• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • GDP बढ़ने के साथ अधिक छापने होंगे नोट- RBI

GDP बढ़ने के साथ अधिक छापने होंगे नोट- RBI

RBI के अधिकारी ने कहा कि GDP की वृद्धि दर बढ़ने के बाद अब प्रणाली में अधिक मुद्रा की जरूरत है.

RBI के अधिकारी ने कहा कि GDP की वृद्धि दर बढ़ने के बाद अब प्रणाली में अधिक मुद्रा की जरूरत है.

RBI के अधिकारी ने कहा कि GDP की वृद्धि दर बढ़ने के बाद अब प्रणाली में अधिक मुद्रा की जरूरत है.

  • Share this:
    देश के ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट (GDP) का आकार मात्रा के लिहाज से बढ़ रहा है, ऐसे में अर्थव्यवस्था में अधिक मुद्रा की जरूरत होगी. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के एक अधिकारी ने यह बात कही. नवंबर, 2016 में सरकार ने 500 और 1000 के बड़े नोट बंद किए थे. उसके बाद प्रणाली में नकदी कम हो गई थी.

    अधिकारी ने कहा कि GDP की वृद्धि दर बढ़ने के बाद अब प्रणाली में अधिक मुद्रा की जरूरत है. नोटबंदी के बाद रिजर्व बैंक ने 500 का नया नोट जारी किया था. इसके साथ ही 2000 का नोट भी पेश किया गया था. (ये भी पढ़ें: करोड़पति बनने का बड़ा मौका, इस मॉल में शौपिंग करने पर मिलेगा 11 करोड़ का जैकपोट!)

    जाली नोटों में आई कमी
    केंद्रीय बैंक के अधिकारी ने कहा कि प्रणाली में जाली नोटों में काफी कमी आई है. जो भी जाली नोट अभी प्रणाली में हैं वे काफी हल्के-फुल्के रूप में हैं.

    नोट होंगे और अधिक सुरक्षित
    अधिकारी ने बताया कि बैंक घरेलू मुद्रा में अधिक सुरक्षा उपायों को जारी करेगा. इसके लिए पात्रता पूर्व का निविदा नोटिस निकाला गया है.

    ये भी पढ़ें: RBI ने इस बैंक पर लगाया 1 करोड़ का जुर्माना, कहीं आपका तो नहीं है इसमें अकाउंट

    NBFC के लिए निक्युक्त होंगे बैंकिंग लोकपाल
    गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों के बारे में एक अन्य अधिकारी ने कहा कि रिजर्व बैंक जमा लेने वाली एनबीएफसी के लिए बैंकिंग लोकपाल नियुक्त करेगा. इसके साथ ही डिजिटल लोकपाल भी होगा.

    अधिकारी ने कहा कि केंद्रीय बैंक वित्तीय समावेशन के लिए राष्ट्रीय रणनीति पर काम कर रहा है. रिजर्व बैंक ने सूक्ष्म, लघु और मझोले उपक्रमों (एमएसएमई) के लिए एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया है, जिससे उन्हें बैंक लोन बिना किसी परेशानी के मिल सके.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज