होम /न्यूज /व्यवसाय /RBI Monetary Policy: वित्त वर्ष 23 में GDP ग्रोथ रहेगी 7.2 फीसदी, रिजर्व बैंक का अनुमान

RBI Monetary Policy: वित्त वर्ष 23 में GDP ग्रोथ रहेगी 7.2 फीसदी, रिजर्व बैंक का अनुमान

आरबीआई ने आज ही रेपो रेट में 50 आधार अंकों की बढ़ोतरी करते हुए इसे 4.90 फीसदी कर दिया है.

आरबीआई ने आज ही रेपो रेट में 50 आधार अंकों की बढ़ोतरी करते हुए इसे 4.90 फीसदी कर दिया है.

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने वित्त वर्ष 2023 में भारत की जीडीपी ग्रोथ (FY23 GDP Growth Rate) 7.2 फीसदी रहने का अनुमान जत ...अधिक पढ़ें

नई दिल्‍ली. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने अनुमान जताया है कि वित्त वर्ष 2023 में भारत की जीडीपी ग्रोथ (FY23 GDP Growth Rate) 7.2 फीसदी रह सकती है. आरबीआई गर्वनर शक्तिकांत दास ने आज मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी की बैठक के बाद हुई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह जानकारी दी. आरबीआई ने आज ही रेपो रेट में 50 आधार अंकों की बढ़ोतरी करते हुए इसे 4.90 फीसदी कर दिया है.

रिजर्व बैंक के गर्वनर शक्तिकांत दास (RBI Governor Shaktikanta Das) ने कहा कि रिजर्व बैंक का अनुमान है कि देश की जीडीपी ग्रोथ वित्त वर्ष 2023 में 7.2 फीसदी रहेगी. दास ने कहा कि अप्रैल-जून के दौरान भारत की जीडीपी ग्रोथ 16.2 फीसदी, जुलाई-सितंबर तिमाही में जीडीपी ग्रोथ के 6.2 फीसदी रहने का अनुमान है. इसी तरह अक्‍टूबर-दिसंबर तिमाही में यह 4.1 फीसदी रह सकती है. वित्त वर्ष 2023 की अंतिम तिमाही में देश की जीडीपी ग्रोथ के 4.0 फीसदी रहने का अनुमान रिजर्व बैंक ने लगाया है.

ये भी पढ़ें- RBI Policy: राहत की उम्‍मीद नहीं, इस वित्त वर्ष में 7.5 फीसदी रह सकती है खुदरा महंगाई

सामान्‍य मानसून से बढ़ेगा कृषि उत्‍पादन
आरबीआई गर्वनर ने कहा कि इस साल मानसून के सामान्‍य रहने का अनुमान लगाया जा रहा है. इससे खरीफ फसलों की बुआई में इजाफा होगा और इससे कृषि उत्‍पादन ज्‍यादा होने की संभावना है. उन्‍होंने कहा कि आगे उपभोक्‍ता और घरेलू मांग में इजाफा होने की संभावना है. शक्तिकांत दास ने कहा कि भू-राजनीतिक टेंशन, कमोडिटी के भावों में बढ़ोतरी, इनपुट कॉस्‍ट में इजाफा और वैश्विक अर्थव्‍यवस्‍था के सुस्‍त होने से लगातार भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था पर भी दबाव बना रहेगा.

ये भी पढ़ें- रिजर्व बैंक ने रेपो रेट .50% की बढ़ोतरी के साथ किया 4.90%, महंगा हुआ लोन, बढ़ेगा EMI का बोझ

विश्‍व बैंक के अनुमान से कम
भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा भारत के जीडीपी ग्रोथ का अनुमान विश्व बैंक (The World Bank) द्वारा जताए गए अनुमान से कम है. मंगलवार को विश्‍व बैंक ने वित्त वर्ष 2023 के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान घटाकर 7.5 फीसदी कर दिया है. वर्ल्ड बैंक ने अपने पिछले अनुमान में 1.2 फीसदी की कटौती की है. इससे पहले इसी संस्था ने भारत की ग्रोथ का अनुमान 8.7 फीसदी लगाया था.

वर्तमान में बढ़ती महंगाई, सप्लाई चेन में आ रही बाधाएं और भू-राजनीतिक तनावों के चलते विश्व बैंक ने कटौती की गई है. वर्ल्ड बैंक का अनुमान है कि वित्त वर्ष 2024 में भी भारत की ग्रोथ 7.1 फीसदी की दर से हो सकती है. हालांकि यह बैंक के पिछले अनुमान 6.8 फीसदी से 30 बेसिस पॉइन्ट्स अधिक है. वित्त वर्ष 2025 के लिए विश्‍व बैंक ने भारत की GDP ग्रोथ के 6.5 फीसदी रहने का अनुमान लगाया गया है.

Tags: GDP growth, India GDP, Rbi policy

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें