Home /News /business /

India Ratings का अनुमान, वित्त वर्ष 2021-22 में 9.4 फीसदी रहेगी देश की GDP ग्रोथ रेट

India Ratings का अनुमान, वित्त वर्ष 2021-22 में 9.4 फीसदी रहेगी देश की GDP ग्रोथ रेट

रेटिंग एजेंसी का कहना है कि कृषि क्षेत्र की वृद्धि दर लगातार नौ तिमाहियों में तीन फीसदी से अधिक रही है.

रेटिंग एजेंसी का कहना है कि कृषि क्षेत्र की वृद्धि दर लगातार नौ तिमाहियों में तीन फीसदी से अधिक रही है.

देश की अर्थव्यवस्था चालू वित्त वर्ष की दूसरी जुलाई-सितंबर तिमाही में 8.3 फीसदी की दर से बढ़ेगी, जबकि पूरे वित्त वर्ष 2021-22 में जीडीपी (GDP) की ग्रोथ रेट 9.4 फीसदी रहेगी. प्रमुख रेटिंग एजेंसी इंडिया रेटिंग्स (India Ratings) ने यह अनुमान लगाया है. यह आम सहमति (Consensus Forecast) वाले ग्रोथ रेट के अनुमान से 0.1 फीसदी कम है.

अधिक पढ़ें ...

    मुंबई. देश की अर्थव्यवस्था चालू वित्त वर्ष की दूसरी जुलाई-सितंबर तिमाही में 8.3 फीसदी की दर से बढ़ेगी, जबकि पूरे वित्त वर्ष 2021-22 में जीडीपी (GDP) की ग्रोथ रेट 9.4 फीसदी रहेगी. प्रमुख रेटिंग एजेंसी इंडिया रेटिंग्स (India Ratings) ने यह अनुमान लगाया है. यह आम सहमति (Consensus Forecast) वाले ग्रोथ रेट के अनुमान से 0.1 फीसदी कम है.

    रेटिंग एजेंसी का कहना है कि कृषि क्षेत्र की वृद्धि दर लगातार नौ तिमाहियों में तीन फीसदी से अधिक रही है. इसकी वजह से अर्थव्यवस्था की ग्रोथ रेट ऊंची रहेगी. इंडिया रेटिंग्स ने कहा कि कृषि क्षेत्र की ऊंची वृद्धि की वजह से उपभोक्ता खर्च बढ़ा है जिससे निजी अंतिम उपभोग खर्च में तेजी आई है.

    ये भी पढ़ें- आम आदमी पर फिर पड़ेगी महंगाई की मार, 1 दिसंबर से महंगी हो जाएगी ये चीजें

    वैक्सीनेशन में लगभग तीन गुना उछाल
    एजेंसी ने कहा कि इसका एक अन्य प्रमुख कारण वैक्सीनेशन में लगभग तीन गुना उछाल है, जो अक्टूबर के अंत तक बढ़कर 89.02 करोड़ पर पहुंच गया. जून के अंत तक यह आंकड़ा 33.57 करोड़ था. इंडिया रेटिंग्स ने कहा कि चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही कोविड की दूसरी लहर से प्रभावित थी, जिससे कार्यस्थल की गतिशीलता कम हो गई और इससे आर्थिक गतिविधियां प्रभावित हुईं.

    बुनियादी ढांचा क्षेत्र पर ध्यान
    रेटिंग एजेंसी ने कहा कि वैक्सीनेशन की गति तेज होने के बाद कार्यस्थल की गतिशीलता में सुधार हुआ. इंडिया रेटिंग्स ने कहा कि सरकार बुनियादी ढांचा क्षेत्र पर ध्यान दे रही है जिससे निवेश गतिविधियों को समर्थन मिला है.

    ये भी पढ़ें- Amul के साथ 2 लाख रुपये लगाकर शुरू करें अपना बिजनेस तो हर महीने होगी 5 लाख की कमाई, जानें कैसे करें स्टार्ट?

    रेटिंग एजेंसी ने कहा, ”दूसरी तिमाही में सरकार का निवेश 51.9 फीसदी बढ़ा है जो चालू वित्त वर्ष की पिछली तिमाही में 26.3 फीसदी बढ़ा था. इसी तरह 24 राज्यों का निवेश दूसरी तिमाही में 62.2 फीसदी बढ़ा है, जो पहली तिमाही में 98.4 फीसदी बढ़ा था. इसके बावजूद निजी निवेश या खर्च में पुनरुद्धार धीमा और कुछ क्षेत्रों तक सीमित है.”

    Tags: Economy, GDP, GDP growth, Indian economy

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर