अगर पत्नी को दिया हुआ है अपना ATM कार्ड, तो हो सकता है बड़ा नुकसान! जानें RBI के क्या हैं नियम

File Photo

File Photo

डेबिट कार्ड (ATM कार्ड) नॉन ट्रांसफरेबल होता है, ऐसे में किसी फैमिली मेंबर को भी यह इस्तेमाल के लिए नहीं दिया जा सकता.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2019, 8:21 AM IST
  • Share this:
एक महिला अपने पति का एटीएम (डेबिट कार्ड) लेकर पैसे निकालने गई. एटीएम से 25,000 रुपये का कैश नहीं निकला और पैसे अकाउंट से कट गए. ऐसे में मामले में अक्सर बैंक 7-8 दिन में पैसा अकाउंट में वापस ट्रांसफर कर देता है, लेकिन इस मामले में SBI ने रिफंड करने से इनकार कर दिया. मामला कंज्यूमर फोरम पहुंचा तो उसमें भी ग्राहक को ही दोषी ठहराया गया है. आइए जानें ऐसे मामलों में क्या कहते हैं नियम...

(ये भी पढ़ें-बच्चों के आधार कार्ड इतने साल के बाद हो जाते है बेकार, जानिए इससे जुड़े सभी काम की बातें)

क्या है नियम


भारतीय स्टेट बैंक का इस मामले पर कहना था कि डेबिट कार्ड (ATM कार्ड) नॉन ट्रांसफरेबल होता है, ऐसे में किसी फैमिली मेंबर को भी यह इस्तेमाल के लिए नहीं दिया जा सकता. इस नियम का हवाला देते हुए एसबीआई ने महिला के अकाउंट में 25,000 रुपये रिफंड करने से इनकार कर दिया, जो बिना राशि निकले ही कट गए थे. एसबीआई का कहना था कि महिला ने प्राइवेसी और सुरक्षा नियम का उल्लंघन किया, इसलिए उसका दावा नहीं बनता.
ये भी पढ़ें- SBI ने अपने कस्टमर्स को बताए ये नये 4 टिप्स, हमेशा सुरक्षित रहेगा पैसा



कभी न करें ये काम

कार्ड पर अपना पिन नंबर कभी न लिखें. हमेशा उसे याद रखें.
>> अनजान लोगों से एटीएम ट्रांजैक्शन में मदद न लें या फिर किसी अन्य को ट्रांजैक्शन के लिए कार्ड न दें.
>> किसी भी शख्स को अपना एटीएम पिन न बताएं। यहां तक कि बैंक कर्मचारी और फैमिली मेंबर्स को भी यह जानकारी न दें.
>> पेमेंट के दौरान कार्ड पर पूरी नजर रखें और उसे नजरों से ओझल न होने दें.
>> ट्रांजैक्शन के दौरान मोबाइल फोन पर बात करने से बचें.

ये भी पढ़ें- Paytm Money की नई स्कीम में 100 रुपये से करें शुरुआत, ये है पूरा प्रोसेस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज