Home /News /business /

Indian Railways: रेल मंत्रालय ने IRSDC को बंद करने के द‍िए आदेश, जोनल रेलवे करेंगे अब स्‍टेशनों का पुनर्व‍िकास

Indian Railways: रेल मंत्रालय ने IRSDC को बंद करने के द‍िए आदेश, जोनल रेलवे करेंगे अब स्‍टेशनों का पुनर्व‍िकास

रेल मंत्रालय ने आईआरएसडीसी कंपनी को बंद करने का फैसला क‍िया है. (फाइल फोटो-IRSDC)

रेल मंत्रालय ने आईआरएसडीसी कंपनी को बंद करने का फैसला क‍िया है. (फाइल फोटो-IRSDC)

Indian Railways: रेलवे बोर्ड के स्टेशन डिविजन-2 के डिप्टी डायरेक्टर हरीश चंद्र की ओर से जारी किए आदेश में IRSDC को बंद करने की सैंद्धांत‍िक रूप से न‍िर्णय लेने की बात कही है. साथ ही IRSDC को सभी प्रबंध‍ित स्‍टेशनों को संबंध‍ित जोनल रेलवे को सौंपने के आदेश भी द‍िए गए हैं. आदेश की प्रति सभी रेल महाप्रबंधकों और जोनल रेलवे को भेज दी गई है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. भारतीय रेलवे (Indian Railways) की ओर से स्‍टेशनों का पुनर्विकास करने की योजना पर काम क‍िया जा रहा है. देशभर के 150 से ज्‍यादा रेलवे स्‍टेशनों को वर्ल्‍ड क्‍लास रेलवे स्‍टेशन के रूप में तैयार करने की योजना है. इन स्‍टेशनों का पुनर्व‍िकास नोडल एजेंसी के रूप में भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम लिमिटेड (IRSDC) द्वारा क‍िया जा रहा है.

    आईआरएसडीसी रेल भूमि विकास प्राधिकरण, राइट्स और इरकॉन इंटरनेशनल लिमिटेड की एक संयुक्त उद्यम कंपनी है. लेक‍िन अब रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) ने इस कंपनी को बंद करने का फैसला क‍िया है.

    इस संबंध में रेलवे बोर्ड के स्टेशन डिविजन-2 के डिप्टी डायरेक्टर हरीश चंद्र की ओर से जारी किए आदेश में IRSDC को बंद करने की सैंद्धांत‍िक रूप से न‍िर्णय लेने की बात कही है. साथ ही IRSDC को सभी प्रबंध‍ित स्‍टेशनों को संबंध‍ित जोनल रेलवे को सौंपने के आदेश भी द‍िए गए हैं. इस आदेश की प्रति सभी रेल महाप्रबंधकों और जोनल रेलवे को भेज दी गई है.

    रेलवे बोर्ड की ओर से  IRSDC को बंद करने के संबंध में यह न‍िकाला गया है आदेश.   Indian Railways, IRSDC, Ministry of Railways, Railway Station Redevelopment Plan, PM Narendra Modi, Gandhinagar Capital Railway Station, Habibganj Railway Station,भारतीय रेलवे, आईआरएसडीसी, भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम लिमिटेड, वर्ल्‍ड क्‍लास रेलवे स्‍टेशन, रेल मंत्रालय, रेल भूमि विकास प्राधिकरण, राइट्स, इरकॉन इंटरनेशनल लिमिटेड, गांधीनगर रेलवे स्टेशन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, हबीबगंज रेलवे स्टेशन

    रेलवे बोर्ड की ओर से IRSDC को बंद करने के संबंध में यह न‍िकाला गया है आदेश.

    ये भी पढ़ें: Indian Railways: रेलयात्री ध्यान दें… यूपी-बिहार जाने वालों के लिए चलेगी ये फेस्टिवल स्पेशल ट्रेन, चेक करें डिटेल 

    रेलवे बोर्ड की ओर से सोमवार देर रात को जारी आदेश में कहा है कि आईआरएसडीसी (IRSDC) जिन स्टेशनों का प्रबंधन करता है, उन्हें संबंधित जोनल रेलवे को सौंपा जाएगा और निगम आगे के विकास के लिए प्रोजेक्ट्स संबंधी सभी दस्तावेज भी उन्हें सौंपेगा. आईआरएसडीसी का गठन मार्च 2012 में किया गया था.

    सूत्रों के मुताबिक आईआरएसडीसी देशभर में 50 रेलवे स्टेशनों के डेवल्पमेंट का काम देख रही थी. लेकिन उसकी कार्यशैली को लेकर रेलवे संतुष्ट नहीं था. आईआरएसडीसी अब तक गांधीनगर रेलवे स्टेशन काे रीडेवल्प करके देश को समर्पित कर चुका है. जबकि, भोपाल (Bhopal) का हबीबगंज रेलवे स्टेशन (Habibganj Railway Station) तैयार है. गांधीनगर कैपिटल रेलवे स्टेशन (Gandhinagar Capital Railway Station) को एयरपोर्ट सुविधाओं की तर्ज पर तैयार किया गया है. इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने किया था.

    ये भी पढ़ें: Indian Railways: दीपावली पर मुंबई जाने वाले रेलयात्र‍ियों को सौगात, चलेगी वीकली स्‍पेशल ट्रेन

    सूत्र बताते हैं कि आईआरएसडीसी और प्रोजेक्ट्स के अलावा मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के पुनर्विकास के लिए भी बोली प्रक्रिया में शामिल हो चुका है. उसने हाल ही में केएसआर बेंगलुरु रेलवे स्टेशन और चंडीगढ़ में ‘रेल आर्केड’ की स्थापना के लिए बोलियां आमंत्रित की थीं. बताया जाता है कि आईआरएसडीसी दक्षिण भारत में 90 रेलवे स्टेशनों के सुविधा प्रबंधन की योजना की भी घोषणा कर चुका है.

    जानकारी के मुताबिक रेल मंत्रालय की ओर से आईआरएसडीसी से पहले एक अन्य संगठन को भी पिछले माह सितंबर में बंद किया जा चुका है. भारतीय रेलवे वैकल्पिक ईंधन संगठन को सितंबर, 2021 में बंद किया जा चुका है. यह आईआरएसडीसी दूसरा ऐसा संगठन है जिसको बंद करने का फैसला रेल मंत्रालय की ओर से लिया गया है.

    Tags: Indian Railways, Ministry of Railways, Railway Board, Railway News, Redevelop Railway Station

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर