Home /News /business /

बैंकों में नकदी की कमी होगी पूरी! RBI ने एमएसएफ के तहत कर्ज सीमा 31 मार्च तक बढ़ाई

बैंकों में नकदी की कमी होगी पूरी! RBI ने एमएसएफ के तहत कर्ज सीमा 31 मार्च तक बढ़ाई

RBI ने बैंकों में नकदी की कमी को पूरा करने के लिये एमएसएफ के तहतइ बढ़ी हुई कर्ज सुविधा की अवधि छह महीने के लिए बढ़ा दी है.

RBI ने बैंकों में नकदी की कमी को पूरा करने के लिये एमएसएफ के तहतइ बढ़ी हुई कर्ज सुविधा की अवधि छह महीने के लिए बढ़ा दी है.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने कहा है कि बैंकों को नकदी के मामले में संतोषजनक स्थिति उपलब्ध कराने के साथ ही उनकी लिक्विडटी कवरेज रेशियो (LCR) की जरूरतों को पूरा करने के लिए एमएसएफ (MSF) के तहत कर्ज सीमा (Debt Limit) में दी गई छूट छह महीने यानी 31 मार्च, 2021 तक के लिये बढ़ाने का फैसला किया गया है.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :
    मुंबई. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने नकदी की कमी (Cash Crunch) को पूरा करने के लिये बैंकों के लिए बढ़ी हुई कर्ज सुविधा की अवधि छह महीने के लिए बढ़ा दी है. केंद्रीय बैंक ने कोरोना वायरस (Coronavirus Crisis) और लॉकडउन (Lockdown) के कारण बने मौजूदा आर्थिक संकट (Economic Crisis) के बीच यह फैसला लिया है. आरबीआई ने बैंकों में नकदी बढ़ाने को लेकर अस्थायी उपाय के तहत यह कदम उठाया है.

    एमएसएफ के बैंकों की कर्ज सीमा 2 से बढ़ाकर 3 फीसदी की
    आरबीआई के फैसले के तहत 27 मार्च, 2020 से अनुसूचित बैंकों (Scheduled Banks) के लिये मार्जिनल स्‍टैंडिंग फैसलिलिटी (MSF) के तहत कर्ज सीमा उनकी शुद्ध मांग और समय देनदारी (NDTL) के 2 फीसदी से बढ़ाकर 3 फीसदी कर दी गई है. यह सुविधा शुरू में 30 जून, 2020 तक के लिए थी, लेकिन कोविड-19 संकट (Coronavirus Crisis) को देखते हुए इसे बाद में बढ़ाकर 30 सितंबर, 2020 कर दिया गया था.

    ये भी देखें- सभी राज्‍यों में MSP पर धान की खरीद शुरू, 48 घंटे में 390 किसानों की जेब में पहुंचे 10.53 करोड़ रुपये

    एलआरसी के तहत जरूरतों को पूरा करने के लिए बढ़ाई छूट
    आरबीआई ने कहा कि बैंकों को नकदी के मामले में संतोषजनक स्थिति उपलब्ध कराने के साथ उनकी लिक्विडटी कवरेज रेशियो (LCR) की जरूरतों को पूरा करने को लेकर एमएसएफ के तहत दी गई छूट छह महीने यानी 31 मार्च, 2021 तक के लिये बढ़ाने का फैसला किया गया है. केंद्रीय बैंक ने कहा कि इससे बैंकों के पास 1.49 लाख करोड़ रुपये के अतिरिक्त फंड तक पहुंच होगी. एमएसएफ के तहत बैंक एसएलआर (SLR) में रखी गवर्नमेंट सिक्‍योरिटीज पर रिजर्व बैंक से एक दिन के लिए कर्ज ले सकते हैं. एमएसएफ पर ब्याज की दर फिलहाल 4.25 प्रतिशत है.

    Tags: Banking reforms, Banking sector reforms, Banking services, Reserve bank of india

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर