लाइव टीवी

दीवान हाउसिंग होगी नीलाम! RBI ने DHFL के खिलाफ शुरू की दिवालिया प्रक्रिया

News18Hindi
Updated: November 30, 2019, 3:32 PM IST
दीवान हाउसिंग होगी नीलाम! RBI ने DHFL के खिलाफ शुरू की दिवालिया प्रक्रिया
DHFL पर दिवालिया प्रक्रिया शुरू करेगा RBI

नए कानून के नोटिफाई किए जाने के बाद RBI ने​ दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (DHFL) के खिलाफ दिवालिाया प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दे दिया है. इसके लिए तीन सदस्यों की सलाहकार समिति भी आर सुब्रमण्यम कुमार की मदद करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2019, 3:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) ने दिवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड (DHFL) के खिलाफ कॉरपोरेट इन्सॉल्वेंसी प्रक्रिया (Insolvency Process) शुरू करने के लिए एप्लीकेशन दे दिया है. यह पहला ऐसा मामला है जब किसी वित्तीय कंपनी के खिलाफ इन्सॉल्वेंसी प्रक्रिया शुरू की जाएगी. RBI की तरफ से यह कदम इस माह में वित्तीय कंपनियों (Financial Companies) के खिलाफ दिवालिया प्रक्रिया शुरू करने को लेकर बनाए गए नियम के बाद उठाया गया है.

क्या होगा RBI के इस कदम से तत्काल असर-RBI के इस कदम के बाद सबसे पहला असर होगा कि किसी अन्य संस्थान द्वारा दायर किए गए मुकदमे पर 'अंतरिम रोक' लग जाएगी. इसमें किसी भी कोर्ट, ट्रि​ब्यूनल, या आर्बिट्रेशन पैनल या प्राधिकरण का फैसला भी शामिल होगा.

ये भी पढ़ें: GDP आंकड़े लुढ़कने के बाद भी वित्त मंत्री को उम्मीद, मोदी सरकार के कदम से 5 ट्रिलियन डॉलर का सपना होगा पूरा


बॉम्बे हाई कोर्ट के फैसले पर स्थिति साफ नहीं -इसके पहले म्यूचुअल फंड द्वारा दायर किए गए एक याचिका में बॉम्बे हाई कोर्ट (Bombay High Court) ने DHFL द्वारा किसी भी पेमेंट पर रोक लगा दिया है. हालांकि, बाद में हाई कोर्ट ने अपने फैसले में बदलाव करते हुए DHFL को बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों को पेमेंट को मंजूरी दी थी. अभी तक यह नहीं साफ है कि 'अंतरिम रोक' इसपर भी लागू होगा की नहीं.

15 नवंबर को सरकार ने नया नियम नोटिफाई किया था -DHFL अब अपनी कोई संपत्ति नहीं बेच सकेगी. कोई जांच एजेंसी भी DHFL की कोई संपत्ति जब्त नहीं कर सकती है. बीते 15 नवंबर को सरकार ने इन्सॉलवेंसी एंड बैंकरप्सी कोड (IB - Insolvency and Bankruptcy COde) के सेक्शन 227 को लेकर नोटिफाई किया था, जिसमें कहा गया था कि बैंकों के अलावा कोई भी वित्ती एजेंसी, जिसकी कुल संपत्ति 500 करोड़ रुपये से अधिक है, उसे आरबीआई दिवालिय प्रक्रिया शुरू करने के लिए एप्लीकेशन दे सकता है.

ये भी पढ़ें: प्याज की कीमतें 120 रुपये के पार! सस्ता करने के लिए सरकार जल्द देगी 300 करोड़ रुपये
Loading...


RBI ने कंपनी को बोर्ड उपर जाकर आर सुब्रमण्यम कुमार (R Subramaniam Kumar) को प्रशासक के तौर पर नियुक्त किया है. आर सुब्रमण्यम कुमार इंडियन ओवरसीज बैंक (Indian Overseas Bank) के CEO रह चुके हैं.

3 सदस्यों की सलाहकार समिति पर दिवालिया प्रक्रिया में मदद करेगी-22 नवंबर को, आरबीआई ने 3 सदस्यीय सलाहकार समिति भी बनाया था, जिसमें IDFC बैंक के नॉन-एग्जीक्युटिव चेयरमैन राजीव लाल, ICICI प्रुडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस के प्रबंध निदेशक एन एस कन्नन और म्यूचुअल फंड बॉडी Amfi के प्रमुख एग्जीक्युटिव एन एस वेंकटेश शामिल हैं. दिवालिया प्रक्रिया के समय यह पैनल प्रशासक आर सुब्रमण्यम कुमार की मदद करेगा.

ये भी पढ़ें: PM-किसान सम्मान निधि योजना: आज जरूर लिंक करवा लें अपना आधार वरना नहीं मिलेंगे 6000 रुपए!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 2:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...