किया जाएगा जिसे (अप्रैल- मई 2020) तक चलाया जाएगा.
>> दूसरा फेज (मई से जून 2020) ले लेकर (जुलाई - अगस्त 2021) तक चलाया जाएगा जिसमें 99,000 लोगों को भारतीय रेल सीधे तौर पर रोजगार देगा.
Loading...

>> दो फेज में 2,30,000 लोगों की भर्ती की जाएगी उनमें 34,000 अनूसुचित जाति, 17,000 अनुसूचित जनजाति, 62,000 ओबीसी की भर्ती होगी.
>> पहली बार रेलवे द्वारा 23,000 आर्थिक रुप से पिछड़े सवर्ण लोगों को 10 फीसदी का आरक्षण का प्रावधान किया जाने के बाद नौकरी देगी.

(ये भी पढ़ें-Budget में व्यापारियों को 10 लाख रुपये का मुफ्त बीमा देने की घोषणा करे मोदी सरकार- कैट

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

Updated: February 10, 2019 08:46 PM ISTVIDEO: क्या आप जानते हैं इन ब्रांड्स का सही प्रनन्सीएशन?
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर