अपना शहर चुनें

States

अयोध्या की सरयू नदी पर जल्द शुरू होगी रामायण क्रूज सर्विस, पर्यटकों को मिलेंगी ये सुविधाएं

अयोध्‍या में सरयू नदी पर जल्‍द ही लग्‍जरी क्रूज सर्विस शुरू हो जाएगी.
अयोध्‍या में सरयू नदी पर जल्‍द ही लग्‍जरी क्रूज सर्विस शुरू हो जाएगी.

उत्‍तर प्रदेश (UP) के अयोध्‍या (Ayodhya) में सरयू नदी पर शुरू होने वाली क्रूज सेवा (Cruise Service) के लिए सभी इंफ्रास्‍ट्रक्‍चरल सहयोग पोर्ट्स, शिपिंग एंड वाटरवेज मिनिस्‍ट्री (Ministry of Ports, Shipping and Water ways) करेगी. अभी क्रूज सेवा का किराया (Fare) तय नहीं किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2020, 7:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. उत्‍तर प्रदेश (UP) के अयोध्‍या (Ayodhya) में सरयू नदी के तट पर जल्द रामायण क्रूज सेवा (Ramayana Cruise Service) शुरू की जाएगी. पोर्ट्स, शिपिंग और वॉटरवेज मिनिस्ट्री (Ministry of Ports, Shipping and Water ways) इस नए प्रोजेक्ट को अमलीजामा पहनाने में दिनरात जुटी है. इस प्रोजेक्ट को शुरू करने के लिए केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया (Mansukh L. Mandaviya) ने मंत्रालय में एक मैराथन बैठक की. राष्ट्रीय वाटरवेज संख्या-40 यानी सरयू नदी पर बहुत जल्द लग्जरी क्रूज सेवा की शुरूआत होगी. यह लग्जरी क्रूज सरयू नदी के प्रसिद्ध की सैर कराएगी.

लग्जरी वॉटर क्रूज में यात्रियों को मिलेगी ये सुविधाएं
आलीशान क्रूज में कुल 80 सीटे होंगी. क्रूज की एंट्री का इंटीरियर रामचरित मानस की थीम पर होगा. वैश्विक मापदंडों के मुताबिक इस क्रूज में सभी जरूरी सेफ्टी और सिक्‍योरिटी फीचर्स (Security Features) जोड़े जाएंगे. चलते क्रूज से घाटों का दीदार करने के लिए क्रूज में लंबी और बड़ी शीशों की खिड़कियां लगाई जाएंगी. यही नहीं, क्रूज में यात्रियों को लजीज खाने-पीने की चीजें भी परोसने का इंतजाम किया जाएगा. इसके लिए क्रूज में किचन और पैंट्री सुविधाएं भी होंगी. क्रूज में बायो टॉयलेट्स और हाइब्रिड इंजन सिस्टम लगा होगा, जिससे पर्यावरण को नुकसान नहीं होगा.

ये भी पढ़ें- Indian Railways की स्‍पष्‍ट घोषणा! तय समय पर ही होंगी रेलवे भर्ती परीक्षाएं, जानें पूरा शेड्यूल
पर्यटकों को मिलेगा 1-1.5 घंटे के टूर का लुत्‍फ


सरयू नदी पर चलने वाले इस लग्जरी क्रूज का रामचरित मानस टूर 1 से 1.5 घंटे का होगा. यात्रा के दौरान लोगों को 45-60 मिनट की फिल्म भी दिखाई जाएगी. इसमें भगवान राम के जन्म से राज्याभिषेक तक के जीवन को दिखाया जाएगा. एक बार में यात्रियों को कुल 15 से 16 किमी तक क्रूज से सफर कराया जाएगा. सेल्फी कल्चर को देखते हुए रामायण पर आधारित कई सेल्फी प्वाइंट भी बनाए जाएंगे. क्रूज यात्रा करने वाले हर यात्री को सरयू नदी के तट पर होने वाली आरती में हिस्सा लेने का मौका भी मिलेगा. यूपी पर्यटन विभाग के मुताबिक, सलाना करीब 2 करोड़ श्रद्धालु अयोध्या पहुंचते हैं. उम्मीद की जा रही है कि अयोध्या में राम मंदिर बन जाने के बाद ज्‍यादा लोग पहुंचेंगे.

ये भी पढ़ें- Paytm यूजर्स के लिए बड़ी खबर! कारोबारियों को वॉलेट, UPI, RuPay से भुगतान लेने पर नहीं देना होगा कोई शुल्क

यूपी के युवाओं को भी मिलेंगे रोजगार के अवसर
रामायण क्रूज टूर शुरू होने से ना सिर्फ पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा बल्कि उम्मीद की जा रही है कि इससे बड़े पैमाने पर राज्‍य के युवाओं को रोजगार भी मिलेगा. यही नहीं, उत्तर प्रदेश को इससे बड़े पैमाने पर कमाई भी होगी. इस क्रूज सेवा के लिए केंद्रीय पोर्ट्स, शिपिंग और वॉटरवेज मंत्रालय सभी जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चरल सहयोग करेगा. हालांकि, अभी यह तय नहीं किया गया है कि इसके लिए कितना किराया होगा और एक दिन में यह क्रूज कितने फेरे लगाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज