अब आ रहा है 100 रुपये का स्पेशल नोट, जानिए इसकी खासियत के बारे में...

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) अब 100 रुपये का स्पेशल नोट लाने जा रहा है. इस नोट में कई खासियत होंगी. 100 रुपये का नया नोट वार्निश वाला होगा.

News18Hindi
Updated: August 30, 2019, 10:59 AM IST
अब आ रहा है 100 रुपये का स्पेशल नोट, जानिए इसकी खासियत के बारे में...
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) अब 100 रुपये का स्पेशल नोट लाने जा रहा है. इस नोट में कई खासियत होंगी. 100 रुपये का नया नोट वार्निश वाला होगा.
News18Hindi
Updated: August 30, 2019, 10:59 AM IST
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) अब 100 रुपये का स्पेशल नोट लाने जा रहा है. इस नोट में कई खासियत होंगी. 100 रुपये का नया नोट वार्निश वाला होगा. यह मौजूदा नोट के मुकाबले दोगुना टिकाऊ होगा.अभी सौ रुपए का नोट औसतन करीब ढ़ाई से साढ़े तीन साल तक चलता है, लेकिन वार्निश चढ़े नोट की उम्र करीब दोगुना हो जाएगी यानी करीब 7 साल तक टिका रहेगा. इन्हें पहले ट्रायल के आधार पर जारी किया जाएगा. खास लेयर चढ़े नोट की उम्र लंबी होती है यानी ये जल्दी फटेंगे नहीं. आपको बता दें कि RBI की सालाना रिपोर्ट में इसकी जानकारी मिली है.

नोट की खासियत- नए नोट को ज्यादा संभालकर रखने की जरूरत नहीं होगी. क्योंकि वो नया नोट ना तो जल्दी कटेगा फटेगा, और ना ही पानी में जल्दी गलेगा. क्योंकि इस पर वार्निश पेंट चढ़ा होगा. जी हां, वही वार्निश पेंट जो हम लकड़ी या लोहे के पेंट करते वक्त इस्तेमाल करते हैं.

नोट की छपाई पर खर्च
>> अभी के सौ रुपए के एक हजार नोट की छपाई में करीब 1570 रुपए खर्च आता है.

>> वार्निश नोट की छपाई में करीब 20 परसेंट ज्यादा खर्च आएगा.
>> पानी हो या केमिकल उससे नोट खराब नहीं होगा.
>> मौजूदा नोट के मुकाबले पानी या केमिकल से वार्निश वाले नोट के खराब होने का खतरा 170 परसेंट कम होगा.
Loading...

>> वार्निश चढ़ा होने की वजह से बार बार ज्यादा मोड़ना आसान नहीं होगा लेकिन नोट को बार बार मोड़ने से फटने का खतरा भी मौजूदा नोट के मुकाबले करीब 20 परसेंट कम होगा.

>>  वार्निश नोट का दुनिया के कई देशों में इस्तेमाल हो रहा है. इसके अच्छे अनुभव को देखते हुए रिजर्व बैंक ने देश में इसे आजमाने का फैसला किया है.

>> फिलहाल इसकी शुरुआत 100 रुपये के नोटों से होगी.

क्यों उठाया जा रहा है ये कदम
>> मौजूदा नोट जल्दी खराब हो जाते हैं. ये जल्दी कट-फट जाते हैं या मैले हो जाते हैं. रिजर्व बैंक को हर साल लाखों करोड़ रुपये के गंदे या कटे-फटे नोट रीप्लेस करने पड़ते हैं.

>> आमतौर पर हर पांच में से एक नोट हर साल हटाना पड़ता है.

>> इन पर एक बड़ी राशि खर्च होती है. इस समस्या से निजात पाने के लिए दुनिया के कई देश प्लास्टिक नोटों का इस्तेमाल करते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 10:26 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...