Post Office की स्कीम में लगाएं पैसा, रोजाना 100 रुपए के निवेश से बनाएं 5 लाख

Post Office की स्कीम में लगाएं पैसा, रोजाना 100 रुपए के निवेश से बनाएं 5 लाख
जानें RD में कैसे जुड़ता है कंपाउंडिंग ब्याज

एफडी में जहां आपको किसी भी स्कीम में एक मुश्त पैसा लगाना पड़ता है. आरडी में आप एसआईपी की तरह अलग अलग इंस्टालमेंट में मंथली बेसिस पर निवेश कर सकते हैं. इसमें आपके खाते में ब्याज तिमाही आधार पर कंपाउंडिंग होकर जुड़ती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 17, 2020, 11:10 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पोस्ट ऑफिस रिकरिंग डिपॉजिट (Post Office Recurring Deposit) अकाउंट छोटी-छोटी किस्तों में जमा, अच्छी ब्याज दर और सरकारी गारंटी वाली स्कीम है. यह स्कीम मार्केट लिंक्ड नहीं होने से निवेशकों के लिहाज से गारंटेड रिटर्न देने वाली मानी जाती है. यहां आरडी पर 5.8 फीसदी के बीच ब्याज मिल रहा है. पोस्ट ऑफिस में रिकरिंग डिपॉजिट का अकाउंट पांच सालों के लिए खोला जाता है. आरडी भी एफडी की ही तरह फाइनेंशियल इन्वेस्टमेंट आप्शन है, लेकिन यहां निवेश को लेकर सहूलियत ज्यादा है. एफडी में जहां आपको किसी भी स्कीम में एक मुश्त पैसा लगाना पड़ता है. आरडी में आप एसआईपी की तरह अलग अलग इंस्टालमेंट में मंथली बेसिस पर निवेश कर सकते हैं. इसमें आपके खाते में ब्याज तिमाही आधार पर कंपाउंडिंग होकर जुड़ती है.

इन बातों का ध्यान रखें
आरडी पर ब्याल कंपांउंडिंग के हिसाब से जुड़ता है. इसका मतलब हुआ कि जितना ज्यादा टेन्योर होगा, उसी हिसाब से फायदा बढ़ता जाएगा. इसलिए आरडी करते समय लांग टर्म का गोल रखना चाहिए. डाकघर की आरडी पर ब्याज 5.8 फीसदी है. जबकि कई बैंकों में इससे कम ब्याज मिल रहा है. इस आरडी स्कीम में आप मिनिमम 100 रुपए पहर महीने निवेश कर सकते हैं. इससे ज्यादा 10 के मल्टीपल में आप कोई भी रकम जमा करा सकते हैं. मैक्सिमम जमा राशि की कोई लिमिट नहीं है. दस के मल्टीपल में कितनी भी बड़ी रकम आरडी खाते में जमा की जा सकती है.

ये भी पढ़ें- सोने के गहने खरीदने की है तैयारी तो ठहर जाइए, इस नियम को लेकर हो सकता है बड़ा फैसला
5 लाख के फंड के लिए


डाकघर में अभी आरडी पर ब्याज 5.8 फीसदी सालाना तिमाही कंपाउंडिंग है. पोस्ट ऑफिस में आरडी में जमा पैसों पर ब्याज कैलकुलेश हर तिमाही (सालाना रेट पर) होती है और इसे हर तिमाही के आखिर में आपके अकाउंट में जोड़ दिया जाता है. इस लिहाज से 5 लाख का फंड बनाने के लिए 10 साल तक हर महीने 3000 रुपए का निवेश करना होगा. यह तब है कि जब आगे भी ब्याज दर 5.8 फीसदी ही रहे. यहां आपको कुल 3.60 लाख के निवेश पर 1.40 लाख रुपए का अतिरिक्त ब्याज मिलेगा.

कोई भी व्यक्ति अपने नाम ​चाहे जितने आरडी खाते खुलवा सकता है. अधिकतम खाता संख्या को लेकर भी कोई पाबंदी नहीं है. हां, यह ध्यान रहे खाता सिर्फ व्यक्तिगत रूप से खुलवाया जा सकता है, परिवार (HUF) या संस्था के नाम पर नहीं. दो वयस्क व्यक्ति एक साथ मिलकर ज्वाइंट आरडी अकाउंट भी खुलवा सकते हैं.

ये भी पढ़ें- कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच जेफ बेजोस ने कैसे कमाए 3 लाख करोड़ रुपये?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज