RBI Governor Speech Updates: RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा- दबाव से उबरती दिख रही भारतीय इकोनॉमी

भारतीय अर्थव्यवस्था

भारतीय अर्थव्यवस्था

RBI Governor Speech Live Updates: भारतीय अर्थव्यवस्था पर शक्तिकांत दास ने कहा, ग्लोबल इकनमी में रिकवरी के संकेत हैं. भारतीय इकनॉमी भी दबाव से उबरती दिख रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना की दूसरी लहर ने उबरती भारतीय अर्थव्यवस्था को एक बार फिर प्रभावित किया है. जिसे देखते हुए सरकार ने वैक्सीनेशन की प्रकिया को और तेज कर दिया है. इसी बीच आरबीआई गर्वनर शक्तिकांत दास आज कोरोना और उससे जुड़ी स्थितियों पर प्रेस कॉन्फ्रेस कर रहे है. इस प्रेस कॉन्फ्रेस में उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर से इकोनॉमी काफी बडे़ स्तर पर प्रभावित हुई है. RBI पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए है, इस समय दूसरी लहर के खिलाफ बड़े कदम की जरुरत है. उन्होंने आगे कहा कि कोरोना की पहली लहर के बाद इकोनॉमी में रिकवरी दिखनी शुरु हुई थी लेकिन दूसरी लहर ने एक बार फिर संकट पैदा कर दिया है.

कहा- इकोनॉमी में रिकवरी के संकेत

दास का कहना है कि कोरोना की पहली लहर के बाद इकनॉमी बेहतर होने लगी थी लेकिन दूसरी लहर ने एक बार फिर संकट पैदा कर दिया है. हमें वायरस से लड़ने के लिए अपने संसाधनों का उचित प्रबंधन करना होगा. भारतीय अर्थव्यवस्था पर शक्तिकांत दास ने कहा, ग्लोबल इकनमी में रिकवरी के संकेत हैं. भारतीय इकनॉमी भी दबाव से उबरती दिख रही है. भारत के कोविड संकट से बाहर निकलने की क्षमता पर विश्वास है.

ये भी पढ़ें: RBI Governor LIVE: कोरोना के जंग में बड़ी राहत! RBI ने इमरजेंसी हेल्थ सेवा के लिए 50,000 करोड़ रुपये दिए
Youtube Video


व्यवसायों की स्थिति हो रही बेहतर

दास ने कहा कि सरकार वैक्सीनेशन प्रकिया में तेजी ला रही है. इसके अलावा आगे अच्छे मॉनसून से ग्रामीण मांग में तेजी संभव है. मैन्यफैक्चरिंग इकाइयों में भी धीमापन थमता नजर आ रहा है. ट्रैक्टर सेगमेंट में तेजी बरकरार दिख रही है हालांकि अप्रैल में ऑटो रजिस्ट्रेशन में कमी दिखी है. प्रतिबंधों के बावजूद व्यवसायों ने जीवित रहना सीख लिया है.



बनाए जाएंगे कोविड बैंक लोन

उन्होंने यह भी कहा कि 35000 करोड़ रुपये की गर्वमेंट सिक्योरिटीज की खरीद का दूसरा चरण 20 मई को शुरु किया जाएगा. इमरजेंसी हेल्थ सेवा के लिए 50,000 करोड़ रुपये आवंटित किए जाएगे. इसके अलावा प्राथमिकता वाले सेक्टरों के जल्द ही लोन और इंसेंटिव का प्रावधान किया जाएगा. इसके अलावा बैंक, कोविड बैंक लोन भी बनाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज