होम /न्यूज /व्यवसाय /भविष्‍य में वंदेभारत एक्‍सप्रेस की स्‍पीड बढ़ाने के लिए तकनीक में किया जाएगा बदलाव, जानें तकनीक

भविष्‍य में वंदेभारत एक्‍सप्रेस की स्‍पीड बढ़ाने के लिए तकनीक में किया जाएगा बदलाव, जानें तकनीक

मौजूदा समय पांच वंदेभारत एक्‍सप्रेस का सफल संचालन  हो रहा है.

मौजूदा समय पांच वंदेभारत एक्‍सप्रेस का सफल संचालन हो रहा है.

Indian Railways: भारतीय रेलवे वंदेभारत एक्‍सप्रेस की स्‍पीड बढ़ाने के लिए नई तकनीक का इस्‍तेमाल करेगा. टिलटेड तकनीक (झु ...अधिक पढ़ें

नई दिल्‍ली. भविष्‍य में आने वाली वंदेभारत एक्‍सप्रेस की औसत स्‍पीड बढ़ाने के लिए रेलवे मंत्रालय ट्रेन में इस्‍तेमाल की जाने वाली तकनीक में बदलाव करने जा रहा है, जिससे कर्व में ट्रेन को धीमा करने की जरूरत नहीं होगी. फुल स्‍पीड में दौड़ेगी. मंत्रालय भविष्‍य में आने वाली कुल ट्रेनों में से 25 फीसदी में नई तकनीक का इस्‍तेमाल करेगी, जिससे यात्रियों का समय बचेगा.

मौजूदा समय ट्रेनें घूमवादार रेलवे ट्रैक पर धीमी हो जाती हैं. क्‍योंकि इन स्‍थानों पर स्पीड प्रतिबंधित कर दी जाती है, इस वजह से ट्रेन की औसत स्पीड कम हो जाती है. इसमें नई तकनीक का इस्‍तेमाल किया जाएगा.

ये है नई तकनीक

रेल मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि मौजूदा ट्रैक पर टिलटेड तकनीक (झुकाव तकनीक) वाली वंदे भारत एक्‍सप्रेस को चलाने की तैयारी कर रही है. टिलटेड तकनीक में रेलवे ट्रैक (रेलमार्ग) के घुमावदार होने पर वंदे भारत ट्रेन फुल स्पीड पर दौड़ सकेगी. इस तकनीक के इस्‍तेमाल के बाद ट्रेन स्वत: घुमावदार ट्रैक झुक जाएगी, जिससे ट्रेन में बैठे रेल यात्रियों को इसका एहसास तक नहीं होगा.इस तरह टिलटेड तकनीक वाली ट्रेनों की औेसतर स्पीड बढ़ जाएगी.

ये भी पढ़ें: अगली दो वंदेभारत एक्‍सप्रेस को अलग राज्‍यों में चलाने की तैयारी, जानें राज्‍यों के नाम

100 ट्रेनों में नई तकनीक का होगा इस्‍तेमाल

रेल मंत्रालय के अनुसार घोषित 400 वंदेभारत एक्‍सप्रेस में से 100 ट्रेनें टिलटेड तकनीक से बनाई जाएंगी. मौजूदा समय टिलटेड तकनीक वाली ट्रेनें इटली, फिनलैड, रूस, स्विट्जरलैंड, चीन, जर्मनी, रोमानिया समेत कई देशों में चलाई जा रही है.

प्रति वर्ष 250 से 300 ट्रेनें बनाने की तैयारी

वंदे भारत एक्‍सप्रेस को केंद्र सरकार के आम बजट में जगह मिल सकती है. जानकारी के अनुसार सरकार प्रति वर्ष 250-300 वंदे भारत ट्रेनों के उत्पादन-परिचालन की घोषणा कर सकती है. बजट का हिस्सा बनने से सेमी हाई स्पीड ट्रेन यानी वंदेभारत में नई तकनीक, डिजाइन, स्पीड बढ़ाने का प्रावधान एडवांस में किया जा सकेगा.

इन ट्रेनों को रिप्‍लेस करेंगी वंदेभारत

भविष्‍य में प्रीमियम ट्रेनें यानी राजधानी एक्सप्रेस-शताब्दी एक्सप्रेस, दुरंतो एक्सप्रेस को हटाकर वंदे भारत चलाई जाएंगी. यानी जल्‍द ही प्रीमियम ट्रेनों के एलएचबी कोच पूरी तरह से हट जाएंगे.

Tags: Indian railway, Indian Railway news, Indian Railways, Vande bharat train

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें