कोरोना के इस संकट में घर बैठे इस शख्स ने सिर्फ एक शेयर से कमाए 1500 करोड़ रुपये, जानिए कैसे

राकेश झुनझुनवाला
राकेश झुनझुनवाला

मार्च से लेकर अब तक​ देश के दिग्गज निवेश की राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) को टाइटन के शेयरों से 1500 करोड़ रुपये का फायदा हुआ है. राकेश झुनझुनवाला और उनकी पत्नी रेखा झुनझुनवाला के पास टाइटन के 4.90 करोड़ शेयर्स हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 4, 2020, 7:23 AM IST
  • Share this:
मुंबई. गोल्ड की कीमतों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी के बाद सोमवार को घरेलू बाजार में टाइटन कंपनी (Titan Share Price) के शेयरों में 4 फीसदी की तेजी दर्ज की गई. कंपनी ने 4 रुपये प्रति शेयर का डिविडेंड (Dividend on Titan Share) देने का भी ऐलान किया है. कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ने और कोई राज्यों में आंशिक लॉकडाउन के बाद एक बार फिर सोने की कीमतों में रिकॉर्ड तेजी देखने को मिल रही है. बाजार में निवेशकों के बीच पीली धातु की मांग बढ़ गई है.

मार्च के बाद टाइटन के शेयरों में जोरदार रिकवरी
टाइटन के स्टॉक्स (Titan Stocks) भारत के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) का सबसे पसंदीदा स्टॉक है. सोमवार को टाइटन के स्टॉक्स का भाव 4.4 फीसदी चढ़कर 1,089.10 रुपये प्रति शेयर पर पहुंच गया. मार्च महीने में कोरोना काल में सबसे न्यूनतम स्तर पर पहुुंचने के बाद इसमें करीब 50 फीसदी का इजाफा हुआ है. गत 24 मार्च को टाइटन के शेयरों का भाव 720 रुपये तक लुढ़क चुका था. इस साल तक टाइटन के शेयरों में 9 फीसदी की गिरावट आई है. लेकिन, पिछले एक महीने में 8 फीसदी की तेजी भी दर्ज की गई है.

मार्च से ले​कर अब तक 1500 करोड़ रुपये की कमाई
जून तिमाही तक राकेश झुनझुनवाला और उनकी पत्नी रेखा झुनझुनवाला के पास टाइटन के 4.90 करोड़ शेयर्स हैं, जोकि 5.53 फीसदी होता है. जब मार्च में टाइटन के शेयर्र निचले स्तर पर थे, तब झुनझुनवाला दंपत्ति का इस कंपनी में कुल निवेश 3,528 करोड़ रुपये का था. शुक्रवार को शेयर बाजार बंद होने तक यह 5,112 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. इस प्रकार उन्हें मार्च के बाद कुल 1,584 करोड़ रुपये का लाभ हुआ है.



यह भी पढ़ें: बैन के बाद सरकार ने टिकटॉक समेत सभी ऐप्स से मांगा 80 सवालों का जवाब

लॉकडाउन के बाद ज्वेलरी की मांग में तेजी
जून तिमाही के अपडेट में टाइटन ने कहा कि ज्वेलरी सेग्मेंट (Jewellery segment) में अनुमान से बेहतर रिकवरी हुई है. कंपनी ने कहा कि इस समय लोग अन्य खर्च की तुलना में ज्वलेरी पर ज्यादा खर्च कर रहे हैं. इस समय में सोने के दाम में भी तेजी देखने को मिल रही है. टाइटन के प्रबंध निदेशक सी के वेंकटरम ने कहा कि कोरोना वायरस आउटब्रेक के बाद से ही एसेट क्लास के तौर पर सोने का महत्व बढ़ गया है. उन्होंने आगे कहा कि शादियों पर होने वाला बड़ा खर्च और हॉलिडे ट्रैवल में कमी आने की संभावना है, इससे ज्वेलरी पर खर्च करने का फंड बढ़ेगा.

क्या है ब्रोकरेज फर्म्स का कहना?
हालांकि, ब्रोकेरेज फर्म्स टाइटन के स्टॉक को लेकर ज्यादा उत्साह नहीं देखने को मिल रहा है. CLSA ने कहा कि टाइटन के शेर्यस को 855 रुपये प्रति शेयर पर'बिक्री' का कॉल दिया है. उनका कहना है कि रिवकरी की बढ़ती उम्मीद की वजह से टाइटन के शेयरों में तेजी दर्ज की जा रही है. लेकिन, कंपनी को मौजूदा साइकिल के अंत में फायदा होगा.

यह भी पढ़ें: इस महीने भी नहीं मिलेगी LPG सिलेंडर पर सब्सिडी, क्यों सरकार नहीं दे रही पैसा?

मॉर्गन स्टेनली (Morgan Stanley) ने भी कहा कि 770 रुपये के भाव में इस स्टॉक को कॉल करने की सलाह दी है. टाइटन अब तेजी से अपने स्टोर्स खोल रही है और गोल्ड कॉइन और ज्वेलरी की मांग बढ़ रही है. लेकिन, मॉर्गन स्टेनली का कहना है कि 2020 में पूरी तरह से रिकवरी कर पाना आसान नहीं होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज