Home /News /business /

Kalka Shimla Railway: अगले साल तक विस्टाडोम कोच के साथ हाईस्‍पीड ट्रेन की तरह दौड़ेगी Toy Train!

Kalka Shimla Railway: अगले साल तक विस्टाडोम कोच के साथ हाईस्‍पीड ट्रेन की तरह दौड़ेगी Toy Train!

RCF, कपूरथला में अक्‍टूबर माह में इन कोच का प्रोडक्‍शन शुरु कर दिया जाएगा. प्‍लान है कि दिसंबर तक प्रोटोटाइप कोच तैयार हो जाएं. (फाइल फोटो)

RCF, कपूरथला में अक्‍टूबर माह में इन कोच का प्रोडक्‍शन शुरु कर दिया जाएगा. प्‍लान है कि दिसंबर तक प्रोटोटाइप कोच तैयार हो जाएं. (फाइल फोटो)

Kalka Shimla toy train में लगी पुरानी बोगियों की जगह जल्‍द ही हाई स्पीड नैरोगेज विस्टाडोम कोच (High Speed Narrow Gauge Vistadome Coach) लेंगे. इन कोच के निर्माण प्रकिया की शुरुआत रेल कोच फैक्टरी, कपूरथला (RCF) में हो गई है. फ‍िलहाल प्रोटोटाइप कोच के डिजाइन और जिग पर काम चल रहा है. उम्‍मीद है कि दिसंबर तक यह कोच आरडीएसओ लखनऊ (RDSO, Lucknow) के पास ट्रायल के लिए भेजा जाएगा, जहां से अनुमति मिलने के बाद इन कोच की सीरिज तैयार की जा सकेगी.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

नई दिल्‍ली : छुक-छुक करते हुए कालका शिमला रेलवे लाइन (Kalka Shimla Railway) पर दौड़ने वाली टॉय ट्रेन (Toy Train) जल्‍द ही अब हाईस्‍पीड ट्रेन (High Speed Train) की तरह पटरियों पर दौड़ेगी. ट्रॉय ट्रेन में लगी पुरानी बोगियों की जगह जल्‍द ही हाई स्पीड नैरोगेज विस्टाडोम कोच (High Speed Narrow Gauge Vistadome Coach) लेंगे. इन कोच के निर्माण प्रकिया की शुरुआत रेल कोच फैक्टरी (RCF) में हो गई है. फ‍िलहाल प्रोटोटाइप कोच के डिजाइन और जिग पर काम चल रहा है. उम्‍मीद है कि दिसंबर तक यह कोच आरडीएसओ लखनऊ (RDSO, Lucknow) के पास ट्रायल के लिए भेजा जाएगा, जहां से अनुमति मिलने के बाद इन कोच की सीरिज तैयार की जा सकेगी. उम्‍मीद है कि अगले साल तक Toy Train विस्टाडोम कोच के साथ हाईस्‍पीड ट्रेन की तरह दौड़ेगी.

आरसीएफ के जनसंपर्क अधिकारी (पीआरओ) जितेश कुमार ने न्‍यूज18 हिंदी (डिजिटल) को बताया कि अभी हाई स्पीड नैरोगेज (एनजी) विस्टाडोम के प्रोटोटाइप कोच के डिजाइन पर काम चल रहा है और उसका जिग (जिसके अंदर कोच रखकर असेंबल किया जाता है) तैयार किया जा रहा है. चूंकि आरसीएफ में ब्रॉड गेज पर काम होता है, इसलिए इन कोच के नैरो गेज होने के चलते रेल कोच फैक्‍ट्री के इंजीनियर, मशीनरी अतिरिक्‍त मेहनत में जुटे हुए हैं.

पढ़ें : कालका-शिमला रेल ट्रैक पर एक टिकट लेकर किसी भी ट्रेन में कर सकेंगे सफर

इन कोच को बनाने के लिए मैटेरियल खरीदा जा रहा है. उनका कहना है कि ‘कोशिश है कि अक्‍टूबर माह में इसका प्रोडक्‍शन शुरु कर दिया जाएगा. प्‍लान है कि हम दिसंबर तक प्रोटोटाइप कोच तैयार कर लेंगे. इसके बाद अनुसंधान अभिकल्प एवं मानक संगठन (Research Design and Standards Organisation) इसका ट्रायल करेगा और हरी झंडी मिलने के बाद कोशिश होगी कि इसकी एक सीरिज तैयार की जा सके.

इन कोच के आ जाने के बाद फ‍िलहाल कालका शिमला रेल लाइन (Kalka Shimla Railway) पर 25 से 30 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ने वाली टॉय ट्रेन की स्‍पीड बढ़ेगी, जोकि 40 से 55 प्रतिघंटा किलोमीटर तक पहुंचने की उम्‍मीद है. इसके लिए इसकी बोगी यानि व्‍हील सेट को भी मोडिफाई/अपग्रेड किया जा रहा है. ट्रेन की रफ्तार बढ़ने से कालका से शिमला का सफर जल्‍द तय हो पाएगा.

आरसीएफ एलएचबी तकनीक पर आधारित इन नए कोचों के स्टेनलेस स्टील के हल्के वजन वाले शेल डिजाइन के अलावा बड़ी खिड़कियों और छत पर शीशे के विस्टाडोम वाले डिजाइन तैयार कर रहा है.

Tags: Indian Railways, Shimla

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर