• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • YES BANK में अकाउंट रखने वाले ये लोग हो जाएं निश्चिंत! नहीं होगा 50,000 ​की लिमिट का असर

YES BANK में अकाउंट रखने वाले ये लोग हो जाएं निश्चिंत! नहीं होगा 50,000 ​की लिमिट का असर

यस बैंक

यस बैंक

यस बैंक (Yes Bank) पर RBI ने सरकार से बात करने के बाद वित्तीय प्रतिबंध लगा दिया है. इसके बाद डिपॉजिटर्स अगले एक महीने के दौरान 50 हजार रुपये से अधिक रकम नहीं निकाल सकते हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. प्राइवेट सेक्टर के यस बैंक (Yes Bank) पर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने वित्तीय प्रतिबंध लगा दिया है. सरकार से विचार विमर्श करने के बाद आरबीआई ने ये फैसला लिया. अगले 1 महीने तक यस बैंक से कोई भी अकाउंटहोल्डर 50 हजार रुपये से ज्यादा पैसा नहीं निकाल सकता है. आरबीआई की यह प्रतिबंध 3 अप्रैल 2020 तक लागू होगा.

    RBI के इस फैसले के बाद किसी भी बचत या चालू खाता से 50,000 रुपये से अधिक की निकासी नहीं किया जा सकता है. एक सरकारी नोटिफिकेशन में इस संबंध में जानकारी दी गई है. हालांकि, इस नोटिफिकेशन में यह भी कहा गया है कि कुछ विशेष परिस्थितियों में 50 हजार रुपये से अधिक की निकासी किया जा सकता है.

    यह भी पढ़ें: कोरोना से भारत को लगेगा इतने करोड़ का झटका, जानें किस देश को होगा कितना नुकसान

    आरबीआई ने यस बैंक के डिपॉजिटर्स (Depositors) को इस बात के लिए सुनिश्चित किया है कि जो भी फैसला लिया जाएगा, वो उनके हित को ध्यान में रखते हुए लिया जाएगा. इसके लिए उन्हें पैनिक होने की कोई बात नहीं है. बैंकिंग रेग्युलेशन को ध्यान में रखते हुए यस बैंक को लेकर अगले कुछ दिनों में उचित फैसला लिया जाएगा.

    केंद्र सरकार से विचार विमर्श के बाद RBI ने बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को भंग कर दिया है. साथ ही अगले 30 दिनों के लिए बैंक की कमान SBI के पूर्व CFO प्रशांत कुमार को दिया है. आरबीआई ने कहा कि यस बैंक की वित्तीय स्थित बेहद खराब है.

    यह भी पढ़ें: बैंक यूनियन ने फिर किया हड़ताल का ऐलान! मार्च के अंत में 3 दिन बंद रहेंगे Bank

    इन स्थितियों में 50 हजार रुपये से अधिक विड्रॉल की छूट

    नोटिफिकेशन में दी गई जानकारी के मुताबिक, कुछ विशेष परिस्थितियों में अकाउंटहोल्डर्स अपने खाते से 50,000 रुपये से अधिक रकम विड्रॉ कर सकते हैं. आइए जानते हैं कि किन परिस्थितियों में 50 हजार रुपये से अधिक की निकासी की जा सकती है.

    1. अगर जमाकर्ता या वास्तविक रूप से उस पर आश्रित किसी व्यक्ति के लिए मेडिकल खर्च करना हो.

    2. जमाकर्ता या वास्तविक रूप से उस पर आश्रित किसी व्यक्ति के भारत या भारत के बाहर एजुकेशन पर खर्च करना हो.

    3. जमाकर्ता या उसके बच्चे या वास्तविक रूप से उस पर ​आश्रित किसी अन्य व्यक्ति की शादी या अन्य समारोह के उपलक्ष्य में 50 हजार रुपये से अधिक की निकासी की जा सकती है.

    वित्तीय संकट से जूझ रहा यस बैंक
    यस बैंक को करीब 15 साल पहले शुरू किया गया था. वर्तमान में इस बैंक पर दोहरी मार पड़ते दिखाई दे रही है. एक तरफ बैंक पर कर्ज का बढ़ता जा रहा है, वहीं शेयरों में लगातार गिरावट देखने को मिल रहा है. बैंक की बदहाली का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि 15 महीनों के अंदर निवेशकों को 90 फीसदी तक का घाटा हो चुका है. सितंबर 2018 में यस बैंक का कुल मार्केट कैपिटलाइजेशन 90 हजार करोड़ रुपये था, जोकि अब घटकर 9 हजार करोड़ रुपये ही रह गया है.

    यह भी पढ़ें: जॉब करने वालों और पेंशनर्स के लिए EPFO की नई सर्विस शुरू, यहां जानें सबकुछ

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज