लाइव टीवी
Elec-widget

BSNL और MTNL के ठेकाकर्मियों के बकाया भुगतान की जिम्मेदारी ठेकेदार की- टेलीकॉम मंत्री

भाषा
Updated: November 28, 2019, 5:03 PM IST
BSNL और MTNL के ठेकाकर्मियों के बकाया भुगतान की जिम्मेदारी ठेकेदार की- टेलीकॉम मंत्री
VRS स्कीम में रुचि दिखा रहे हैं BSNL और MTNL के कर्मचारी

संचार मंत्री (IT and Telecom Minister) रविशंकर प्रसाद ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के जवाब में बताया, VRS स्कीम में रुचि दिखा रहे हैं BSNL और MTNL के कर्मचारी.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार (Government) ने प्राकृतिक आपदा के समय सक्रिय मददगार बनने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की संचार सेवा कंपनी बीएसएनएल (BSNL) और एमटीएनएल (MTNL) को देश के लिये ‘रणनीतिक संपदा’ बताते हुये कहा है कि सरकार ने घाटे में चल रही इन दोनों कंपनियों को संकट से उबारने के लिये जो योजना बनायी है, आकर्षक स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (VRS) उसका अहम हिस्सा है और इसमें कर्मचारी रुचि दिखा रहे हैं.

संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के जवाब में बताया, प्रस्तावित वीआरएस पैकेज के आकर्षक होने का अंदाज इसी तथ्य से लगाया जा सकता है कि अब तक बीएसएनएल के 79 हजार कर्मचारी और एमटीएनएल के 20 हजार में से 14 हजार कर्मचारी वीआरएस के लिए आवेदन कर चुके हैं.

ठेकाकर्मियों के बकाया भुगतान की जिम्मेदारी ठेकेदार की
दोनों संचार कंपनियों में 11 महीने से संविदाकर्मियों को वेतन नहीं मिलने से जुड़े पूरक प्रश्न के जवाब में प्रसाद ने स्पष्ट किया कि संविदाकर्मी BSNL और MTNL के कर्मचारी नहीं हैं. उन्होंने कहा, ये कर्मचारी उन ठेकेदारों के कर्मचारी हैं जिन्होंने विशेष कार्य के लिए इन्हें नियोजित किया है. इसलिये इनके बकाया भुगतान की जिम्मेदारी ठेकेदार की है.

ये भी पढ़ें: सरकार का नया प्लान बदल देगा चाय का स्वाद, 6 महीने में आ रहा खास प्रोडक्ट

प्रसाद ने कहा बीएसएनएल और एमटीएनएल के कर्मचारियों के वेतन भुगतान में हो रही परेशानियों के प्रति सरकार गंभीर है. इनके बकाया का भुगतान सहित वेतन भुगतान को नियमित किये जाने की कार्ययोजना को लागू किया जा रहा है.

ठेकाकर्मियों को नियमित करने के पूरक प्रश्न के जवाब में प्रसाद ने कहा, यह समझना होगा कि ठेकाकर्मी बीएसएनएल और एमटीएनएल के नहीं बल्कि ठेकेदार के कर्मचारी हैं, फिर भी उनके अनुभव का बेहतर उपयोग करने का प्रयास किया जायेगा.
Loading...

ये भी पढ़ें:
यात्रीगण ध्यान दें! ऐसे बुक करेंगे ट्रेन टिकट तो सस्ता होगा रेल का सफर
प्याज के बाद अब तूर दाल की कीमतें 100 रुपये के पार, सरकार उठा सकती है कदम
साल के 365 दिन खुला रहता हैं ये बैंक, 24 घंटे में कभी भी कर सकते हैं लेनदेन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 4:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...