होम /न्यूज /व्यवसाय /Indian Railways का छोटे व्यापारियों को तोहफा, अब पूरी रैक नहीं, माल ढुलाई को सिर्फ एक वैगन भी कर सकते हैं बुक

Indian Railways का छोटे व्यापारियों को तोहफा, अब पूरी रैक नहीं, माल ढुलाई को सिर्फ एक वैगन भी कर सकते हैं बुक

रेलवे ने छोटे व मंझौले व्यापार‍ियों को बड़ा फायदा देते हुए पूरी रैक की बजाय माल वहन के ल‍िए एक वैगन बुक करने की सुव‍िधा दी है.

रेलवे ने छोटे व मंझौले व्यापार‍ियों को बड़ा फायदा देते हुए पूरी रैक की बजाय माल वहन के ल‍िए एक वैगन बुक करने की सुव‍िधा दी है.

Indian Railways: नॉर्दन रेलवे की ओर से एक अच्‍छी और नई पहल की शुरूआत की गई है. इसके अंतर्गत रेलवे उन छोटे व मंझौले व्या ...अधिक पढ़ें

    नई द‍िल्‍ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) की ओर से अपने राजस्‍व को बढ़ाने के लगातार नए-नए प्रयास क‍िए जा रहे हैं. कबाड़ से राजस्‍व अर्ज‍ित करने के साथ-साथ माल की ज्‍यादा लोड‍िंग कर उसको सही समय पर पहुंचा कर भी रेलवे अपने राजस्‍व कोष को बढ़ाने का काम कर रहा है. अब नॉर्दन रेलवे की ओर से एक अच्‍छी और नई पहल की शुरूआत की गई है. इसके अंतर्गत रेलवे उन छोटे व मंझौले व्यापार‍ियों को बड़ा फायदा देने की शुरूआत की है जोक‍ि पूरे रैक की बजाय माल वहन के ल‍िए एक वैगन बुक करना चाहते हैं.

    नॉर्दन रेलवे की ओर से शुरू की गई इस पहल पर द‍िल्‍ली मंडल रेल प्रबंधक डिम्पी गर्ग ने कहा है क‍ि द‍िल्ली मंडल की ओर से पहली बार डिब्बाबंद पेयजल की बोतलों (Packaged Drinking Water Bottles) का परिवहन किया गया. विकास एवं व्यापारियों को सुविधाजनक सेवा प्रदान करने की दिशा में एक और प्रयास किया गया.

    ये भी पढ़ें: Indian Railways: रेलयात्री ध्‍यान दें, नॉर्थ ईस्‍ट जाने वाली ये दो दर्जन ट्रेनें की जा रही हैं कैंस‍िल-डायवर्ट

    इसके सकारात्मक परिणाम भी आने लगे है. इसमें एक व्यापारी अपना समान एक वैगन में भी भेज सकता है. इसके परिणामस्वरूप मंडल के गाजियाबाद स्टेशन (Ghaziabad Station) से असम के शालचापरा स्टेशन (पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के लामडिंग मंडल) तक पीसमील वैगन में डिब्बाबंद पानी की बोतलों की लोडिंग कर संचालन किया गया.

    डीआरएम ने बताया क‍ि इस प्रयास से छोटे एवं मझोले व्यापारियों को अत्यधिक लाभ होगा. उनका सामान गंतव्‍य तक जल्दी पहुंचाया जा सकेगा. रेलवे को भी राजस्व लाभ होगा. व्‍यापारियों का सामान समय पर पहुंचना सुनिश्चित करने हेतु मंडल कंट्रोल द्वारा ट्रैक करने की भी व्यवस्था की गयी है. पहली ऐसी लोडिंग सफलतापूर्वक एक बी.सी.एन. वैगन (BCN wagon) में की गई.

    Tags: Business news in hindi, Goods trains, Indian Railways, Irctc, Railway News

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें