होम /न्यूज /व्यवसाय /शेयर बाजार के 'शेरों' ने मार्च तिमाही में किन स्टॉक्स में डाला पैसा, कहां से निकाला?

शेयर बाजार के 'शेरों' ने मार्च तिमाही में किन स्टॉक्स में डाला पैसा, कहां से निकाला?

राकेश झुनझुनवाला, आशील कचोलिया और डॉली खन्ना ने 31 मार्च को समाप्त हुई तिमाही में अपनी होल्डिंग्स में कुछ बदलाव किए हैं.

राकेश झुनझुनवाला, आशील कचोलिया और डॉली खन्ना ने 31 मार्च को समाप्त हुई तिमाही में अपनी होल्डिंग्स में कुछ बदलाव किए हैं.

राकेश झुनझुनवाला, आशील कचोलिया और डॉली खन्ना ने 31 मार्च को समाप्त हुई तिमाही में कहां-कहां अपना पैसा डाला है और कहां स ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. शेयर बाजार जितना आकर्षक लगता है, इसमें पैसा बनाना उतना ही मुश्किल काम है. लेकिन पैसा बनाने का एक नियम ये है कि अच्छे स्टॉक्स में ही पैसा डाला जाए. अच्छी कंपनी ही आपको अच्छा पैसा बनाकर दे सकती है. और बाजार में कौन-सी कंपनी अच्छी है या कौन-सा स्टॉक अच्छा है, खोजना बेहद मुश्किल है.

यह काम मुश्किल है, लेकिन यही काम आसान तब हो जाता है, जब हम किसी स्मार्ट या बड़े निवेशक को फॉलो करें. यही वजह है कि बाजार में बहुत से लोग बड़े निवेशकों, जैसे कि राकेश झुनझुनवाला, आशील कचोलिया और डॉली खन्ना के पोर्टफोलियो को फॉलो करते हैं. आज हम आपको बता रहे हैं कि इन निवेशकों ने 31 मार्च को समाप्त हुई तिमाही में कहां-कहां अपना पैसा डाला है.

ये भी पढ़ें – तेजी पर सवार है टाटा ग्रुप का यह स्‍टॉक, राधाकिशन दमानी की भी है हिस्‍सेदारी

राकेश झुनझुनवाला की होल्डिंग्स
ट्रेंडलाइन के डेटा के मुताबिक, भारतीय शेयर बाजार के बिग बुल राकेश झुनझुनवाला ने जुबिलेंट फॉर्मोवा (Jubilant Pharmova) में अपनी हिस्सेदारी 6.8 फीसदी कर ली है. पहले उनके पास 6.3 फीसदी हिस्सेदारी थी. उन्होंने कैनरा बैंक (Canara Bank) में भी अपनी हिस्सेदारी को 1.6 फीसदी से बढ़ाकर 2 फीसदी कर लिया है.

राकेश झुनझुनवाला ने एस्कॉर्ट्स (Escorts) में अपनी हिस्सेदारी 5.2 फीसदी से घटाकर 1 फीसदी से भी कम कर ली है. इसके अलावा उन्होंने वॉकार्ड (Wockhardt) में भी अपना स्टेक घटाकर 2.3 पर्सेंट से 2.1 पर्सेंट कर लिया है.

ये भी पढ़ें – टॉप-10 मूल्यवान कंपनियों की लिस्ट से बाहर हुई HDFC

आशीष कचोलिया की होल्डिंग्स
कचोलिया को इक्विटी मार्केट में क्वालिटी मिड-कैप और स्मॉल-कैप स्टॉक खरीदने के लिए जाना जाता है. 19 अप्रैल 2022 तक, इक्विटी बाजार में उनका निवेश 1,900 करोड़ रुपये से अधिक है. मार्च के शेयरहोल्डिंग डेटा से पता चला कि कचोलिया ने पहली बार ग्रेविटा इंडिया, फाइनोटेक्स केमिकल, क्रिएटिव न्यूटेक और स्टोव क्राफ्ट जैसे शेयर्स को उठाया है. उन्होंने एक्सप्रो इंडिया, यशो इंडस्ट्रीज, एमी ऑर्गेनिक्स और यूनाइटेड ड्रिलिंग टूल्स जैसी कंपनियों में भी अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई है.

डॉली खन्ना की होल्डिंग्स
31 मार्च को खत्म हुई तिमाही में डॉली खन्ना के पोर्टफोलियो में अब पॉन्डी ऑक्साइड्स एंड कैमिकल्स (Pondy Oxides & Chemicals), शारदा क्रॉपकेम, संदूर मेन्गानीज़ एंड आयरन ओरेस और खेतान कैमिकल्स एंड फर्टीलाइज़र्स जुड़े हैं. मिली जानकारी के अनुसार, इन कंपनियों की शेयरहोल्डर्स की लिस्ट में पिछली 8 तिमाहियों में उनका नाम नहीं था. उन्होंने अपने पोर्टफोलियो में प्रकाश पाइप्स का शेयर 1.4 फीसदी से बढ़ाकर 2.4 फीसदी कर लिया है.

ये भी पढ़ें – लगातार 9 दिनों से क्यों गिर रहा है HDFC बैंक का शेयर, क्या अब है खरीदने का सही समय?

इनके अलावा, डॉली खन्ना ने बटरफ्लाई गांधीमथि अप्लाएंसेज़, अजंता सोया, सिमरन फार्म्स, रामा फॉस्फेट्स, मंगलोर कैमिकल्स, पॉलिप्लेक्स कॉर्पोरेशन, RSMW एंड एरिज़ एग्रो जैसे शेयर में भी अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई है.

चेन्नई-बेस्ड निवेशक डॉली खन्ना 1996 से शेयर बाजार में हैं. उनके पास 650 करोड़ रुपये के शेयर होल्डिंग्स हैं. कहा जाता है कि उनके पति राजीव खन्ना उनके पोर्टफोलियो को मैनेज करते हैं और वही ऐसे स्टॉक चुनते हैं, जो भविष्य में जाकर मुनाफा देते हैं.

Tags: Rakesh Jhunjhunwala, Stock market

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें