Cryptocurrency को लेकर RBI गर्वनर शक्तिकांत दास ने कही ये बात, जान लें क्या है सरकार का प्लान

Cryptocurrency पर RBI गर्वनर शक्तिकांत दास ने उठाए गंभीर सवाल

Cryptocurrency पर RBI गर्वनर शक्तिकांत दास ने उठाए गंभीर सवाल

क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) ने चिंता व्यक्त है. आरबीआई गवर्नर ने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी एशिया की तीसरी सबसे बड़ी इकोनॉमी की वित्तीय स्थिरता को प्रभावित कर सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 2:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) को लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (Reserve Bank of India) ने चिंता व्यक्त है. आरबीआई गवर्नर ने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी एशिया की तीसरी सबसे बड़ी इकोनॉमी की वित्तीय स्थिरता को प्रभावित कर सकती है. CNBC TV18 को दिए गए इंटरव्यू में आरबीआई गवर्नर ने कहा कि इस बारे में सरकार को जानकारी दे दी गई है. इसके साथ ही आगे कहा कि मोदी सरकार देश में सभी तरह की क्रिप्टोकरेंसी को प्रतिबंधित करने और एक अधिकृत डिजिटल करेंसी लॉन्च करने की है.

2018 में लगा दी थी रोक

मनी कंट्रोल की खबर के मुताबिक, केंद्र सरकार ने साल 2018 में बैंकों और वित्तीय संस्थाओं के क्रिप्टोकरेंसी में कारोबार करने पर रोक लगा दी थी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल इस रोक को हटा दिया है. बता दें क्रिप्टोकरेंसी पर एक्सचेंजों द्वारा दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए क्रिप्टों करेंसी को हटाने पर लगी पाबंदी को हटाने का निर्देश जारी किया था.

यह भी पढ़ें: Pm Kisan योजना के दो साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री ने कही ये बात, किसानों को होगा बड़ा फायदा
इंटरव्यू में आगे आरबीआई गवर्नर ने कहा कि हम अभी इस बारे में विचार कर रहे हैं कि क्या देश में रुपए के डिजिटल वर्जन को जारी करने की जरुरत है. बता दें पिछले कुछ सालों में डिजिटल करेंसी काफी लोकप्रिय हुई है. इसके अलावा कई देशों ने अपनी डिजिटल करेंसी भी जारी की है.

किन देशों में डिजिटल एसेट के तौर पर इस्तेमाल हो रही क्रिप्टोकरेंसी?

इक्वाडोर, चीन, सिंगापुर, वेनेजुएला, ट्यूनिशिया और सेनेगल ने अपनी खुद की क्रिप्टोकरेंसी जारी कर दी है. जबकि, एस्टोनिया, जापान, फिलिस्तीन, रूस और स्वीडन जैसे देश खुद के डिजिटल एसेट्स लॉन्च करने के विकल्प तलाश रहे हैं.



ईरान ने अपने क्रिप्टोकरेंसी कानून में संशोधन किया है ताकि वहां का सेंट्रल बैंक आयात का भुगतान करने के लिए क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल कर सके. बहुत जल्द तुर्की डिजिटल नोट जारी करने वाला है. थाईलैंड में रेगुलेटर्स ने देश में बिज़नेस के लिए 13 तरह के डिजिटल क्रिप्टोकरेंसी को वैधता दी है.

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: सोना खरीदने का बना रहे प्लान, तो फटाफट कर लें खरीदारी, जानें कितना हुआ सस्ता!

क्या होता है क्रिप्टोकरेंसी?

क्रिप्टोकरेंसी सभी तरह की वर्चुअल करेंसी के लिए एक जेनेरिक नाम है. क्रिप्टोकरेंसी का एक यूनिट बेहद जटिल डिजिटल कोड होता है. इस कोड की नकल नहीं की जा सकती है. आम करेंसी की तरह क्रिप्टोकरेंसी को भी एक्सचेंज मीडियम के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है. इसे डिजिटल एसेट्स के लिए तैयार किया जाता है. आपको यह भी बता दें कि बुधवार सुबह तक बिटकॉइन रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है. दरअसल, इलेक्ट्रिक कार कंपनी टेस्ला ने दो दिन पहले ऐलान किया कि वो डिजिटल करेंसी बिटकॉइन में 1.5 अरब डॉलर का निवेश करेगी. इसके बाद बिटकॉइन का भाव तेजी से उछला है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज