देश के सबसे बड़े निवेशक राकेश झुनझुनवाला ने बताया कि इस बार NDA को 300 सीटें मिलेंगी

देश के सबसे निवेशक राकेश झुनझुनवाला का मानना है कि एग्जिट पोल से बेहतर असली नतीजे रहेंगे. CNBC-TV18 से एक्सक्लूसिव बातचीत में राकेश झुनझुनवाला ने कहा, लोकसभा चुनाव में NDA को 300±10 सीटें मिलेंगी.

News18Hindi
Updated: May 21, 2019, 6:57 PM IST
देश के सबसे बड़े निवेशक राकेश झुनझुनवाला ने बताया कि इस बार NDA को 300 सीटें मिलेंगी
देश के सबसे निवेशक राकेश झुनझुनवाला का मानना है कि एग्जिट पोल से बेहतर असली नतीजे रहेंगे. CNBC-TV18 से एक्सक्लूसिव बातचीत में राकेश झुनझुनवाला ने कहा, लोकसभा चुनाव में NDA को 300±10 सीटें मिलेंगी.
News18Hindi
Updated: May 21, 2019, 6:57 PM IST
देश के सबसे निवेशक राकेश झुनझुनवाला का मानना है कि एग्जिट पोल से बेहतर असली नतीजे रहेंगे. CNBC-TV18 से एक्सक्लूसिव बातचीत में राकेश झुनझुनवाला ने कहा, लोकसभा चुनाव में NDA को 300±10 सीटें मिलेंगी. 2019 लोकसभा चुनाव के लिए एग्जिट पोल में मोदी सरकार को पूर्ण बहुमत मिलती दिख रही है. दोबारा मोदी की सरकार बनने की उम्मीद से शेयर बाजार में तेजी देखने को मिली है. सेंसेक्स और निफ्टी दोनों में 10 साल की सबसे बड़ी तेजी दर्ज की गई है. एग्जिट पोल में एनडीए को 304 सीटें और यूपीए को 118 सीटें मिलने का अनुमान है जबकि अन्य सीटें अन्य पार्टियों को मिली. (ये भी पढ़ें: आखिर क्यों नरेंद्र मोदी के पीएम बनने की उम्मीद से उछला बाजार)

2019 में 30 फीसदी रिटर्न की उम्मीद नहीं
राकेश झुनझुनवाला के मुताबिक निफ्टी का निचला स्तर 11,000 बन गया है. हालांकि ऊपरी और निचले स्तर का सटीक अनुमान नहीं लगाया जा सकता है. 2014 में मोदी सरकार के सत्ता में आने पर निफ्टी ने 30 फीसदी से अधिक रिटर्न दिया. लेकिन समान उत्साह की पुनरावृत्ति होने की संभावना नहीं है.
2019 में बाजार 30 फीसदी रिटर्न नहीं दे सकता है, लेकिन मुझे लगता है कि बाजार अच्छा होगा. अगर एनडीए को स्पष्ट बहुमत मिलता है तो 10,750-11,000 को एक क्रूसियल बॉटन के रूप में देखा जा सकता है. झुनझुनवाला ने आगे कहा कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल से उम्मीदें कम हैं,, लेकिन परिणाम बेहतर होंगे.(ये भी पढ़ें: EXIT POLL में मोदी की जीत से शेयर मार्केट का जोश HIGH! 10 साल में सबसे बड़ा उछाल)

झुनझुनवाला ने कहा कि लोकतंत्र भारत के विकास में सबसे बड़ी बाधा है, लेकिन यह आवश्यक है. उन्होंने कहा, मुझे नहीं लगता कि भारत की ग्रोथ ग्लोबल ग्रोथ से जुड़ी है क्योंकि भारत का निर्यात जीडीपी से कम है. भारत में पिछले पांच वर्षों में उप-पूंजीगत व्यय हुआ है. लेकिन, इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड (IBC) की वजह से भारत में क्रेडिट कल्चर में सुधार हो रहा है.

ईरान-अमेरिका विवाद बाजार के लिए टेंशन
झुनझुनवाला ने कहा, चुनावों के अलावा बाजार के लिए एक बड़ी अनिश्चितता ईरान और अमेरिका के बीच टेंशन है. ट्रेड वार पर टिप्पणी करते हुए झुनझुनवाला ने कहा, बाजार ने चीन-अमेरिका ट्रेड वार की पहले ही कीमत चुका दी है.
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...