होम /न्यूज /व्यवसाय /अब रेलयात्रा होगी और भी सुरक्षित, यह सिस्‍टम नहीं होने देगा Train Accident

अब रेलयात्रा होगी और भी सुरक्षित, यह सिस्‍टम नहीं होने देगा Train Accident

भारतीय रेल द्वारा पूर्ण रूप से स्वदेशी प्रणाली TCAS विकसित की गई है.

भारतीय रेल द्वारा पूर्ण रूप से स्वदेशी प्रणाली TCAS विकसित की गई है.

देश में रेल दुर्घटनाओं (Train Accident) को रोकने और रेलयात्रा को सुरक्षित बनाने के लिए अब स्‍वदेशी तकनीक कवच (Kavach) ...अधिक पढ़ें

नई दिल्‍ली. देश में रेलयात्रा अब ज्‍यादा सुरक्षित होगी. रेलवे (Indian Railways) ने अब ट्रेन एक्सिडेंट (Train Accident) रोकने के लिए एडवांस्‍ड सिग्‍नलिंग सिस्‍टम ‘कवच’ (Kavach) लगाने का फैसला किया है. सबसे पहले पूर्व मध्य रेलवे (ECR) अपनी कुछ रेलवे लाइनों पर इसे लगाएगा. वर्ष 2022-23 में 2,000 किमी नेटवर्क में सुरक्षा के लिए इस स्‍वदेशी तकनीक (Kavach Technology) को लगाया जाएगा.

ECR के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (CPRO) वीरेंद्र कुमार ने कहा कि यह प्रणाली पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन (Pt. Deen Dayal Upadhyaya Junction) गया (Gaya) धनबाद (Dhanbad) ग्रैंड कॉर्ड रूट पर इसे लगाने के लिए 151 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत का टेंडर जारी किया गया है.

ये भी पढ़ें :  NSE Scam : कौन हैं चित्रा रामकृष्‍ण के मिस्‍टीरियस योगी, हम देते हैं क्‍लू

व्यस्ततम रेलवे मार्ग से शुरूआत

हिन्दुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार 408 किलोमीटर लंबा पं दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन-गया-धनबाद ग्रैंड कॉर्ड मार्ग हमारे देश में 77 स्टेशन और 79 लेवल क्रॉसिंग फाटकों को कवर करने वाला एक महत्वपूर्ण और व्यस्ततम रेलवे मार्ग है. डिवीजन ने इस रूट पर 130 किमी प्रति घंटे तक की रफ्तार से ट्रेन चलाने की अनुमति दी है. इसी रूट पर कवच को सबसे पहले लगाया जाएगा.

क्या है ‘कवच’? (What is Kavach system )

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (CPRO) वीरेंद्र कुमार बताया कि कवच एक टक्कर रोधी तकनीक (Train collision Avoidance system- TCAS) है. TCAS माइक्रो प्रोसेसिंग, ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम और रेडियो कम्युनिकेशन पर काम करता है. डिवाइस को पूरे रूट पर स्थित स्टेशनों से सीधे रेडियो सिस्टम के माध्यम से जोड़ने वाले इंजनों के केबिन के अंदर स्थापित किया जाएगा.डिवाइस में इनबिल्ट ऑटोमैटिक ब्रेक सिस्टम है जो सेंसर के जरिए पैसेंजर ट्रेनों के आगे या पीछे की टक्कर की संभावनाओं को जांचता है.

ये भी पढ़ें :  Tax Rules: आइए जानें टैक्स पेमेंट के कुछ रुल्स, किस जगह पर आपको मिलता है फायदा कहां होता है नुकसान

कैसे करेगा काम? (how will Kavach work)

भारतीय रेल द्वारा पूर्ण रूप से स्वदेशी प्रणाली TCAS (Train collision Avoidance system) विकसित की गई है. यह सिस्‍टम रेड सिग्‍लन होने पर रेल को गुजरने नहीं देगा. ओवर स्‍पीड से रेल चलाने पर भी यह अंकुश लगाएगा और ट्रेनों के आमने-सामने की टक्‍क्‍र को यह रोकेगा, क्‍योंकि यह पहले ही पता लगा लेगा कि पटरी पर कोई ट्रेन या जा तो नहीं रही है. यह पटरियों और रेलगाड़ी की स्थिति की लगातार अपडेट देता रहता है. अगर आपात स्थिति में ट्रेन का चालक दल ब्रेक नहीं लगा पाता है तो कवच सिस्‍टम ऑटोमैटिक ब्रेक लगा देगा.

Tags: Indian railway, Railways news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें