• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Indian Railways: 40 मंजिला ट्वीन टॉवर, होटल, ऑफिस, रिटेल शॉप... ऐसा वर्ल्‍ड क्‍लास होगा नई दिल्‍ली रेलवे स्‍टेशन

Indian Railways: 40 मंजिला ट्वीन टॉवर, होटल, ऑफिस, रिटेल शॉप... ऐसा वर्ल्‍ड क्‍लास होगा नई दिल्‍ली रेलवे स्‍टेशन

नई द‍िल्‍ली रेलवे स्‍टेशन का वर्ल्‍ड क्‍लास फैस‍िल‍िटी के साथ शानदार तरीके से रीडेवल्‍प करने की योजना पर काम क‍िया जाएगा. (File photo)

नई द‍िल्‍ली रेलवे स्‍टेशन का वर्ल्‍ड क्‍लास फैस‍िल‍िटी के साथ शानदार तरीके से रीडेवल्‍प करने की योजना पर काम क‍िया जाएगा. (File photo)

Indian Railways: ट्रांजिट ऑर‍िएंटेड डेवलपमेंट पॉल‍िसी के तहत नई द‍िल्‍ली रेलवे स्‍टेशन को रीडेवलप क‍िया जाएगा. करीब 2.20 लाख वर्ग मीटर एर‍िया में यात्रियों की सुव‍िधाओं से जुड़े वर्क को वर्ल्‍ड क्‍लास आधार पर पूरा क‍िया जाएगा. यात्रियों की सुविधा के लिए अलग-अलग पिक अप और ड्रॉप अप जोन बनाए जाएंगे. स्‍टेशन पर 40 मंजिला मल्‍टीपर्पजेज ट्वीन टॉवर भी बनाया जाएगा जिसमें होटल, ऑफिस, रिटेल शॉप सभी सु‍व‍िधा होंगी. अत्‍याधुन‍िक मल्टी लेवल कार पार्किंग भी बनाई जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई द‍िल्‍ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) की ओर से प्रमुख रेलवे स्‍टेशनों का पुनर्विकास (Redevelopment of Railway Stations) कर उनको वर्ल्‍ड क्‍लास सुव‍िधा से लैस करने का काम क‍िया जा रहा है. पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप परियोजना (PPP Mode) के तहत निजी क्षेत्र की भागीदारी के साथ देशभर के 123 रेलवे स्‍टेशनों को स्टेशन पुनर्विकास परियोजना के अंतर्गत नया और शानदार लुक द‍िए जाने की योजना है.

    गुजरात के गांधीनगर कैप‍िटल रेलवे स्टेशन (Gandhi Nagar Railway Station) को एयरपोर्ट (Airport) की तर्ज पर तैयार करने के बाद अब देश के सबसे बड़े और नंबर टू (सबसे व्‍यस्‍त श्रेणी में) माने जाने वाले नई द‍िल्‍ली रेलवे स्‍टेशन (New Delhi Railway Station) का वर्ल्‍ड क्‍लास फैस‍िल‍िटी के साथ शानदार तरीके से रीडेवलप करने की योजना पर काम क‍िया जाएगा. द‍िल्‍ली सरकार भी नई द‍िल्‍ली रेलवे स्‍टेशन को शानदार बनाए जाने में हरसंभव मदद करेगी.

    इस बीच देखा जाए तो नई दिल्ली रेलवे स्टेशन (New Delhi Railway Station) पर हर रोज करीब 4.5 लाख लोगों का आवागमन होता है. इसके चलते अब रेलवे की ओर से नई द‍िल्‍ली स्‍टेशन को आधुनिक सुविधाओं से लैस करने की योजना तैयार की गई है. इस योजना को लेकर तमाम एजेंस‍ियों और व‍िभागों की ओर से सभी जरूरी अनापत्‍त‍ि प्रमाण-पत्र भी म‍िल चुके हैं. इन एजेंसी व व‍िभागों में एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया, एनडीएमसी, पीडब्ल्यूडी, बीएसईएस, वन विभाग समेत अन्‍य संबंधित निकाय भी प्रमुख रूप से शाम‍िल हैं.

    ये भी पढ़ें: Indian Railways: रेल यात्री ध्‍यान दें, एक अक्‍टूबर से जनशताब्दी, सुपरफास्ट, एक्सप्रेस ट्रेनों का बदल रहा है टाइम टेबल, देखें पूरी ल‍िस्‍ट

    कुल 2.20 लाख वर्ग मीटर एर‍िया में स्‍थ‍ित है नई द‍िल्‍ली रेलवे स्‍टेशन
    जानकारी के मुताबिक नई द‍िल्‍ली रेलवे स्‍टेशन (New Delhi Railway Station) का पूरा क्षेत्र करीब 2.20 लाख वर्ग मीटर में स्‍थ‍ित है. इसल‍िए इस स्‍टेशन को और ज्‍यादा खूबसूरत, अत्‍याधुन‍िक सुव‍िधायुक्‍त बनाने के ल‍िए कई बड़ी योजनाओं पर काम करने की जरूरत होगी. इसको लेकर अब मीट‍िंग्‍स के दौर भी तेजी के साथ शुरू हो गये हैं. द‍िल्‍ली के उप-राज्‍यपाल (Lt Governor) अन‍िल बैजल (Anil Baijal) की अध्‍यक्षता में नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के री-डेवलपमेंट प्रोजेक्ट का र‍िव्‍यू भी क‍िया गया है और प्रोग्रेस र‍िपोर्ट भी ली गई.

    मीट‍िंग में द‍िल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के अलावा नीत‍ि आयोग (NITI Aayog) के सीईओ, द‍िल्‍ली के चीफ सेक्रेटरी व‍िजय कुमार देव, रेल भूमि विकास प्राधिकरण (Rail Land Development Authority) के वाइस चेयरमैन, और प्रोजेक्‍ट्स से जुड़े अन्‍य तमाम अध‍िकारी भी प्रमुख रूप से उपस्थ‍ित रहे.

    नई दिल्ली रेलवे स्टेशन का री-डिवेलपमेंट नेशनल ट्रांजिट ऑर‍िएंटेड डेवल्‍पमेंट (National Transit Oriented Development) पॉल‍िसी के तहत क‍िया जाएगा. इस दौरान रेल भूमि विकास प्राधिकरण (RLDA) की ओर से एक प्रेजेंटेशन भी पेश क‍िया गया. जोनल प्‍लान के र‍िव्‍यू के दौरान आरएलडीए की ओर से यह भी जानकारी दी गई है क‍ि अभी 9 एनओसी में से 7 प्राप्‍त हो चुकी हैं, बाकी दो को लेना बाकी है. बताया गया क‍ि पेड़ लगाने और बाकी की दो एनओसी भी जल्‍द ही म‍िलने की उम्‍मीदी है.

    ये भी पढ़ें: Indian Railways: यात्र‍ियों के ल‍िए अच्‍छी खबर, देहरादून-सहारनपुर के बीच हर रोज चलेगी अनर‍िजर्व स्‍पेशल ट्रेन

    द‍िल्‍ली कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स-2010 आयोजन से पहले भी वर्ल्‍ड क्‍लास लुक देने पर हुआ था काम
    बताते चलें क‍ि नई द‍िल्‍ली रेलवे स्‍टेशन को वर्ष 2010 में द‍िल्‍ली कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स (Delhi Common Wealth Games) के आयोजन से पहले भी वर्ल्‍ड क्‍लास लुक देने पर काम क‍िया गया था. केंद्र की कांग्रेस शास‍ित यूपीए सरकार (UPA Government) और द‍िल्‍ली की शीला सरकार (Sheila Government) ने भी नई द‍िल्‍ली स्‍टेशन को बेहतर सुव‍िधाओं और र‍ी-डेवलपमेंट योजना के तहत नया रूप देने का काम क‍िया था. लेक‍िन अब इस स्‍टेशन को और ज्‍यादा अत्‍याधु‍न‍िक सुव‍िधाओं से लैस करने की जरूरत महसूस की जा रही है जि‍ससे क‍ि आने वाले समय में यह दुन‍िया के दूसरे बड़े रेलवे स्‍टेशनों की श्रेणी में शुमार हो सकेगा.

    रेलवे स्‍टेशन पर बनाया जाएगा 40 मंज‍िला ट्वीन टॉवर, तैयार होगी मल्‍टी लेवल कार पार्किंग
    टीओडी पॉल‍िसी के तहत रीडेवलप क‍िए जाने वाले नई द‍िल्‍ली रेलवे स्‍टेशन के करीब 2.20 लाख वर्ग मीटर एर‍िया में यात्रियों की सुव‍िधाओं से जुड़े वर्क का खास खयाल रखा जाएगा. यात्रियों की सुविधा के लिए अलग-अलग पिक अप और ड्रॉप अप जोन बनाए जाएंगे. बताया जाता है कि स्‍टेशन पर 40 मंजिला ट्वीन टॉवर भी बनाया जाएगा जिसमें होटल, ऑफिस, रिटेल शॉप सभी सु‍व‍िधा होंगी. साथ ही मल्टी लेवल कार पार्किंग (Multi Level car Parking) भी बनाई जाएगी.

    इसके अलावा रेलवे स्‍टेशन पर मल्‍टी स्‍टोरी कार पार्क‍िंग के साथ-साथ मल्‍टी मॉडल इंटीग्रेटेशन, रोड नेटवर्क और पीएसपी डेवसप की जाएगी. रेलवे ऑफ‍िस 45 हजार वर्ग मीटर में होगा. इसके सड़क ड‍िजाइन में कई सुधार क‍िए गए हैं ज‍िसमें पैदल यात्र‍ियों का आवागमन, स्‍ट्रीट फर्नीचर, ई-व्‍हीकल और वुमेन सेफ्टी प्रमुख रूप से शाम‍िल है.

    इस र‍ी-डेवलपमेंट प्‍लान के तहत जो सुव‍िधाएं दी जाएंगी उसमें सार्वजन‍िक पर‍िवहन को बढ़ावा देने के ल‍िए 91बस बे, ग्राउंड फ्लोर पर आईपीटी, प्राइवेट वाहनों, बसें और ई-र‍िक्‍शा आद‍ि के ल‍िए भी 1,500 ईसीएस पार्क‍िंग की व्‍यवस्‍था होगी.

    ये भी पढ़ें: Indian Railways: फेस्‍ट‍िवल सीजन में घर आने जाने वाले यात्र‍ियों को रेलवे की बड़ी सौगात, लाखों लोगों को म‍िलेगा फायदा

    इतना ही नहीं स्‍कॉईवॉक के जर‍िए मेट्रो पैसेंजर्स के ल‍िए कनेक्‍ट‍िविटी, पर्याप्‍त चौड़ाई के साथ 13 क‍िमी एनएमटी और सड़क नेटवर्क बढ़ाने का प्रस्‍ताव भी प्रोजेक्‍ट में शाम‍िल है. वहीं अजमेरी गेट और पहाड़गंज में एमएमटीएच दोनों तरफ 1-1 प्रस्‍तावित है. यात्री सुव‍िधाओं के साथ-साथ सार्वजन‍िक सामुदायिक स्‍थान और आधुन‍िक कमर्शियल क्षेत्रों के ल‍िए सुगम और भीड़ मुक्‍त कनेक्‍टिव‍िटी का न‍िर्माण भी क‍िया जाएगा. वहीं, इस स्‍टेशन के रीडेवलपमेंट प्‍लान के पूरा होने और सभी सुव‍िधाओं से लैस होने पर इसका पूरा लुक एक तरह से गांधी नगर कैप‍िटल रेलवे स्‍टेशन (Gandhinagar Capital railway station) की तरह ही आएगा.

    पूर्व मध्‍य रेलवे भी इन स्‍टेशनों को रीडेवलप कर रही
    बताते चलें क‍ि गुजरात के गांधीनगर रेलवे स्टेशन (Gandhi Nagar Railway Station) के पुनर्व‍िकास के बाद पूर्व मध्य रेलवे के गया, राजेंद्र नगर टर्मिनल, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय, सिंगरौली के अलावा सीतामढ़ी, दरभंगा, बरौनी जंक्‍शन, धनबाद (झारखंड) और पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन (उत्‍तर प्रदेश) को भी रीडेवलपमेंट प्‍लान में शामिल किया जा चुका है. पहले शाम‍िल क‍िए गए कई रेलवे स्‍टेशनों पर रीडेवलपमेंट का काम भी शुरू क‍िया जा चुका है. यह पांचों स्‍टेशन सीतामढ़ी, दरभंगा, बरौनी जंक्‍शन, धनबाद और पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की ओर से जुलाई माह में गांधी नगर कैप‍िटल रेलवे स्‍टेशन का उद्घाटन करने के बाद पूर्व मध्‍य रेलवे ने रीडेवलपमेंट ल‍िस्‍ट में शाम‍िल क‍िए हैं.

    ये भी पढ़ें: चार और रामायण सर्किट ट्रेन चलाएगी IRCTC, अयोध्या से रामेश्वर तक होंगे दर्शन, जानिए किराया

    रेलवे स्‍टेशन को ग्रीन ब‍िल्डिंग का रूप द‍िया जाएगा
    कई रेलवे स्‍टेशनों का पुनर्व‍िकास करने और उनको एयरपोर्ट जैसी वर्ल्‍ड क्‍लास सुव‍िधा देने के पीछे धार्मिक और पर्यटन दोनों ही दृष्टिकोण माने जा रहे हैं. स्टेशन को विश्वस्तरीय और अत्याधुनिक सुविधा से सुसज्जित करते हुए स्टेशन को ग्रीन बिल्डिंग का रूप दिया जाएगा, जहां वेंटिलेशन आदि की पर्याप्त व्यवस्था होगी. स्टेशन का विकास सौर ऊर्जा, ऊर्जा दक्षता उपकरण और ‘हरित इमारत’ मानकों के अनुसार किया जाएगा. रेल यात्रियों के स्टेशन पर आगमन और प्रस्थान के लिए प्रवेश और निकास द्वार ऐसे होंगे, जिससे यात्रियों को भीड़-भाड़ का सामना नहीं करना पड़े.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज