Home /News /business /

Indian Railways: रेलवे के इस जोन में 75 फीसदी रूट पर चल रही ब‍िजली से ट्रेनें, हास‍िल क‍िया प्रथम पुरस्कार

Indian Railways: रेलवे के इस जोन में 75 फीसदी रूट पर चल रही ब‍िजली से ट्रेनें, हास‍िल क‍िया प्रथम पुरस्कार

पूर्वोत्‍तर रेलवे को सभी जोनों के मुकाबले नेशनल एनर्जी कंजर्वेशन अवार्ड-2021 का प्रथम पुरस्कार भी प्रदान क‍िया गया है.

पूर्वोत्‍तर रेलवे को सभी जोनों के मुकाबले नेशनल एनर्जी कंजर्वेशन अवार्ड-2021 का प्रथम पुरस्कार भी प्रदान क‍िया गया है.

Indian Railways: पूर्वोत्तर रेलवे पर अभी तक 75 प्रतिशत से अधिक रूट किमी. का विद्युतीकरण हो चुका है, जिसके फलस्वरूप गाड़ियों के डीजल इंजनों के स्थान पर विद्युत इंजनों से चलाये जाने से डीजल की बचत हुई. बताते चलें क‍ि पूर्वोत्तर रेलवे पर वर्ष 2018-19 में 433.21 रूट किमी., 2019-20 में 543.41 रूट किमी. तथा 2020-21 में 561.36 रूट किमी. रेल खण्डों का विद्युतीकरण पूर्ण किया गया.

अधिक पढ़ें ...

    नई द‍िल्‍ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) की ओर से ट्रेनों का संचालन ज्‍यादा से ज्‍यादा ब‍िजली से करने का काम क‍िया जा रहा है. ज‍िन रूटों पर अभी ट्रेनों (Trains) को संचालन डीजल फ्यूल से क‍िया जा रहा है. उनको जल्‍द से जल्‍द इलेक्‍ट्र‍िक स‍िस्‍टम से जोड़ने का प्रयास क‍िया जा रहा है.

    इसके ल‍िए रेलवे ट्रेकों पर बड़े पैमाने पर इलेक्‍ट्र‍िफ‍िकेशन वर्क (Electrification Work) क‍िया जा रहा है. इस मामले में भारतीय रेलवे के पूर्वोत्‍तर रेलवे (North Eastern Railway) ने एक र‍िकार्ड भी बनाया है. इसके वजह से पूर्वोत्‍तर रेलवे (NER) को सभी जोनों के मुकाबले नेशनल एनर्जी कंजर्वेशन अवार्ड-2021 का प्रथम पुरस्कार भी प्रदान क‍िया गया है.

    पूर्वोत्‍तर रेलवे के महाप्रबन्धक विनय कुमार त्रिपाठी का कहना है क‍ि  पूर्वोत्तर रेलवे (NER)  ने ऊर्जा संरक्षण (Energy Conservation) के क्षेत्र में नया आयाम स्थापित क‍िया है. इसके चलते परिवहन क्षेत्र के अन्तर्गत सभी क्षेत्रीय रेलों में एनईआर को नेशनल एनर्जी कंजर्वेशन अवार्ड-2021 का प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ है.

    ये भी पढ़ें: Indian Railways: रेलवे के इस जोन में बेट‍िकट यात्र‍ियों की भरमार, जुर्माना वसूलने का टूटा दस साल का र‍िकार्ड  

    यह पुरस्कार पूर्वोत्तर रेलवे को बड़े पैमाने पर रेल खण्डों के विद्युतीकरण के फलस्वरूप गाड़ी संचलन में डीजल इंजन के स्थान पर विद्युत इंजन प्रयुक्त करने, रेलवे आवासों, स्टेशनों एवं कार्यालय भवनों में शत-प्रतिशत एल.ई.डी. लाइट का प्रावधान, स्टेशन भवनों एवं कार्यालयों में सोलर पैनल स्थापित किये जाने के फलस्वरूप ऊर्जा बचत के लिए प्रदान किया गया है.

    रेलवे ने इलेक्‍ट्र‍िफ‍िकेशन करने से ट्रेन संचालन में बचाए 626 करोड़ रुपए
    प्रमुख मुख्य विद्युत इंजीनियर ए.के.शुक्ला की देख-रेख में पूर्वोत्तर रेलवे पर बड़े पैमाने पर रेल खण्डों के विद्युतीकरण के फलस्वरूप गाड़ी संचलन में डीजल इंजन के स्थान पर विद्युत इंजन प्रयुक्त करने एवं 34 गाड़ियों में हेड आन जेनरेशन (एच.ओ.जी.) के प्रावधान, गोरखपुर स्टेशन के वाश‍िंग पिट पर पावर कार के टेस्टिंग हेतु 758 वोल्ट विद्युत आपूर्ति तथा प्रतिदिन एच.एस.डी. खपत की मानिटरिंग के फलस्वरूप वर्ष 2020-21 में 96,365 किलोलीटर एच.एस.डी. खपत में कमी लाई गई.

    इससे 626 करोड़ रुपए के रेल राजस्व की बचत हुई. 54 स्टेशनों पर सोलर प्लांट लगाने एवं वैकल्पिक व्यवस्था के तहत इससे पी.आर.एस. एवं यू.टी.एस. को जोड़े जाने, 3-फेज लोकोमोटिव के रिजेनेरेटिव ब्रेकिंग का प्रयोग करने के सम्बन्ध में लोको पायलट की नियमित काउंसल‍िंग से ऊर्जा की बचत बड़े पैमाने पर की जा रही है.

    58 लाख यूनिट विद्युत खपत में कमी से बचाए 4.5 करोड़
    कुल 20,736 रेलवे आवासों, 393 कार्यालय भवनों एवं 389 स्टेशन भवनों में शत-प्रतिशत एल.ई.डी. लाइट प्रयुक्त किये जाने के कारण वर्ष 2020-21 में 58 लाख यूनिट विद्युत खपत में कमी के फलस्वरूप 4.5 करोड़ रुपए के रेल राजस्व की बचत हुई. इसी प्रकार वर्ष 2020-21 में 1541.54 के.डब्लू.पी. क्षमता के रूफटाप सोलर पैनल स्थापित करने एवं उन्हें चार्ज किये जाने के फलस्वरूप 34.62 लाख यूनिट सोलर एनर्जी की बचत हुई, जिससे 0 1.18 करोड रुपए का रेल राजस्व बचाया जा सका है.

    पूर्वोत्तर रेलवे पर अभी तक 75 प्रतिशत से अधिक रूट किमी. का विद्युतीकरण हो चुका है, जिसके फलस्वरूप गाड़ियों के डीजल इंजनों के स्थान पर विद्युत इंजनों से चलाये जाने से डीजल की बचत हुई. बताते चलें क‍ि पूर्वोत्तर रेलवे पर वर्ष 2018-19 में 433.21 रूट किमी., 2019-20 में 543.41 रूट किमी. तथा 2020-21 में 561.36 रूट किमी. रेल खण्डों का विद्युतीकरण पूर्ण किया गया.

    Tags: Indian Railways, Railway News, Trains

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर