Home /News /business /

rbi tightens bolt on loan recovery agents appointed by banks nbfcs and others nodvkj

रिकवरी एजेंट के गलत व्यवहार पर RBI सख्त, नोटिफिकेशन जारी, बैंकों से कही ये बात

आरबीआई समय-समय पर कर्ज वसूली से संबंधित मुद्दों पर गाइडलाइंस जारी करता रहा है.

आरबीआई समय-समय पर कर्ज वसूली से संबंधित मुद्दों पर गाइडलाइंस जारी करता रहा है.

RBI News: भारतीय रिजर्व बैंक ने लोन रिकवरी एजेंट्स (Loan Recovery Agents) के लिए नियमों को सख्त बना दिया है. केंद्रीय बैंक ने साफ कहा है कि आपत्तिजनक मैसेज भेजने, सोशल मीडिया पर बदनामी करने की घटना को भी बैंक, एबीएफसी और अन्य संस्थान रोकें.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

RBI ने लोन रिकवरी एजेंट्स के लिए नियमों को सख्त बनाया
सुबह 8 बजे से पहले और शाम 7 बजे बाद फोन नहीं कर सकते
लोन वसूलने के लिए गाली-गलौच और अभद्र व्यवहार नहीं कर पाएंगे रिकवरी एजेंट

नई दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने लोन रिकवरी एजेंट्स (Loan Recovery Agents) के लिए नियमों को सख्त बना दिया है. आरबीआई ने बकाया कर्ज की वसूली करने वाले एजेंटों के लिए शुक्रवार को नए निर्देश जारी करते हुए कहा कि वे सुबह 8 बजे के पहले और शाम 7 बजे के बाद कर्जदारों को कॉल नहीं कर सकते हैं. आरबीआई ने इस आशय की एक नोटिफिकेशन  जारी करते हुए कहा कि बैंक,  नॉन बैंक फाइनेंशियल कंपनीज (NBFC) और एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनीज (ARC) यह सुनिश्चित करें कि कर्ज वसूली संबंधी उसके निर्देशों का ठीक से पालन किया जाए.

ग्राहकों को प्रताड़ित करने की घटना रोकें
आरबीआई ने कहा, “सलाह दी जाती है कि रेगुलेटेड एंटिटीज सख्ती से यह सुनिश्चित करेंगी कि वे या उनके एजेंट बकाया कर्जों की वसूली के दौरान कर्जदारों को किसी भी तरह से प्रताड़ित या उकसाने से परहेज करें.” इसके अलावा आरबीआई ने कर्जदारों को किसी भी तरह का अनुचित संदेश भेजने, धमकी भरा या अनजान नंबर से फोन करने से भी परहेज करने को कहा है. आरबीआई के मुताबिक, वसूली एजेंट कर्जदारों को सुबह 8 बजे के पहले और शाम 7 बजे के बाद कॉल भी नहीं कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- RBI Monetary Policy: रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा की 15 मुख्य बातें, विस्तार से पढ़िए

कर्ज वसूली से संबंधित मुद्दों पर गाइडलाइंस जारी करता रहा है RBI
आरबीआई समय-समय पर कर्ज वसूली से संबंधित मुद्दों पर गाइडलाइंस जारी करता रहा है. उसने पहले भी कहा था कि रेगुलेटेड एंटिटीज कर्जदारों को परेशान या प्रताड़ित न करें. लेकिन हाल के समय में वसूली एजेंटों की तरफ से की जा रही अनुचित गतिविधियों को देखते हुए आरबीआई ने नया गाइडलाइंस जारी किया है.

केंद्रीय बैंक ने कहा है कि ये गाइडलाइंस सभी कमर्शियल बैंकों, सहकारी बैंकों, एनबीएफसी, एआरसी और अखिल भारतीय वित्तीय संस्थानों पर लागू होंगे.

Tags: Bank, Loan, RBI, Reserve bank of india

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर