अर्थव्यवस्था रिकवर होने में लगेंगे इतने दिन, जानें मॉगर्न स्टेनली ने रिपोर्ट में और क्या कहा

अर्थव्यवस्था रिकवर होने में लगेंगे इतने दिन, जानें मॉगर्न स्टेनली ने रिपोर्ट में और क्या कहा
वैश्विक अर्थव्यवस्था पर मॉर्गन स्टेनली ने एक रिपोर्ट जारी की है.

मॉर्गन स्टेनली (Morgan Stanley) ने अपनी एक रिपोर्ट में संकेत दिया है कि बहुत जल्द वैश्विक अर्थव्यवस्था प्री-कोविड के स्तर पर पहुंच जाएगी. हालांकि, उन्होंने यह भी बताया कि आर्थिक रिकवरी कई अहम बिंदुओं पर भी निर्भर करेगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. मॉगर्न स्टेनली (Morgan Stanley) ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था (Global Economy) विस्तार के नई साइकिल के दौर से गुजर रही है और चौ​थी तिमाही तक यह कोरोना काल के पहले के स्तर पर पहुंच जाएगी. मॉगर्न स्टेनली के अर्थशा​स्त्री चेतन आह्या ने कहा, 'V आकार वाले आर्थिक रिकवरी पर हमें ज्यादा भरोसा है. हम यह इसलिए कह पा रहे हैं क्योंकि हाल के दिनों में ग्रोथ डेटा कुछ ऐसा ही दर्शा रहे हैं. नीतियों के मोर्चे पर जरूरी फैसले लिये गये हैं.'

तेज पर छोटी मंदी का अनुमान लगाते हुए उन्होंने कहा कि दूसरी तिमाही साल—दर—साल के आधार पर वैश्विक अर्थव्यवस्था -8.6 फीसदी के स्तर पर रहेगी और फिर 2021 की पहली तिमाही में यह 3 फीसदी के स्तर तक पहुंच जाएगी. स्टेनली की रिपोर्ट में कहा गया,

1. असंतुलन की वजह से बिगड़ी यह स्थिति ऐसी नहीं है कि लंबे समय तक चलेगी.



2. संपत्ति बेचकर कर्ज से निजात पाने का दबाव मध्यम स्तर पर होगा.
3. नीतिगत सपोर्ट कई मायनों में जरूरी और पर्याप्त रहा है. इससे अर्थव्यवस्था को बूस्ट करने और रिकवरी दिलाने में मदद मिलेगी.

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस वैक्सीन पर बिल गेट्स का बड़ा दावा, महज इतने दिन में मिलेगी सफलता

कोरोना और वैक्सीन पर निर्भर करेगा सरकार के फैसलों का लाभ
रिपोर्ट में कहा गया कि सरकारी की तरफ से उठाए जाने वाले कदमों का दौर अभी भी जारी रहेगा. दुनियाभर के वित्त मंत्रालय और केंद्रीय बैंक अपी अर्थव्यव्यवस्थाओं में पर्याप्त पैसा डाल रहे हैं. उनके प्रयास का असर इस बात पर नि​र्भर करता है कि आने वाले दिनों में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति क्या रहती है और कितनी जल्दी वैक्सीन मिलता है.

चेतन ने इस रिपोर्ट में लिखा, 'हम यह मानकर चल रहे हैं कोरोना वायरस का दूसर वेव शरद ऋतु के समय में यानी सितंबर से नवंबर के करीब होगा. लेकिन यह प्रबंधन योग्य होगा. कुछ जगहों हल्के—फुल्के लॉकडाउन की स्थिति भी आ सकती है.' उन्होंने इस दौरान यह भी उल्लेख किया कि 2021 की गर्मियों तक वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी.

हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि अगर हम हालात को दूसरे परिदृश्य से देखें तो यह भी हो सकता है कि महामारी और भी खतरनाक रूप ले लेगी और सख्त लॉकडाउन की स्थिति पैदा होगी. अगर ऐसा होता है तो अर्थव्यवस्था में बड़ी गिरावट देखने को मिलेगी.

यह भी पढ़ें: Atmanirbhart मिशन को कामयाब बनाने के लिए, इन सरकारी कंपनियों ने किया ये बदलाव

अनिश्चितता बरकरार
उल्लेखनीय है कि मॉगर्न स्टेनली का यह अनुमान अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष समेत अन्य संस्थाओं व एजेंसियों के उलट है. पिछले सप्ताह ही इनका कहना था कि वैश्विक अर्थव्यवस्था अनुमान की तुलना में बेहद सुस्ती से रिकवर कर रही है और इसे लेकर बड़ी अनिश्चितता जारी है.

हाल के दिनों में बीजिंग में बढ़ते कोरोना वायरस के मामले ने इस बात का डर पैदा कर दिया है कि चीन में यह महामारी एक बार फिर भयावह रूप ले सकती है. चीन दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और बढ़ते मामलों से रिकवरी और भी सुस्त पड़ सकती है.

चीनी न्यूज एजेंसी सिन्हुआ ने हाल ही के अपनी एक रिपोर्ट में सरकार अधिकारियों के हवाले से कहा है कि बीजिंग में बड़े स्तर पर कोरोना वायरस के मामले सामने आने की संभावन बनी हुई है.

यह भी पढ़ें: सिलिकॉन वैली भी है इस बाबा की भक्त! स्टीव जॉब्स और जकरबर्ग कर चुके हैं दर्शन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading