इस स्टार्टअप्स से बाहर निकल रहे हैं रतन टाटा, यह मिलेगा फायदा

हुरून की रिच लिस्ट के अनुसार रतन टाटा की कुल संपत्ति 6,000 करोड़ रुपए है. (File Pic)

हुरून की रिच लिस्ट के अनुसार रतन टाटा की कुल संपत्ति 6,000 करोड़ रुपए है. (File Pic)

रतन टाटा भारतीय स्टार्टअप लेंसकार्ट के कारोबार से बाहर निकल रहे हैं. इसके एवज में उन्हें अपने निवेश पर करीब पांच गुना रिटर्न कमाने का मौका भी मिल रहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत के दिग्गज उद्योगपति रतन टाटा (Ratan Tata) भारतीय स्टार्टअप (Indian Startups) लेंसकार्ट (Lenckart) के कारोबार से बाहर निकल रहे हैं. इसके एवज में उन्हें अपने निवेश पर पांच गुना रिटर्न (Return) कमाने का मौका भी मिल रहा है.
बिजनेस इनसाइडर की खबर के मुताबिक साल 2008 में लेंसकार्ट की स्थापना पीयूष बंसल, सुमीत कपाही और अमित चौधरी ने की थी. इनट्रेक ( Entrackr) की रिपोर्ट के अनुसान रतन टाटा ने साल 2016 में लेंसकार्ट में 10 लाख रुपए का निवेश किया था. साल 2019 में जापान के सॉफ्टबैंक ने 23.1 करोड़ डॉलर का निवेश किया था. गौरतलब है कि रतन टाटा ने 20 से ज्यादा भारतीय स्टार्टअप में निवेश किया है. इनमें ओला, ओला इलेक्ट्रिक, क्योरफिट, फर्स्ट क्राई, अर्बन कंपनी आदि शामिल हैं.
यह भी पढ़ें : हिटलर की मूंछ और फेस की तरह लग रहा था अमेजन का नया लोगो, यूजर्स ने किया ट्रोल तो बदलना पड़ा 

मौजूदा निवेशक ही खरीद सकता है टाटा की हिस्सेदारी
हुरून की रिच लिस्ट के अनुसार रतन टाटा की कुल संपत्ति 6,000 करोड़ रुपए है. लेंसकार्ट में रतन टाटा की हिस्सेदारी कंपनी का कोई मौजूदा निवेशक खरीद सकता है. लेंसकार्ट में अब तक केदारा कैपिटल, प्रेमजी इन्वेस्ट, चिराग वेंचर समेत कई कंपनियों ने निवेश किया हुआ है. बता दें कि लेंसकार्ट तेजी से अपने स्टोर की संख्या बढ़ा रही है. अभी इसके पूरे भारत में 535 से ज्यादा स्टोर हैं. लेंसकार्ट की वैल्युएशन दिसंबर 2019 में 1 अरब डॉलर से ज्यादा हो गई थी. कई मीडिया रिपोर्ट से मिल रही जानकारी के अनुसार लेंसकार्ट अब आईपीओ लाने की तैयारी कर रही है.
यह भी पढ़ें : Innovation : नारियल छीलने की मशीन बनाई, सरकार ने दिया 25 लाख का ग्रांट, अब खुद की कंपनी खोली 



प्रॉफिट में आ गई है लेंसकार्ट
साल           प्रॉफिट/लॉस
वित्त वर्ष16    -113
वित्त वर्ष17    -263
वित्त वर्ष18    -118
वित्त वर्ष19    -27.8
वित्त वर्ष20    +17.7
नोट - राशि करोड़ रुपए में
लेंसकार्ट ने की है केंद्र सरकार के साथ साझेदारी
पिछले महीने ही लेंसकार्ट ने ने सड़क एवं परिवहन मंत्रालय के साथ साझेदारी की थी. इसके जरिए लोगों को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक किया जा रहा है. सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने हाल ही में सड़क सुरक्षा माह की शुरुआत की है, जिसमें उबर और लेंसकार्ट ने सहभागिता करने के लिए साझेदारी की है. इस साझेदारी के तरह पूरे देश में ड्राइवरों का फ्री आई टेस्ट किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज