लाइव टीवी

मुद्रा कर्ज योजना ने बढ़ाई बैंकों की टेंशन, रिजर्व बैंक ने कहा-तेजी से बढ़ रहे हैं एनपीए

News18Hindi
Updated: November 26, 2019, 3:51 PM IST
मुद्रा कर्ज योजना ने बढ़ाई बैंकों की टेंशन, रिजर्व बैंक ने कहा-तेजी से बढ़ रहे हैं एनपीए
मुद्रा योजना के तहत बढ़ते कर्ज पर आरबीआई ने ​चिंता जताया है.

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) के तहत मिलने वाले कर्ज में बढ़ते डिफॉल्ट को लेकर RBI के डिप्टी गवर्नर एम के जैन ने चिंता जताई है. उन्होंने बैंकों से इसपर करीबी नजर रखने को कहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 26, 2019, 3:51 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) के डिप्टी गवर्नर एम के जैन ने मंगलवार को छोटे कारोबारियों को कर्ज उपलब्ध कराने के लिये शुरू की गई मुद्रा ऋण योजना (PradhanMantri Mudra Yojna) में कर्ज वसूली की बढ़ती समस्या को लेकर चिंता जताई. उन्होंने बैंकों से कहा कि वह इस योजना के तहत दिये जाने वाले कर्ज पर करीबी नजर रखें. उन्होंने बैंकों को सुझाव दिया है कि वह इस तरह के कर्ज देते समय दस्तावेजों की जांच-परख के स्तर पर कर्ज किस्त के भुगतान की क्षमता पर भी गौर करें और इस तरह के कर्ज का उनकी पूरी अवधि तक करीब से निगरानी करें.

बढ़ता NPA चिंता का विषय- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने 2015 में मुद्रा ऋण योजना की शुरुआत की थी. यह योजना सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों को जरूरी वित्तपोषण सुविधा उपलब्ध कराने के लिये शुरू की गई है.

जैन ने भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI) के सूक्ष्म वित्त पर आयाजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुये कहा, ‘‘मुद्रा योजना पर हमारी नजर है. इस योजना से जहां एक तरफ देश के कई लाभार्थियों को गरीबी रेखा से ऊपर उठाने में बड़ी मदद की हो वहीं इसमें कई कर्जदारों के बीच गैर-निष्पादित राशि (NPA) के बढ़ते स्तर को लेकर कुछ चिंता भी है.’’

ये भी पढ़ें: किराए के हिसाब से भारत में सबसे महंगा यहां दुकान लेना, यहां देखें लिस्ट

पिछले दोगुना बढ़ा था सरकारी बैंकों पर मुद्रा योजना के तहत लोन-बता दें मार्च 2018 तक प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत दिए गए 7,277.31 करोड़ रुपये का लोन डिफॉल्ट हो चुका है. वित्त मंत्रालय द्वारा जारी किए गए आंकड़े के मुताबिक, ​वित्त वर्ष 2016-17 के मुकाबले वित्त वर्ष 2017-18 में मुद्रा योजना से सरकारा बैंकों का बोझ करीब दोगुना बढ़ा है. इस बारे में तत्कालीन वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने संसद में ​जानकारी दी थी.

भाषा इनपुट के साथ

ये भी पढ़ें: बच्चे के नाम पर SBI में खोलें ये खास सेविंग अकाउंट, मिलेंगे 5 बड़े फायदे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 3:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...