राम मंदिर के निर्माण को लेकर CAIT के व्यापारी अपनी दुकानों और घरों में दीप उत्सव मनाएंगे

राम मंदिर के निर्माण को लेकर CAIT के व्यापारी अपनी दुकानों और घरों में दीप उत्सव मनाएंगे
CAIT व्यापारी अपनी दुकानों-घरों में दीप जलाएंगें

देश के व्यापारियों के शीर्ष संगठन कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल (Praveen Khandelwal) ने बताया की श्री राम मंदिर के निर्माण को लेकर व्यापारियों में बहुत उत्साह है और हर कोई अयोध्या जाना चाहता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 4, 2020, 1:47 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रामनगरी अयोध्या में श्री राम मंदिर (Ram Mandir) के निर्माण कार्य के कल से शुरू होने को लेकर दिल्ली सहित देश भर में बड़ा उत्साह का वातावरण है तथा सभी लोग उमंग से भरे हुए हैं और कल के ऐतिहासिक क्षण का साक्षी बनने के लिए देश भर में लोग घरों में, बाज़ारों में, मंदिरों एवं अन्य अनेक स्थानों पर तैयारियों में जुटे हुए हैं. भारत की संस्कृति एवं धार्मिक इतिहास की वो सबसे बड़ी घड़ी होगी जब कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राम मंदिर के निर्माण कार्य का भूमि पूजन कर निर्माण को शुरू करेंगे. सारे देश में इसको लेकर एक उत्सव का माहौल है. देश के व्यापारियों के शीर्ष संगठन कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (Confederation of All India Traders) (कैट) के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल (Praveen Khandelwal) ने बताया की राम मंदिर के निर्माण को लेकर व्यापारियों में बहुत उत्साह है और हर कोई अयोध्या जाना चाहता है.

देश भर के व्यापारी दीप उत्सव मनाएंगे 
लेकिन कोरोना के कारण सरकारी पाबंदियों के कारण ऐसा नहीं हो पा रहा है, इसलिए कैट के आह्वान पर देश में आज दिल्ली सहित देश भर में व्यापारियों ने अपने घरों में सुंदरकांड का पाठ किया और इसी तरह से देश भर के अनेक मंदिरों एवं बाज़ारों में भी सामजिक दूरी का पालन करते हुए सुंदरकांड का पाठ किया गया. कैट के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया की श्री राम मंदिर के निर्माण को लेकर देश कैट के आवाहन पर कल गुरुवार को दिल्ली सहित देश भर के व्यापारी दीप उत्सव मनाएंगे जिसके तहत वो अपनी दुकानों और घरों पर दीपों की श्रंखला को प्रज्जवलित करेंगे.

यह भी पढ़ें: 111.98 लाख किसानों के खाते में पहुंचे 89910 करोड़ रुपये, आप भी ऐसे उठाएं फायदा
देश में एक तरह से यह दिवाली जैसा ही माहौल होगा. उन्होंने कहा की ऐसा करके लोग यह मानेंगे की श्री राम मंदिर के निर्माण में वो प्रत्यक्ष न सही किंतु अप्रत्यक्ष रूप में वो शामिल हैं. श्री खंडेलवाल ने कहा की श्री राम किसी एक धर्म अथवा समुदाय के नहीं है बल्कि भारत की पुरातन संस्कृति, सामाजिकता और इतिहास के शिखर प्रतीक हैं. हर प्रकार की मर्यादा का उच्चतम पालन कर एक आदर्श व्यक्ति के चरित्र का वो अनुपम उदारहण हैं और इसीलिए वो भारत की पुरातन परम्पराओं का प्रतीक हैं. इसीलिए देश भर में श्री राम मंदिर के निर्माण को लेकर एक उत्सव सा माहौल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज