PMC बैंक के ग्राहकों को RBI ने दी बड़ी राहत! अब मिली 1 लाख रुपये तक निकालने की छूट

आरबीआई ने पीएमसी बैाक के ग्राहकों राहत देते हुए पैसे निकालने की सीमा 1 लाख रुपये कर दी है.

आरबीआई ने पीएमसी बैाक के ग्राहकों राहत देते हुए पैसे निकालने की सीमा 1 लाख रुपये कर दी है.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBi) ने कहा है कि पंजाब एंड महाराष्‍ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) पर 22 दिसंबर 2020 तक सभी पाबंदियां लागू रहेंगी. वहीं, पैसे निकालने (Withdrawal Limit) की बढ़ाई गई सीमा के बाद 84 फीसदी ग्राहक अपनी पूरी रकम बैंक से निकाल सकते हैं.

  • Share this:
मुंबई. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने पंजाब एंड महाराष्‍ट्र को-ऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) पर अगले 6 महीने के लिए तमाम पाबंदियां (Restrictions) बढ़ा दी हैं. हालांकि, केंद्रीय बैंक ने पीएमसी बैंक के ग्राहकों को राहत देते हुए पैसे निकालने की मौजूदा सीमा (Withdrawal Limit) 50,000 रुपये को बढ़ाकर 1 लाख रुपये कर दिया है. रिजर्व बैंक ने कहा कि इस छूट के बाद करीब 84 फीसदी ग्राहक अपनी पूरी रकम बैंक से निकाल सकते हैं. आरबीआई के मुताबिक, पीएमसी पर 22 दिसबंर 2020 तक सभी पाबंदियां पहले की तरह लागू रहेंगी.

सितंबर 2019 में सामने आया था पीएमसी बैंक में फ्रॉड का मामला
आरबीआई ने कहा कि बैंक को इस स्थिति से उबारने के लिए सभी हितधारकों (Stakeholders) से बातचीत की जा रही थी, लेकिन कोविड-19 (COVID-19) और मौजूदा अनिश्चितता भरे माहौल के कारण पूरी प्रक्रिया में रुकावट पैदा हो गई है. इसके अलावा बैंक की नेट वर्थ (Net Worth) भी लगातार घटने और कर्ज की वसूली में जारी कानूनी प्रक्रिया (Legal Process) के कारण बैंक के लिए कोई प्रस्‍ताव जुटाना चुनौतीपूर्ण हो गया है. बता दें कि पीएमसी बैंक में धोखाधड़ी (Fraud) का मामला सितंबर 2019 में सामने आया था.

ये भी पढ़ें- रेहड़ी-पटरी वालों को फिर कामधंधा शुरू करने के लिए इस सरकारी स्‍कीम से मिलेगा पैसा.
एचडीआईएल के लोन को छुपाने के लिए बनाए काल्‍पनिक खाते


रिजर्व बैंक ने सितंबर 2019 में पाया कि पीएमसी बैंक ने कथित तौर पर कंगाल एचडीआईएल (Bankrupt HDIL) को दिए 4,355 करोड़ रुपये के लोन को छुपाने के लिए काल्‍पनिक खाते (Fictitious Accounts) बना रखे हैं. आरबीआई के मुताबिक, पीएमसी बैंक ने एचडीआईएल समेत 44 लोन अकाउंट को छुपाने के लिए धोखाधड़ी की है. यही नहीं, पीएमसी बैंक ने अपने कोर बैंकिंग सिस्‍टम (Core banking System) से भी छेड़छाड़ की थी. इससे इन काल्‍पनिक अकाउंट तक कुछ ही स्‍टाफ मेंबर्स की पहुंच हो सकती थी.

ये भी पढ़ें- कोरोना संकट के बीच देश का ये ई-कॉमर्स स्‍टार्टअप हजारों भारतीयों को देगा नौकरी

पीएमसी बैंक के इन सभी खाताधारकों को होगा फायदा
पीएमसी बैंक में लोगों का 11000 करोड़ रुपये जमा हैं. इस सहकारी बैंक में ज्यादातर बेहद गरीब और मध्यमवर्गीय परिवार के लोगों के खाते हैं. ऑटो चालक से लेकर टैक्सी ड्राइवर, छोटे कारोबारी, पेंशनर्स के खाते इस बैंक में हैं. ऐसे में आरबीआई की ओर से पैसे निकालने की सीमा बढ़ाए जाने से इन लोगों को काफी फायदा मिलेगा. खाताधारकों में सीनियर सिटीजन भी हैं. सीनियर सिटीजन खाताधारक काफी समय से निकासी सीमा बढ़ाने की मांग कर रहे थे. उनका कहना था कि उनके पास कमाई का कोई दूसरा जरिया नहीं है. वहीं, कोरोना संकट के कारण पैसे नहीं निकाल पाने से उनकी मुश्किलें बढ़ गई थीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज