Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    पैसेंजर कोचों से रेलवे कर रही है माल ढुलाई, की इतनी कमाई

    सांकेतिक तस्वीर
    सांकेतिक तस्वीर

    कोरोना (Corona) काल में पैसेंजर ट्रेनें सीमित संख्या में चलाई जा रही है. वहीं, भारतीय रेलवे, जनरल सेकेंड क्लास पैसेंजर कोचों (Passenger Coaches) से सामानों का ट्रांसपोर्टेशन भी कर रही है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 25, 2020, 7:16 PM IST
    • Share this:
    नई दिल्ली. कोरोना (Corona) काल में पैसेंजर ट्रेनें सीमित संख्या में चलाई जा रही है. यार्डों में ट्रेनों की रेक खाली पड़ी है. इस संकट को रेलवे (Railway) अवसर में बदलने के लिए अनोखी तरकीब निकाली है. भारतीय रेलवे, जनरल सेकेंड क्लास पैसेंजर कोचों (Passenger Coaches) से सामानों का ट्रांसपोर्टेशन कर रही है. हुबली डिवीजन (Hubballi Division) में वास्को द गामा (Vasco Da Gama) स्टेशन से कलमेश्वर (नागपुर) स्टेशन के लिए सामानों से भरी यात्री कोच को रविवार को रवाना किया गया.

    ये भी पढ़ें- बदल चुके हैं रेलवे के ट्रेन टिकट बुकिंग नियम: सफर से पहले जानना है बेहद जरूरी, नहीं तो...

    रेलवे बोर्ड ने लिया था फैसला
    पार्सल की मांग बढ़ने की स्थितियों को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने यात्री कोच से भी मालढुलाई का फैसला किया था. वास्को-द-गामा से कलमेश्वर के बीच रविवार को 15 ऐसे कोच से सामानों का ट्रांसपोर्टेशन किया जा रहा है. हर एक यात्री कोच में करीब 10 टन समान की माल ढुलाई की जा रही है.
    ये भी पढ़ें- कमाई का मौका: IRCTC के बाद रेलवे की इस कंपनी की आएगा IPO, हो जाएंगे मालमाल!



    रेलवे को 6 लाख रुपये की हुई कमाई 
    पूरी ट्रेन से नेस्ले का कुल 166 टन सामानों की माल ढुलाई की जा रही है. इस कदम से रेलवे को 6 लाख रुपये की कमाई हुई है. वास्को द गामा से यह ट्रेन रविवार सुबह 7 बजे रवाना हो चुकी है जो 26 अक्टूबर को दोपहर 13:40 बजे कलमेश्वर स्टेशन पहुंचेगी. रेलवे का दावा है कि इससे भारतीय रेलवे और उपभोक्ताओं दोनों के लिए विन विन सिचुएशन साबित हो रहा है.

    ये भी पढ़ें- त्‍योहारी सीजन में चलाई जा रही स्‍पेशल ट्रेनों के किराए को लेकर रेलवे ने किया बड़ा ऐलान
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज