स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक को लगा झटका, RBI ने लगाया 2 करोड़ रुपये का जुर्माना

भारतीय रिजर्व बैंक

भारतीय रिजर्व बैंक

स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक (Standard Chartered Bank) पर आर्थिक जुर्माना भारतीय रिजर्व बैंक दिशानिर्देश 2016 (Reserve Bank of India Directions 2016) के कुछ निर्देशों का पालन नहीं करने के चलते लगाया गया.

  • Last Updated: January 21, 2021, 10:31 PM IST
  • Share this:
मुंबई. भारतीय रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) ने धोखाधड़ी के बारे में उसे बताने में देरी के लिए स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक (Standard Chartered Bank) पर दो करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है. स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक पर आर्थिक जुर्माना 'भारतीय रिजर्व बैंक (धोखाधड़ी – वाणिज्यिक बैंकों और चुनिंदा वित्तीय संस्थानों द्वारा वर्गीकरण और सूचित करना) दिशानिर्देश 2016' (Reserve Bank of India Directions 2016) के कुछ निर्देशों का पालन नहीं करने के चलते लगाया गया.

आरबीआई ने एक बयान में कहा, ''आरबीआई को धोखाधड़ी के बारे में बताने में देरी के लिए जुर्माना लगाया गया है, जिसका पता 31 मार्च 2018 और 31 मार्च 2019 को बैंक के सांविधिक निरीक्षण (Statutory Inspection) के दौरान चला.'' इससे पहले स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक को एक नोटिस जारी कर पूछा गया कि उन पर जुर्माना क्यों न लगाया जाए, जिसके बाद यह कार्रवाई की गई.

ये भी पढ़ें- Budget 2021: टैक्सपेयर्स को झटका दे सकती हैं वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण, टैक्‍स स्लैब में बदलाव की उमीद नहीं

मुत्थूट फाइनेंस पर RBI ने लगाया था 10 लाख रुपये का जुर्माना
हाल ही में आरबीआई ने कहा था कि उसने एर्नाकुलम स्थित मुत्थूट फाइनेंस पर 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. यह जुर्माना सोने के बदले कर्ज मामले में 5 लाख रुपये से अधिक के कर्ज को लेकर ऋण-मूल्य अनुपात (Loan to Value Ratio) और कर्जदार के पैन कार्ड की कॉपी लेने को लेकर जारी दिशानिर्देशा का अनुपालन नहीं करने को लेकर लगाया गया था.

ये भी पढ़ें- SBI में है खाता तो फटाफट अपडेट करा दें Pan Card की डिटेल्स, नहीं तो इस ट्रांजेक्शन में हो सकती है परेशानी

PNB पर लगा था 1 करोड़ का जुर्माना



हाल ही में आरबीआई ने भुगतान एवं निपटान प्रणाली कानून के उल्लंघन को लेकर पंजाब नेशनल बैंक पर एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था. शेयर बाजारों को भेजी सूचना में पीएनबी ने यह जानकारी दी थी. सूचना में कहा गया था, ''रिजर्व बैंक ने पाया कि बैंक, ड्रक पीएनबी बैंक लि. भूटान (बैंक की अंतरराष्ट्रीय अनुषंगी) के साथ एक द्विपक्षीय साझा एटीएम व्यवस्था का परिचालन कर रहा है, जबकि उसने इसके लिए केंद्रीय बैंक की अनुमति नहीं ली है.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज