RBI के रेपो रेट कटौती नहीं करने का बावजूद, इस सरकारी बैंक ने सस्ता किया लोन, इतने फीसदी घटाई ब्याज

RBI के रेपो रेट कटौती नहीं करने का बावजूद, इस सरकारी बैंक ने सस्ता किया लोन, इतने फीसदी घटाई ब्याज
RBI के रेपो रेट कटौती नहीं करने का बावजूद, इस सरकारी बैंक ने सस्ता किया लोन

RBI (Reserve Bank of India) ने आज रीपो रेट में कोई राहत नहीं देने का फैसला किया है. लेकिन इसके बावजूद सार्वजनिक क्षेत्र के इस बैंक ने गुरुवार को विभिन्न अवधि के लिए MCLR में 0.30 फीसदी तक की कटौती की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. RBI (Reserve Bank of India) ने आज रीपो रेट में कोई राहत नहीं देने का फैसला किया है. लेकिन इसके बावजूद सार्वजनिक क्षेत्र के केनरा बैंक (Canara Bank) ने गुरुवार को विभिन्न अवधि के लिए अपने कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (MCLR) में 0.30 फीसदी तक की कटौती की. केनरा बैंक ने शेयर बाजार को बताया कि एक दिन और एक महीने की उधारी दरों में 0.20 फीसदी की कमी कर इसे सात फीसदी कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें:- SBI की चेतावनी! बैंक के नाम पर चल रहा है Fake Job Selection, ऐसे बचें आप

तीन महीने के MCLR में 0.30 फीसदी की कटौती
तीन महीने के एमसीएलआर को 7.45 फीसदी से घटाकर 7.15 फीसदी कर दिया गया है. बैंक ने बताया कि छह महीने के एमसीएलआर को 7.50 फीसदी से घटाकर 7.40 फीसदी कर दिया गया है. एक साल के लिये एमसीएलआर को 7.55 फीसदी से कम करके 7.45 फीसदी कर दिया गया है. केनरा बैंक ने कहा कि संशोधित उधारी दरें सात अगस्त से लागू होंगी.
ये भी पढ़ें:- Aadhaar Card में पता, नाम जैसी जानकारी बदलवाने के लिए अब अपनाना होगा तरीका



रीपो रेट में नहीं हुआ बदलाव
एमसीएलआर में कमी से कर्जदारों का बोझ कम होगा. भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने गुरुवार को मौद्रिक नीति की समीक्षा में ब्याज दरों को अपरिवर्तित रखा, लेकिन साथ ही कहा कि कोविड-19 संकट के मद्देनजर भविष्य में जरूरत पड़ी तो वह दरों में कटौती के लिए नरम रुख अपनाएगा. गवर्नर शक्तिकांत दास ने केंद्रीय बैंक की मौद्रिक नीति समिति के फैसलों की घोषणा करते हुए कहा कि रीपो दर को चार फीसदी पर बरकरार रखा गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज