100 रुपये का नया नोट, न कटेगा-न फटेगा, सोमवार को होगा ऐलान!

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, सोमवार को होने वाली रिजर्व बैंक बोर्ड की बैठक में वार्निश पेंट चढ़ा हुई सौ रुपए के नोट जारी करने के प्रस्ताव को मंजूरी मिल सकती है. RBI Bank Note Rs 100

News18Hindi
Updated: November 17, 2018, 7:43 PM IST
News18Hindi
Updated: November 17, 2018, 7:43 PM IST
(लक्ष्मण रॉय)


अभी आप सौ रुपए (100 रुपये) के इस नए नोट को पाकर खुश हो रहे हैं होंगे औऱ संभालकर रखने का मन करता होगा. लेकिन जल्द ही एक और नया नोट सौ रुपए का आपके पास पहुंचने वाला है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, सोमवार को होने वाली रिजर्व बैंक बोर्ड की बैठक में वार्निश पेंट चढ़ा हुई सौ रुपए के नोट जारी करने के प्रस्ताव को मंजूरी मिल सकती है. अगर रिजर्व बैंक बोर्ड की बैठक में प्रस्ताव को मंजूरी मिलती है तो शुरू में इसे ट्रायल के तौर पर बाजार में लाया जाएगा.

खास बात ये होगी कि उस नए नोट को ज्यादा संभालकर रखने की जरूरत नहीं होगी. क्योंकि वो नया नोट ना तो जल्दी कटेगा फटेगा, और ना ही पानी में जल्द गलेगा. क्योंकि इसपर वार्निश पेंट चढ़ा होगा. जी हां, वही वार्निश पेंट जो हम लकड़ी या लोहे के पेंट करते वक्त इस्तेमाल करते हैं.

ये भी पढ़ें-RBI द्वारा लिए जाने वाले फैसले में बड़ी भागीदारी चाहती है सरकार

क्या होगा नोट में खास
>> नोट का साइज बिल्कुल सौ रुपए के नए नोट के बराबर होगा.
Loading...

>> गांधी सीरीज का नोट होगा.
>> उसकी डिजाइन भी बिल्कुल मौजूदा नए नोट की तरह होगी.
>> लेकिन वार्निश वाला ये नया नोट, मौजूदा नोट के मुकाबले करीब दोगुना टिकाऊ होगा
>> अभी सौ रुपए का नोट औसतन करीब ढ़ाई से साढ़े तीन साल तक चलता है, लेकिन वार्निश चढ़े नोट की उम्र करीब दोगुना हो जाएगी. यानी करीब 7 साल तक टिका रहेगा.



ये भी पढ़ें-RBI और सरकार के बीच टकराव खत्म! अब कई मुद्दों पर सहमति के आसार

नोट की छपाई पर खर्च
>> अभी के सौ रुपए के एक हजार नोट की छपाई में करीब 1570 रुपए खर्च आता है.
>> वार्निश नोट की छपाई में करीब 20 परसेंट ज्यादा खर्च आएगा.
>> पानी हो या केमिकल उससे नोट खराब नहीं होगा.
>>  मौजूदा नोट के मुकाबले पानी या केमिकल से वार्निश वाले नोट के खराब होने का खतरा 170 परसेंट कम होगा.
>> वार्निश चढ़ा होने की वजह से बार बार ज्यादा मोड़ना आसान नहीं होगा लेकिन नोट को बार बार मोड़ने से फटने का खतरा भी मौजूदा नोट के मुकाबले करीब 20 परसेंट कम होगा.

 

(पॉलिटिकल इकोनॉमिक एडिटर, सीएनबीसी आवाज़)

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर