Home /News /business /

rbi imposes monetary penalty rs 17 6 lakh on manappuram finance nodvkj

मणप्पुरम फाइनेंस को झटका, RBI ने ठोका 17.6 लाख रुपये का जुर्माना, जानिए वजह

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI)

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI)

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने रेगुलेटरी कंप्लायंस का पालन नहीं करने के लिए मणप्पुरम फाइनेंस (Manappuram Finance) पर 17.6 लाख रुपये का आर्थिक जुर्माना लगाया है.

नई दिल्ली. मणप्पुरम फाइनेंस (Manappuram Finance) को बड़ा झटका लगा है. दरअसल, भारतीय रिजर्व बैंक यानी आरबीआई (Reserve Bank of India) ने कुछ नियमों का पालन नहीं करने के लिए कंपनी पर 17.6 लाख रुपये का आर्थिक जुर्माना लगाया है. केंद्रीय बैंक ने सोमवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि यह उल्लंघन प्रीपेड पेमेंट्स इंस्ट्रूमेंट्स यानी पीपीआई (PPI) और नो योर कस्टमर यानी केवाईसी (KYC) से जुड़े नियमों के उल्लंघन को लेकर लगाया गया है.

आरबीआई ने कहा, “पेमेंट एंड सेटलमेंट सिस्टम्स एक्ट, 2007 के सेक्शन 30 के तहत आरबीआई को मिली शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए यह जुर्माना लगाया गया है. यह कार्रवाई रेगुलेटरी कंप्लायंस में कमियों पर आधारित है और इसका इरादा कंपनी के ग्राहकों के साथ किए गए किसी भी लेनदेन या समझौते की वैधता पर राय रखना नहीं है.”

ये भी पढ़ें- 1 रुपये का सिक्का लेने से मना करे दुकानदार तो क्या करेंगे आप? क्या है RBI की गाइडलाइन

केंद्रीय बैंक की ओर से जारी बयान में बताया गया, “यह देखा गया कि संस्था KYC और PPI को लेकर आरबीआई की तरफ से जारी निर्देशों का पालन नहीं कर रही थी. इसी को देखते हुए संस्था को कारण बताओ नोटिस जारी करके पूछा गया कि आखिर उस पर नियमों का उल्लंघन करने को लेकर जुर्माना क्यों नहीं लगाया जाए.”

मणप्पुरम फाइनेंस अगले वित्त वर्ष में जुटाएगी 7,800 करोड़ रुपये
हाल ही में मणप्पुरम फाइनेंस ने कहा था कि उसके निदेशक मंडल ने अगले वित्त वर्ष में 7,800 करोड़ रुपये का वित्त जुटाने के प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी है. कंपनी ने शेयर बाजार को दी गई सूचना में कहा था कि निदेशक मंडल की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई. इसके मुताबिक,नॉन-कनवर्टिबल डिबेंचर के जरिये 7,800 करोड़ रुपये की राशि जटाई जाएगी.

Tags: Business news in hindi, RBI, Reserve bank of india

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर