RBI का आम आदमी को तोहफा-सोने की ज्वेलरी पर मिलेगा ज्यादा लोन, बदल गया नियम

RBI का आम आदमी को तोहफा-सोने की ज्वेलरी पर मिलेगा ज्यादा लोन, बदल गया नियम
गोल्ड लोन से जुड़ी सारी जानकारी जो आपको पता होनी ही चाहिए

कोरोना के इस संकट में RBI ने आम आदमी और छोटे कारोबारियों को राहत देते हुए गोल्ड ज्वेलरी पर कर्ज की वैल्यू को बढ़ा दिया है. आइए जानें इससे कैसे होगा फायदा?

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 6, 2020, 1:35 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. RBI (Reserve Bank of India) ने आम आदमी को बड़ी राहत देते हुए गोल्ड ज्वेलरी पर कर्ज की वैल्यू (Gold to Loan Value) को बढ़ा दिया है. अब 90 फीसदी तक कर्ज मिल सकेगा. अभी तक सोने की कुल वैल्यू का 75 फीसदी ही लोन मिलता था. आप जिस बैंक या नॉन-बैकिंग फाइनेंस कंपनी में गोल्ड लोन का आवेदन करते हैं, वह पहले आपके सोने की गुणवत्ता की जांच करते हैं. सोने की गुणवत्ता के हिसाब से ही लोन की राशि तय होती है. आमतौर पर बैंक सोने के मूल्य के 75 फीसदी तक लोन दे देते हैं.

अब क्या होगा- एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोरोना के इस संकट में ये फैसला बेहद फायदेमंद होगा. क्योंकि आम आदमी और छोटे कारोबारी अपने सोने पर ज्यादा कर्ज़ ले सकेंगे.

सोने की शुद्धता के हिसाब से मिलता है लोन-गोल्ड लोन देने वाले संस्थान (NBFC या Bank) में जाएं. अपना केवाईसी डॉक्यूमेंट दें और वैल्यूएशन के लिए गोल्ड की ज्वेलरी दें.



वेल्यूएशन के बाद कंपनी आपको अधिकतम लोन अमाउंट और वर्तमान स्कीम के बारे में बताएगी. फिर आपकी दी हुई ज्वेलरी के मूल्य का 75 फीसदी तक का लोन मिल सकता है.
अगर आपको लोन अमाउंट कैश में चाहिए तो आप कैश में ले सकते हैं. या फिर अपने बैंक खाते में भी ले सकते हैं. पैसा कलेक्ट करने की रसीद अवश्य लें. ब्याज का नियमित रूप से पेमेंट करना चाहिए. मेच्योरिटी के समय बकाया राशि का भुगतान करें और अपनी ज्वेलरी को वापस लें.

गोल्ड लोन लेने वाले व्यक्ति को उसके पास रखे सोने की शुद्धता को परखने के बाद मिलता है. आमतौर पर 18 से 24 कैरेट वाले सोने पर अच्छी खासी रकम मिलती है.

गोल्ड लोन क्या है?
गोल्ड लोन एक ऐसा सुरक्षित लोन है जो आपको उधार देने वाले (बैंक या एनबीएफसी) को जमानत के तौर पर सोने के गहने गिरवी रखने पर मिल सकता है. उधार देने वाला इसके बदले आपके सोने के बाज़ार मूल्य के आधार पर आपको लोन की राशि देता है. आपकी चुनी गई समयावधि खत्म होने पर आपके लोन की राशि और ब्याज का भुगतान पूरा हो जाने के बाद आपका सोना वापस कर दिया जाता है.

आप किस तरह की ज्वेलरी गिरवी रख सकते हैं?
आप सोने के गहने गिरवी रख सकते हैं; सोने की शुद्धता तय करेगी कि आप कितना उधार ले सकते हैं. ध्यान दें कि बैंक लोन के लिए सोने का बिस्किट, सिक्के या सोने-चांदी की ईंट नहीं लेता है.

आप गोल्ड लोन कैसे ले सकते हैं?
जब आप उधार देने वाले के पास सोना ले जाते हैं, तो वो उसकी शुद्धता जांचते हैं और आपको बताते हैं कि आपको लोन में कितनी राशि उधार में मिल सकती है. आरबीआई दिशानिर्देशों के अनुसार यह राशि सोने के मूल्य का 75% तक हो सकती है. आपको प्रोसेसिंग शुल्क देना होगा जो कि बैंक की नीति के अनुसार होगा.

क्या आपका सोना उधार देने वालों के पास सुरक्षित है?
बिना लाइसेंस वाले बैंक या एनबीएफसी से आप अपने सोने के गहनों को खो जाने या बदले जाने के जोखिम में डाल सकते हैं. इसलिए यह सलाह दी जाती है कि विश्वसनीय उधार लेने वाले से गोल्ड लोन लें. क्योंकि यह वोल्ट में सुरक्षित रहता है, आपको अपने सोने की सुरक्षा की फिक्र करने की ज़रूरत नहीं है. इसलिए अपनी कीमती चीज़ों की सुरक्षा की गारंटी के साथ आप चिंतामुक्त हो सकते हैं.

VIDEO- देखिए RBI की पॉलिसी से जुड़ी सभी जरूरी बातें



आपको कौन-से दस्तावेज़ चाहिए होंगे?
एक पासपोर्ट फोटो के साथ आपको अपना कोई भी पहचान प्रमाण (पासपोर्ट, ड्राइवर का लाइसेंस, आधार कार्ड) और पते का प्रमाणपत्र (बिजली और फोन के बिल) जमा करना होगा. अगर आपके पास पैन कार्ड नहीं है, तो आप फॉर्म 60 जमा कर सकते हैं.

गोल्ड लोन कौन ले सकता है?
कोई भी जो 18 साल और उससे ज़्यादा उम्र का हो वह अपना सोना गिरवी रखकर गोल्ड लोन के लिए आवेदन कर सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज