RBL बैंक को लगा बड़ा झटका! मुनाफा 73 फीसदी गिरा, कुछ मिनटों में डूबे 1500 करोड़

प्राइवेट सेक्टर बैंक RBL के डूबे कर्ज़ बढ़ने से मुनाफा 73 फीसदी घट गया है.
प्राइवेट सेक्टर बैंक RBL के डूबे कर्ज़ बढ़ने से मुनाफा 73 फीसदी घट गया है.

RBL बैंक का शेयर सुबह बाजार खुलते ही 10 फीसदी से ज्यादा टूट गया. इससे कुछ ही मिनटों में निवेशकों के 1500 करोड़ रुपये स्वाहा हो गए है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2019, 1:14 PM IST
  • Share this:
मुंबई. देश के बैंकिंग सेक्टर (Indian Banking Sector) में इन दिनों कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है. प्राइवेट सेक्टर बैंक RBL के डूबे कर्ज़ बढ़ने से मुनाफा 73 फीसदी घट गया है. मौजूदा वित्त वर्ष के जुलाई-सितंबर तिमाही में बैंक के NPA (Non Performing Assets) यानी डूबा कर्ज 138 फीसदी बढ़कर 1539 करोड़ रुपये हो गए है. इसी का असर आज बैंक के शेयर पर भी देखने को मिल रहा है. RBL का शेयर सुबह बाजार खुलते ही 10 फीसदी से ज्यादा टूट गया. इससे कुछ ही मिनटों में निवेशकों के 1500 करोड़ रुपये स्वाहा हो गए है. इस पर एक्सपर्ट्स और बड़े ब्रोकरेज हाउस फिलहाल शेयर में नए निवेश से बचने की सलाह दे रहे हैं.

RBL के शेयर में भारी गिरावट- BSE पर RBL का शेयर 12 फीसदी से ज्यादा लुढ़क गया है. बैंक के शेयर में ये अब तक की रिकॉर्ड गिरावट है. इस गिरावट में बैंक की मार्केट कैप 12,373 करोड़ रुपये से गिरकर 10,888 करोड़ रुपये पर आ गई है. इससे निवेशकों के 1500 करोड़ रुपये डूब गए है.

ये भी पढ़ें-दिल्ली के इस सहकारी बैंक में खाताधारकों के जमा ₹600 करोड़ पर मंडराया संकट! बैंक प्रमुख पर कसा शिकंजा
 RBL बैंक का मुनाफा क्यों गिरा- बैंक के एनपीए बढ़ने से मुनाफा गिर गया है. RBL का दूसरी तिमाही यानी जुलाई-सितंबर में मुनाफा 73 फीसदी गिरकर 54 करोड़ रुपये पर आ गया है. हालांकि, कंपनी की नेट इंटरेस्ट इनकम 593 करोड़ रुपये से बढ़कर 869 करोड़ रुपये हो गई है.






अब क्या करें निवेशक- एस्कोर्ट सिक्योरिटी के रिसर्च हेड आसिफ इकबाल ने न्यूज18 हिंदी को बताया है कि शेयर में गिरावट बैंक के एनपीए बढ़ने की वजह से आई है. छोटे निवेशकों को फिलहाल शेयर से दूरी बनानी चाहिए. वहीं, ब्रोकरेज हाइस मॉर्गन स्टैनली ने शेयर के प्राइस का लक्ष्य 400 रुपये से घटाकर 240 रुपये कर दिया है. इसके अलावा जेपी मॉर्गन ने लक्ष्य 330 रुपये से घटाकर 280 रुपये कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज