होम /न्यूज /व्यवसाय /

रेलवे ने खारिज किया ट्रेन में 1-4 साल के बच्चों की टिकट लगने वाला दावा, बताया भ्रामक खबर

रेलवे ने खारिज किया ट्रेन में 1-4 साल के बच्चों की टिकट लगने वाला दावा, बताया भ्रामक खबर

1-4 साल तक के बच्चों का ट्रेन में नहीं लगता टिकट.

1-4 साल तक के बच्चों का ट्रेन में नहीं लगता टिकट.

रेलवे ने कहा है कि मीडिया में एक हिस्से में 1-4 साल तक के बच्चों की ट्रेन टिकट लगने की जो खबरें आ रही हैं वह भ्रामक हैं. 1-4 वर्ष के बच्चों की टिकट से संबंधित नियमों में कोई बदलाव नहीं किया गया है.

हाइलाइट्स

1-4 साल के बच्चों की रेल टिकट संबंधी नियमों में बदलाव नहीं.
रेलवे ने इस टिकट लगने वाली खबरों का किया खंडन.
बकौल रेलवे, यह सुविधा निशुल्क है बशर्ते बच्चे के लिए अलग सीट न मांगी जाए.

नई दिल्ली. भारतीय रेलवे ने ट्रेन में एक से 4 साल की उम्र के बच्चों के लिए टिकट संबंधी नियम में हुए बदलाव की खबर को लेकर सफाई जारी की है. रेलवे ने कहा है कि कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि एक से चार साल की उम्र के बच्चों को ट्रेन में सफर करने के लिए टिकट लेना होगा. यह खबर भ्रामक है रेलवे ने कहा कि यह सूचित किया जाता है कि भारतीय रेलवे ने ट्रेन में यात्रा करने वाले बच्चों के लिए टिकटों की बुकिंग के सबंध में कोई बदलाव नहीं किया है.

रेलवे ने कहा है कि अगर यात्री चाहें तो अपने 5 साल से कम के बच्चों के लिए टिकट बुक करा सकते हैं. हालांकि, बच्चे को अलग बर्थ (सीट) नहीं दी जाएगी. रेलवे के अनुसार, अगर वे अलग बर्थ नहीं चाहते हैं तो ये सुविधा निशुल्क है जैसे पहले हुआ करती थी. रेल मंत्रालय ने इसके लिए 2020 के एक सर्कुलर का हवाला दिया है जिसमें लिखा गया है कि 5 साल से कम उम्र के बच्चों की यात्रा निशुल्क होगी. लेकिन अगर 5 साल से कम वर्ष के बच्चे के लिए स्वैच्छिक आधार पर अलग बर्थ की मांग की जाती है तो पूरा किराया वसूला जाएगा.

pib hindi railway tweeet

यात्रियों के सुझाव के बाद जारी हुआ ता सर्कुलर
रेल मंत्रालय के अनुसार इसके बाद तमाम यात्रियों ने मांग की और सुझाव दिया कि अगर बच्‍चा पांच साल से कम है और उसे गोद में लेकर सफर नहीं करना चाह रहे हैं, इसके लिए बच्‍चे की भी सीट बुक होनी चाहिए, जिससे वो सुविधाजनक सफर कर सकें. यात्रियों के सुझाव के बाद रेलवे ने 6 मार्च 2020 को एक और सर्कुलर जारी किया, जिसमें पांच साल से कम बच्‍चे की भी सीट बुक करने का आदेश दिया गया. बुक की गयी सीट का किराया सामान्‍य यात्री के बराबर होगा. रेलवे मंत्रालय के अनुसार इसके बाद कोई नया आदेश नहीं जारी किया गया है.

ये भी पढ़ें- Bank FD Rates: अब ये दो बैंक जमा पर देंगे ज्‍यादा ब्‍याज, चेक करें अलग-अलग अवधि के फिक्स्ड डिपॉजिट की नई दरें

12 साल तक के बच्चों का लगता है आधा टिकट
रेलवे के अनुसार, 1-4 साल तक के बच्चों का अलग बर्थ नहीं लेने की सूरत में कोई टिकट नहीं लगता है. जबकि 5-12 साल के बच्चों के लिए रेलवे ने हाफ टिकट का प्रावधान किया है.

Tags: Business news, Indian railway, Indian Railway news

अगली ख़बर