होम /न्यूज /व्यवसाय /तिरुपति रेलवे स्‍टेशन 300 करोड़ की लागत बनेगा वर्ल्‍ड क्‍लास, ये सुविधाएं मिलेंगी

तिरुपति रेलवे स्‍टेशन 300 करोड़ की लागत बनेगा वर्ल्‍ड क्‍लास, ये सुविधाएं मिलेंगी

रेलवे मंत्रालय के अनुसार स्‍टेशन का काम समय पर पूरा होगा.

रेलवे मंत्रालय के अनुसार स्‍टेशन का काम समय पर पूरा होगा.

Indian Railways Tirupati railway station -रेलवे मंत्रालय के अनुसार तिरुपति रेलवे स्‍टेशन को विकसित करने में 300 करोड़ र ...अधिक पढ़ें

नई दिल्‍ली. भारतीय रेलवे यात्रियों की सुविधाओं को देखते हुए तिरुपति रेलवे स्‍टेशन को वर्ल्‍ड क्‍लास स्‍तर का विकसित कर रहा है. पूरी तरह से स्‍टेशन विकसित होने के बाद कई तरह की नई सुविधाएं यात्रियों को मिलेंगी. रेलवे मंत्रालय देश के 40 से अधिक स्‍टेशनों को विकसित कर रहा है. इनमें से कई स्‍टेशनों पर काम शुरू हो गया है तो कई में टेंडर प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. सभी स्‍टेशनों को रेलवे मंत्रालय स्‍वयं ही विकसित करा रहा है.

रेलवे मंत्रालय के अनुसार तिरुपति रेलवे स्‍टेशन को विकसित करने में 300 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है. फाउंडेशन में कंक्रीट का काम 80 फीसदी पूरा हो गया है. मंत्रालय के अनुसार सर्वे और जिओलाजिकल जांच का भी पूरा हो चुका है. इसके अलावा स्‍टेशन के दक्षिण ओर से लाइनों को स्‍थानांतरित करने और बेसमेंट में खुदाई का काम पूरा हो चुका है. बेसमेंट में पार्किंग और अन्‍य सुविधाएं विकसित होंगी. रेलवे मंत्रालय समय पर स्‍टेशन को विकसित करने का पूरा कर लेगी, जिससे यहां आने वाले श्रद्धालु को बेहतर सुविधाएं दी जा सकें.

भीड़भाड़ वाले स्‍टेशन विकसित किए जा रहे हैं

देश में तमाम स्‍टेशन विकसित हो रहे क्षेत्रों में बनाए गए हैं. अब इलाका पूरी तरह से विकसित हो चुके हैं, इसलिए यात्रियों की संख्‍या स्‍टेशनों पर खासी बढ़ गयी है. इनमें से कई स्‍टेशनों में एंट्री एक ओर है, कई से बस स्‍टैंड या ट्रांसपोर्ट के अन्‍य साधन दूर हैं. जिससे यात्रियों को ट्रेन पकड़ने में परेशानी हो रही है. यात्रियों को सुविधा देने के लिए रेलवे भीड़भाड़ वाले स्‍टेशनों को विकसित कर रहा है.

विकसित होने वाले ये हैं प्रमुख स्‍टेशन

अयोध्‍या, बिजवासन, सफदरजंग, गोमतीनगर, तिरुपति, गया, उधना, सोमनाथ, एरनाकुलम, पुरी, न्‍यू जलपाईगुड़ी, मुजफ्फरपुर, लखनऊ( चारबाग), डकानिया तालव, कोटा, जम्‍मू तवी, जालंधर कैंट, नेल्‍लौर, साबरमती, फरीदाबाद, जयपुर, भुवनेश्‍वर, कोल्‍लम, उदयपुर सिटी, जैसलमेर, रांची, विशाखापट्टनम, पुड्डूचेरी, कटपडी, रामेश्‍वरम, मदुरै, सूरत, जोधपुर, चेन्‍नई इगमोर, न्‍यू भुज.

इस तरह स्‍टेशनों को होगा विकास

. स्‍टेशनों के दोनों ओर से एंट्री होगी, यानी स्‍टेशन शहर के दोनों हिस्‍सों को जोड़ेगा.
. फूड कोर्ट,वेटिंग लाउंज के अलावा बच्चों के खेलने के लिए स्थान, शहर के स्‍थानीय उत्‍पाद को प्रमोट करने के लिए स्थान तय होगा.
. शहर के बीच स्थित इन स्‍टेशनों में नागरिकों के लिए एक सिटी सेंटर जैसा स्थान बनेगा. . ट्रैफिक की व्यवस्था मास्‍टर प्‍लान में की गयी है.
. ट्रांसपोर्ट के सभी मोड को स्‍टेशन से कनेक्‍ट किया जाएगा. आटो, टैक्‍सी और बस स्‍टैंड इंटर कनेक्‍ट होंगे.
. पूरी इमारत ग्रीन बिल्डिंग तकनीक से बनेगी.
दिव्‍यांगों की सुविधाओं को विशेष ख्‍याल रखा जाएगा.

Tags: Indian railway, Indian Railway news, Indian Railways, Tirupati

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें