रिजर्व बैंक ने Mastercard पर लगाया बैन, 22 जुलाई से नए कार्ड जारी करने पर लगाई रोक

डेटा लोकलाइजेशन के नियमों के तहत कंपनी को भारतीय ग्राहकों के डेटा देश में ही रखने की जरूरत है.

आरबीआई (RBI) ने मास्‍टरकार्ड को 22 जुलाई, 2021 से अपने कार्ड नेटवर्क में नए घरेलू ग्राहकों को शामिल करने पर बैन लगा दिया है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक यानी आरबीआई (Reserve Bank of India) ने बैंकों की ओर नए डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और प्रीपेड कार्ड जारी करने को लेकर बुधवार को बड़ा फैसला लिया है. दरअसल, आरबीआई (RBI) ने बुधवार को मास्‍टरकार्ड एशिया/पैसिफिक पीटीई लिमिटेड (मास्टरकार्ड) के खिलाफ कार्रवाई करते हुए कड़े कदम उठाए हैं. केंद्रीय बैंक ने मास्‍टरकार्ड (Mastercard) को 22 जुलाई, 2021 से अपने कार्ड नेटवर्क में नए घरेलू ग्राहकों को शामिल करने पर बैन लगा दिया है.

    आरबीआई ने यह कार्रवाई पेमेंट सिस्‍टम डाटा के स्‍थानीय स्‍टोरेज के नियमों का पालन न करने पर की है. बैंक ने कहा कि अत्‍यधिक समय और पर्याप्‍त अवसर देने के बावजूद मास्‍टरकार्ड ने पेमेंट सिस्‍टम डाटा के स्‍थानीय स्‍टोरेज को लेकर जारी गाइडलाइंस का पूरी तरह से पालन नहीं किया है.

    रिजर्व बैंक ने मास्‍टरकार्ड से कहा है कि वह सभी कार्ड जारीकर्ता बैंक और गैर-बैंक संस्‍थाओं को इस आदेश के बारे में सूचित करेगा. आरबीआई ने मास्‍टरकार्ड के खिलाफ यह सुपरवाइजरी कार्रवाई पेमेंट एंड सेटलमेंट सिस्‍टम एक्‍ट, 2007 की धारा 17 के तहत की है.

    ये भी पढ़ें- WPI Inflation: थोक मुद्रास्फीति जून में घटकर हुई 12.07 प्रतिशत, खाद्य पदार्थों, कच्चे तेल की कीमतों में नरमी

    मौजूदा मास्‍टरकार्ड ग्राहकों पर कोई असर नहीं 
    हालांकि आरबीआई ने कहा है‍ कि उसके इस आदेश का मौजूदा कार्ड ग्राहकों पर कोई असर नहीं होगा. बता दें कि मास्‍टरकार्ड को पीएसएस एक्‍ट के तहत देश में कार्ड नेटवर्क का संचालन करने के लिए पेमेंट सिस्‍टम ऑपरेटर के तौर पर मंजूरी दी गई है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.