होम /न्यूज /व्यवसाय /

राकेश झुनझुनवाला की Akasa एयर अगले महीने भरेगी उड़ान, जल्‍द शुरू होगी टेस्टिंग

राकेश झुनझुनवाला की Akasa एयर अगले महीने भरेगी उड़ान, जल्‍द शुरू होगी टेस्टिंग

शुरुआत में आकासा एयर घरेलू उड़ानें संचालित करेगी.

शुरुआत में आकासा एयर घरेलू उड़ानें संचालित करेगी.

आकासा एयर (Akasa Air) खर्च कम रखने, यात्रियों को बेहतरीन सुविधाएं देने और कर्मचारियों के लिए कामकाज का बेहतर माहौल प्रदान करने पर ध्‍यान केंद्रित कर रही है. एयरलाइन अगले सप्‍ताह प्रोविंग फ्लाइट शुरू करेगी.

नई दिल्‍ली. राकेश झुनझुनवाला समर्थित आकासा एयर (Akasa Air) जुलाई के अंत में उड़ान भरने लगेगी. शुरुआत में आकासा एयर घरेलू उड़ानें संचालित करेगी और आगे अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानें भी शुरू करने का इरादा कंपनी का है. आकासा के चीफ एग्‍जीक्‍यूटिव ऑफिसर विनय दूबे ने बताया कि एयरलाइन अगले सप्‍ताह डीजीसीए के साथ मिलकर प्रोविंग फ्लाइट शुरू करेगी. प्रोविंग फ्लाइट को टेस्टिंग फ्लाइट भी कहा जा सकता है. प्रोविंग फ्लाइट सर्टिफिकेशन मिलने के बाद एयरलाइन को एयर ऑपरेटर सर्टिफिकेट मिल जाएगा. इसके बाद एयरलाइन को एयरपोर्ट स्‍लॉट मिल जाएगा.

लाइव मिंट की एक रिपोर्ट के अनुसार दुबे का कहना है कि कि एयरपोर्ट स्‍लॉट मिलने के बाद टिकट की बिक्री शुरू कर दी जाएगी. टिकट की बुकिंग दो-तीन सप्‍ताह चलेगी. दुबे ने कहा कि जुलाई के अंत में आकासा एयरलाइन का पहला विमान उड़ान भरेगा. दूबे ने कहा कि आकासा एयर खर्च कम रखने, यात्रियों को बेहतरीन सुविधाएं देने और कर्मचारियों के लिए कामकाज का बेहतर माहौल प्रदान करने पर ध्‍यान केंद्रित कर रही है.

CBDT का नया नियम! आय कम होने पर भी कुछ लोगों को भरनी होगी ITR, कहीं आप भी तो नहीं इनमें शामिल?

पहले शुरू होंगी घरेलू उड़ानें
दुबे का कहना है कि कपनी का फोकस पहले घरेलू सेवाओं पर है. कंपनी की अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानें 2023 की दूसरी छमाही में शुरू हो जाएंगी. उनका कहना है कि आकासा एयर की सर्विस मेट्रो सिटी से टियर टू और टियर थ्री सिटी के लिए होगी. राकेश झुनझुनवाला के अलावा आकासा एयर में इंडिगो को लंबे समय तक अपनी सेवाएं देने वाले आदित्‍य घोष की हिस्‍सेदारी भी है. कंपनी का इरादा 2023 के अंत तक अपने बेड़े में 18 एयरक्रॉफ्ट शामिल करने का है. कंपनी को अपना पहला विमान मिल भी चुका है.72 बोइंग कंपनी का 737 मैक्‍सजेट कंपनी ने 9 बिलियन डॉलर में खरीदा है. दूबे ने बताया कि एक महीने में एक या दो विमान और बोइंग एयरलाइन को उपलब्‍ध करा देगी.

भारतीय एविएशन सेक्‍टर में अपार संभावनाएं
दूबे ने कहा कि भारतीय एविएशन सेक्‍टर में अपार संभावनाएं हैं. यहां मांग तेजी से बढ़ रही है. आने वाले 20 सालों में भारत में 1000 विमानों की आवश्‍यकता होगी. नागरिक विमानन मंत्री ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने भी पिछले दिनों कहा था कि भारत में मांग जिस गति से बढ़ रही है, उसे देखते हुए हर साल 120 विमानों की जरूरत भारत को होगी. भारत में तेजी से एयरपोर्ट का निर्माण हो रहा है और अब तो छोटे शहरों में भी हवाई अड्डे बन रहे हैं.

ये भी पढ़ें- Surya Nutan: फ्री में 3 वक्त का खाना पकाने वाला चूल्हा लॉन्च, 10 साल चलेगा, सब्सिडी देगी सरकार

ईंधन खर्च होगा कम
दूबे ने कहा कि आकासा एयर का ईंधन अन्‍य एयरलाइन के मुकाबले 15 से 17 फीसदी ईंधन खर्च कम होगा. ऐसा इसलिए होगा क्‍योंकि कंपनी के पास नए विमान होंगे जो सीएफएफ इंटरनेशनल के फ्यूल एफिशिएंट एलईएपी-बी1 ईंजन से लैस हैं.

Tags: Airline, Aviation News, Rakesh Jhunjhunwala

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर