होम /न्यूज /व्यवसाय /

RBI ने 0.50% रेपो रेट बढ़ाया, आपके होम और कार लोन की ईएमआई कितनी बढ़ जाएगी, यहां समझिए कैलकुलेशन

RBI ने 0.50% रेपो रेट बढ़ाया, आपके होम और कार लोन की ईएमआई कितनी बढ़ जाएगी, यहां समझिए कैलकुलेशन

आज की बढ़ोतरी के साथ ब्याज दरें अगस्त 2019 के लेवल पर पहुंच गई है.

आज की बढ़ोतरी के साथ ब्याज दरें अगस्त 2019 के लेवल पर पहुंच गई है.

रिजर्व बैंक के रेपो रेट हाइक का चौतरफा असर होता है.सबसे बड़ा असर ये होता है कि उसके होम लोन सहित दूसरे लोन की ईएमआई बढ़ जाती है. यहां हम एक्सपर्ट्स से समझेंगे कि रेपो रेट बढ़ने से हमारी लोन की ईएमआई कितनी बढ़ जाएगी. 

हाइलाइट्स

रिजर्व बैंक के 0.50% रेपो रेट इजाफा से रेपो रेट 4.90% से बढ़कर 5.40% हो गया है.
रेपो रेट बढ़ने के बाद होम लोन से लेकर ऑटो और पर्सनल लोन तक महंगा होगा.
आज की बढ़ोतरी के साथ ब्याज दरें अगस्त 2019 के लेवल पर पहुंच गई है.

नई दिल्ली. रिजर्व बैंक ने आज शुक्रवार को अपनी बैठक के बाद रेपो रेट में 0.50 फीसदी की बढ़ोतरी की है. रेपो रेट में बढ़ोतरी से आम आदमी कई तरह से प्रभावित होता. सबसे बड़ा असर ये होता है कि उसके होम लोन सहित दूसरे लोन की ईएमआई बढ़ जाती है. वहीं, एफडी जमा पर मिलने वाला ब्याज भी बढ़ जाता है. यहां हम एक्सपर्ट्स से समझेंगे कि रेपो रेट बढ़ने से हमारी लोन की ईएमआई कितनी बढ़ जाएगी.

महंगाई नियंत्रित करने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक के 0.50% रेपो रेट इजाफा से रेपो रेट 4.90% से बढ़कर 5.40% हो गया है. इसका मतलब अब होम लोन से लेकर ऑटो और पर्सनल लोन तक महंगा होगा. आपकी ईएमआई बढ़ जाएगी. आज की बढ़ोतरी के साथ ब्याज दरें अगस्त 2019 के लेवल पर पहुंच गई है.

यह भी पढ़ें- RBI Monetary Policy: रिजर्व बैंक ने कहा- महंगाई अब कम हो रहीहै, चौथी तिमाही में लिमिट के नीचे आ जाएगी

कितनी बढ़ेगी ईएमआई
आइए इस रेपो रेट बढ़ोतरी के असर को उदाहरण से समझते हैं. मान लीजिए संदीप नाम के एक व्यक्ति ने 7.55% के रेट पर 20 साल के लिए 30 लाख रुपए का हाउस लोन लिया है. अभी संदीप के लोन की EMI 24,260 रुपए आती है. 20 साल में उसे इस दर से 28,22,304 रुपए का ब्याज देना होगा. यानी, उसे 30 लाख के बदले कुल 58,22,304 रुपए चुकाने होंगे.

संदीप के लोन लेने के एक महीने बाद रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में 0.50% का इजाफा कर दिया. अब इसके परिणामस्वरूप बैंक भी 0.50% ब्याज दर बढ़ा देंगे. अब मान लीजिए संदीप का एक दोस्त सौरभ उसी बैंक से होम लोन लेता है. अब सौरभ को बैंक 7.55% की जगह 8.05% रेट ऑफ इंटरेस्ट बताता है.

यह भी पढ़ें- RBI Monetary Policy : आरबीआई ने महंगा कर दिया आपका कार और होम लोन, फिर भी कैसे घटा सकते हैं ईएमआई का बोझ?

30 लाख रुपए का लोन 20 साल के लिए
सौरभ भी 30 लाख रुपए का ही लोन 20 साल के लिए लेता है, लेकिन उसकी EMI 25,187 रुपए आ रही है. इस तरह संदीप की EMI से 927 रुपए ज्यादा सौरभ को देना पड़ेगा. इस वजह से संदीप के दोस्त को 20 सालों में कुल 60,44,793 रुपए चुकाने होंगे. ये संदीप की रकम से 2,22,489 ज्यादा है. इस तरह अब संदीप को भी सौरभ की तरह हर महीने 927 रुपए ज्यादा देने पड़ेंगे. अगर यही लोन आप 20 लाख रुपए का लेते हैं और 20 साल के लिए ही तो आपकी हर महीने की ईएमआई 618 रुपए बढ़ेगी.

Tags: Home loan EMI, RBI, Rbi policy, Shaktikanta Das

अगली ख़बर