होम /न्यूज /व्यवसाय /RBI की लेटेस्ट मॉनिटरी पॉलिसी से आपकी मासिक किस्तों में होगा बदलाव! यहां समझें पूरी कैलकुलेशन

RBI की लेटेस्ट मॉनिटरी पॉलिसी से आपकी मासिक किस्तों में होगा बदलाव! यहां समझें पूरी कैलकुलेशन

रेपो रेट में बढ़ोतरी से होम लोन की दरें भी महंगी हो जाएंगी.

रेपो रेट में बढ़ोतरी से होम लोन की दरें भी महंगी हो जाएंगी.

RBI Repo Rate Hike: सभी बैंक ब्याज की दरें तय करने के लिए रेपो रेट को बतौर बेंचमार्क इस्तेमाल करते हैं. इसलिए अगर रेपो ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

भारतीय रिजर्व बैंक रेपो रेट में 50 बेसिस पाइंट की बढ़ोतरी की है.
अब रेपो रेट बढ़कर 5.40 से 5.90 फीसदी हो गया है.
रेपो रेट बढ़ने के बाद होम लोन समेत सभी कर्ज महंगे होंगे.

मुंबई. महंगाई से निपटने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने रेपो रेट में बढ़ोतरी कर दी है. RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने आज सुबह 10 बजे रेपो रेट में 0.50 फीसदी की वृद्धि का ऐलान किया. इसके साथ ही अब बैंक से कर्ज लेना महंगा हो जाएगा. वहीं इससे होम, कार समेत सभी लोन पर आपकी ईएमआई बढ़ जाएगी. भारतीय रिजर्व बैंक के ऐलान के बाद अब रेपो रेट बढ़कर 5.40 से बढ़कर 5.90 फीसदी हो गया है.

दरअसल सभी बैंक ब्याज की दरें तय करने के लिए रेपो रेट को बतौर बेंचमार्क इस्तेमाल करते हैं. इसलिए अगर रेपो रेट बढ़ता है तो बैंक भी लोन पर इंटरेस्ट बढ़ा देते हैं. वहीं रेपो रेट घटने पर लोन सस्ता हो जाता है. इस बार से नीतिगत दरों में वृद्धि के कारण होम लोन की दरें अब 8.55 फीसदी को पार कर जाएगी. ऐसे में लोगों के लिए घर खरीदने के लिए होम लोन महंगा हो जाएगा.

RBI Monetary Policy 2022- लगातार चौथी बार बढ़ा रेपो रेट, आज 0.50% की वृद्धि, महंगा हुआ कर्ज

कितनी बढ़ेगी होम लोन की EMI?
रेपो रेट में वृद्धि के असर को इस उदाहरण से समझते हैं. मान लीजिये राजेश नाम के शख्स ने 8 .05% फीसदी इंटरेस्ट रेट पर 20 साल के लिए 21 लाख रुपए का होम लोन लिया है. अभी राजेश के लोन की EMI 17584 रुपये होगी और पूरी लोन अवधि में उसे 42,20,210 रुपये चुकाने होंगे.

वहीं राजेश के लोन लेने के एक महीने बाद अब रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में 0.50% का इजाफा कर दिया. इसलिए बैंक ने भी ब्याज दरों में 0.50% की वृद्धि कर दी. अब मान लीजिए राजेश के फ्रेंड का दोस्त महेंद्र भी उसी बैंक से होम लोन लेता है. अब महेंद्र को बैंक 8.05%% की जगह 8.55% के इंटरेस्ट रेट लोन देता है.

ये भी पढ़ें- 1 अक्टूबर से ही लागू होगा नियम, RBI इस बार नहीं बढ़ाएगा डेडलाइन!

अब महेंद्र 21 लाख रुपए का लोन 20 वर्ष के लिए लेता है, लेकिन अब उसकी EMI 18,242 रुपए आ रही है. इस तरह राजेश की होम लोन EMI से 658 रुपए ज्यादा महेंद्र को देना पड़ेगा. इस वजह से राजेश के दोस्त को 20 सालों में कुल 43,78,102 रुपए चुकाने होंगे. ये राजेश की रकम से 157,892 रुपये ज्यादा है. वहीं ब्याज दर बढ़ने से राजेश को अपनी मौजूदा ईएमआई पर महेंद्र की तरह 658 रुपये ज्यादा चुकाने होंगे. वहीं यही कैल्कुलेशन कार व अन्य लोन पर भी होगा. यानी सभी लोन महंगे होंगे और इंटरेस्ट रेट बढ़ने से मौजूदा लोन की ईएमआई भी बढ़ेगी.

Tags: Car loan, Home loan EMI, RBI Governor, Rbi policy

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें