Home /News /business /

RBI ने 3 कारणों से नहीं बढ़ाईं ब्याज दरें, जानें इससे आपको क्या होगा फायदा

RBI ने 3 कारणों से नहीं बढ़ाईं ब्याज दरें, जानें इससे आपको क्या होगा फायदा

रिजर्व बैंक ने आखिरी बार दरों में बदलाव 22 मई, 2020 को किया था.

रिजर्व बैंक ने आखिरी बार दरों में बदलाव 22 मई, 2020 को किया था.

केंद्रीय बैंक ने लगातार नौवीं बार नीतिगत दर को रिकॉर्ड निचले स्तर पर कायम रखने का फैसला किया. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) का मौद्रिक नीति विवरण पर तीन प्रमुख कारकों का प्रभाव है. पहली, कमोडिटी की कीमतों में वृद्धि. दूसरी, नए कोरोनावायरस संस्करण का बढ़ता प्रसार. जानकारों के मुताबिक, रिजर्व बैंक के इस कदम से निकट भविष्य में कम ब्याज दरों का दौर जारी रहेगा और इससे घरों की बिक्री को प्रोत्साहन मिलेगा.

अधिक पढ़ें ...

    मुंबई . भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बुधवार को अनुमानों के अनुरुप ब्याज दरों में कोई परिवर्तन (Policy Rates Unchanged) नहीं किया. प्रमुख नीतिगत दर रेपो को चार प्रतिशत पर बरकरार रखा. केंद्रीय बैंक ने लगातार नौवीं बार नीतिगत दर को रिकॉर्ड निचले स्तर पर कायम रखने का फैसला किया.

    भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) का मौद्रिक नीति विवरण पर तीन प्रमुख कारकों का प्रभाव है. पहली, कमोडिटी की कीमतों में वृद्धि. दूसरी, नए कोरोनावायरस संस्करण का बढ़ता प्रसार और तीसरी वैश्विक विकास व अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में नरमी के कारण संभावित आपूर्ति-पक्ष व्यवधान. इन कारकों ने मुद्रास्फीति के दबाव को मजबूत किया है.

    उन्नत अर्थव्यवस्थाओं और उभरती बाजार अर्थव्यवस्थाओं में मुद्रास्फीति बढ़ गई है. इस वजह से कई केंद्रीय बैंकों ने सख्ती जारी रखा है और नीति सामान्यीकरण (policy normalization) को आगे बढ़ाया है.

    यह भी पढ़ें- MapMyIndia IPO: आज खुलेगा आईपीओ, Apple Maps-ISRO को सेवा देती है कंपनी, जानिए पूरा बिजनेस

    Wait and watch की रणनीति
    आरबीआई ने कोरोना के नए वैरिएंट के बढ़ते खतरे को देखते हुए नीतिगत दरों को अपरिवर्तित रखने का प्रयास किया है. अर्थव्यवस्था अभी रिकवरी मोड में है. किसी तरह के नए फैसले या रेट बढ़ाने से रिकवरी पर प्रभाव दिख सकता है. वहीं, दूसरी तरफ कोरोना के नए वैरिएंट पर अभी रिसर्च भी जारी है. इसके प्रभावों को लेकर अभी वैज्ञनिकों किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचे है. लिहाजा अनिश्चितता का माहौल दिख रहा है.

    कम ब्याज दरों का दौर जारी रहेगा
    भारतीय अर्बन के सीईओ (आवासीय) अशविंदर आर सिंह ने कहा कि रिजर्व बैंक के इस कदम से निकट भविष्य में कम ब्याज दरों का दौर जारी रहेगा और इससे घरों की बिक्री को प्रोत्साहन मिलेगा. एनारॉक के चेयरमैन अनुज पुरी ने कहा कि ब्याज दरों में बदलाव नहीं करने के केंद्रीय बैंक के फैसले से कुछ समय तक निचली ब्याज दरों के मामले में यथास्थिति कायम रखने में मदद मिलेगी.

    नाइट फ्रैंक इंडिया के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक शिशिर बैजल ने कहा कि कम ब्याज दर व्यवस्था ने पिछली छह तिमाहियों में रियल एस्टेट क्षेत्र को खड़ा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. कोलियर्स इंडिया के सीईओ रमेश नायर ने कहा कि रेपो दर में बदलाव नहीं होने से रियल एस्टेट क्षेत्र की धारणा में और सुधार होगा.

    Tags: Bank, Bank interest rate, Bank news, Business, Housing loan, RBI, RBI Governor, Rbi policy

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर