• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • RBI ने एक और सहकारी बैंक पर ठोका 79 लाख रुपये का जुर्माना, जानें क्‍यों लगाई Penalty

RBI ने एक और सहकारी बैंक पर ठोका 79 लाख रुपये का जुर्माना, जानें क्‍यों लगाई Penalty

RBI ने महाराष्‍ट्र के एक और सहकारी बैंक पर जुर्माना लगाया है.

RBI ने महाराष्‍ट्र के एक और सहकारी बैंक पर जुर्माना लगाया है.

मुंबई के अपना सहकारी बैंक का वैधानिक निरीक्षण (Statutory Inspection) 31 मार्च 2019 को वित्तीय स्थिति (Financial Condition) की जांच के लिए किया गया था. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने जुर्माने की कार्रवाई (Penalty) से पहले बैंक को कारण बताओ नोटिस भेजा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्‍ली. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने मुंबई के अपना सहकारी बैंक (Apna Sahakari Bank) पर 79 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. अपना सहकारी बैंक पर नॉन-परफॉर्मिंग असेट्स (NPA) वर्गीकरण समेत कुछ निर्देशों का पालन नहीं करने के कारण जुर्माने (Penalty) की कार्रवाई की गई है. आरबीआई ने कहा कि बैंक के वैधानिक निरीक्षण से पता चलता है कि उसने एनपीए कैटेगराइजेशन, मृतक के जमा के चालू खातों में मौजूद राशि पर ब्याज का भुगतान या दावों का निपटान नहीं करने और सेविंग अकाउंट पर मिनिमम बैलेंस नहीं रखने के कारण लगने वाले शुल्क जैसे नियमों का पालन नहीं किया है. इसलिए बैंक पर जुर्माना लगाया गया है.

    RBI ने बैंक को भेजा था कारण बताओ नोटिस
    अपना सहकारी बैंक का वैधानिक निरीक्षण (Statutory Inspection) 31 मार्च 2019 को उसकी वित्तीय स्थिति (Financial Condition) के लिए किया गया था. अपना सहकारी बैंक को पहले नोटिस भेजा गया था. इसमें पूछा गया था कि निर्देशों के मुताबिक पेनाल्टी क्‍यों नहीं लगाई गई. नोटिस में यह कारण बताने के लिए कहा गया था कि आरबीआई के निर्देशों के उल्लंघन के लिए उस पर जुर्माना क्यों नहीं लगाया जाना चाहिए.

    ये भी पढ़ें- 7th Pay Commission: सरकारी कर्मचारियों को इस हफ्ते मिलेगा डबल बोनस, जानें कितना बढ़कर आएगा वेतन

    बैंक के ग्राहकों पर क्‍या होगा कार्रवाई का असर
    आरबीआई ने कहा कि नोटिस पर बैंक के जवाब एडिशनल सबमिशन और व्यक्तिगत सुनवाई के दौरान मौखिक प्रस्तुतियों पर विचार करने के बाद यह जुर्माना लगाया गयाहै. हालांकि, आरबीआई ने कहा कि नियामक अनुपालन (Regulatory Compliance) में कमी के कारण जुर्माना लगाया गया है. इसका उद्देश्य अपने ग्राहकों के साथ बैंक की ओर से किए गए किसी भी लेनदेन या समझौते की वैधता को बनाए रखना है.

    ये भी पढ़ें- Gold Price Today: गोल्‍ड के भाव में उछाल, फिर भी मिल रहा 11 हजार रुपये सस्‍ता, चेक करें 10 ग्राम सोने के नए दाम

    रिजर्व बैंक ने इन पर भी लगाया है जुर्माना
    रिजर्व बैंक ने कहा कि कोलकाता की विलेज फाइनेंशियल सविर्सिज पर अपने ग्राहक को जानो (KYC) नियमों के कुछ प्रावधानों का अनुपालन नहीं करने पर 5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है. केंद्रीय बैंक ने यह भी बताया कि उसने अहमदनगर मर्चेंट को-आपरेटिव बैंक पर 13 लाख, अहमदाबाद के महिला विकास को-अपरेटिव बैंक पर दो लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन