अपना शहर चुनें

States

क्या है HDFC Bank पर RBI की इस रोक का मतलब? ग्राहकों पर क्या असर पड़ेगा?

एचडीएफसी बैंक
एचडीएफसी बैंक

RBI ने एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) पर नई डिजिटल सेवाओं को लॉन्च करने और नए क्रेडिट कार्ड जारी करने पर रोक लगा दिया है. RBI को यह फैसला बैंक में तकनीकी खामी को देखते हुए लेना पड़ा है. इस फैसले से ग्राहकों पर क्या असर पडेगा, इस बारे में बैंक की तरफ से जानकारी दी गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 3, 2020, 9:35 PM IST
  • Share this:
मुंबई. ऑनलाइन सेवाओं में बार-बार तकनीकी समस्या को देखते हुए रिज़र्व बैंक (RBI) ने एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) के नए डिजिटल लॉन्च और नए क्रेडिट कार्ड (Credit Card) जारी करने पर रोक लगा दी है. आरबीआई ने अस्थायी रूप से यह रोक लगायी है. साथ ही यह भी कहा है कि बैंक बोर्ड (HDFC Bank Board) पता करे कि कैसे बार-बार यह तकनीकी समस्या आ रही है और इसके लिए कौन जवाबदेह है. दरअसल, एचडीएफसी बैंक में फिर तकनीकी समस्या की वजह से ग्राहकों को परेशानी हो रही थी. बीते दो साल में तीसरी बार ऐसा है, जब इस प्राइवेट बैंक में यह समस्या आयी है. ऐसे में आपके लिए यह जानना जरूरी है कि एचडीएफसी बैंक के ग्राहक के तौर पर आरबीआई के इस फैसले का क्या असर पड़ेगा?

क्या है आरबीआई का आदेश?
भारतीय रिज़र्व बैंक ने एचडीएफसी बैंक को डिजिटल 2.0 के तहत सभी डिजिटल बिजनेस जेनरेटिंग गतिविधियों के लॉन्च को रोकने के लिए कहा है. बैंक के उन सभी प्रस्तावित बिजनेस पर रोक लगी है, जिसमें इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होना है. इसके अलावा नए क्रेडिट कार्ड जारी करने पर भी रोक लग गयी है. जब बैंक की तरफ से सभी संबंधित नियामकीय अनुपालन को पूरा कर लिया जाएगा, ये सभी प्रतिबंध हटा लिए जाएंगे.

यह भी पढ़ें: HDFC ग्राहकों के लिए बड़ी खबर! RBI ने बैंक की डिजिटल सेवाओं पर लगाई रोक




ग्राहकों पर इस प्रतिबंध का असर होगा?
एचडीएफसी बैंक ने कहा है कि इस कार्रवाई से बैंक के संचालन पर कोई असर नहीं पड़ेगा. बैंक के क्रेडिट कार्ड और डिजिटल बैंकिंग सेवाओं के संचालन पर आरबीआई के इस फैसले का कोई असर नहीं पड़ेगा. एचडीएफसी बैंक के पास देशभर के 2,848 कस्बों/शहरों में 15,292 एटीएम हैं. एचडीएफसी बैंक ने 1.49 करोड़ क्रेडिट कार्ड और 3.38 करोड़ डेबिट कार्ड जारी किए हैं.

एचडीएफसी बैंक के सामने बार-बार क्यों आ रही ये समस्या?
रिपोर्ट्स के मुताबिक, एचडीएफसी बैंक में इस समस्या की वजह प्राइमरी डेटा सेंटर में पावर फेल्योर है. पहले ही बैंक के सामने ऐसी समस्या आ चुकी है. इसी को देखते हुए आरबीआई अब इसके डिटेल्स के बारे में जानना चाहता है ताकि बैंक का एटीएम ऑपरेशंस, कार्ड्स और UPI लेन-देन बाधित न हो.

यह भी पढ़ें: दावा! ATM से नहीं निकल रहे 2 हजार के नोट, RBI ने बंद की सप्लाई, जानिए इसकी पूरी सच्चाई

पहले कब ऐसी समस्या आई?
अंतिम बार ऐसी समस्या 21 नवंबर को हुई थी, जिसके बाद आरबीआई ने बैंक से जवाब मांगा था. इसके पहले भी पिछले साल दिसंबर में ऐसी ही एक बड़ी समस्या सामने आई थी, जिसकी चर्चा सोशल मीडिया तक भी ​थी. उस दौरान एचडीएफसी बैंक के लाखों ग्राहक लगातार दो दिन तक मोबाइल बैंकिंग/नेट बैंकिंग सेवाओं नहीं प्राप्त कर पाए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज